IIT मंडी ने कोविड -19 वायरस में प्रमुख प्रोटीन संरचना का खुलासा किया

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, मंडी के शोधकर्ताओं द्वारा COVID-19 वायरस में एक प्रमुख प्रोटीन की संरचना का खुलासा किया गया है।

IIT मंडी हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले में स्थित है।

यह अध्ययन कैसे महत्वपूर्ण है?

  • कोविड-19 प्रोटीन संरचना काम करने के तरीके और कोविड-19 रोग के प्रसार और गंभीरता में इसकी भूमिका को समझने में मदद करेगी।यह एंटीवायरल थैरेप्यूटिक्स के विकास में भी मदद करेगी।
  • इसके अलावा, वर्तमान COVID-19 उपचार केवल लक्षणों का प्रबंधन करते हैं जबकि शरीर अपनी प्रतिरक्षा रक्षा प्रणाली के साथ संक्रमण से लड़ता है।अभी तक इस बात की पुष्टि नहीं हुई है कि क्या एंटीवायरल दवाएं वायरस को दोहराने से रोक सकती हैं। इस वायरस को बेअसर करने का एक तरीका इसके प्रोटीन पर हमला करना है। इस प्रकार, यह अध्ययन न्यूट्रलाइजिंग एजेंटों को विकसित करने में मदद करेगा।

वायरस की संरचना

इस वायरस में 16 गैर-संरचनात्मक प्रोटीन (NSP1-NSP16) शामिल हैं। उनमें से, NSP1 रोगजनकता में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। NSP1 मेजबान सेल के प्रोटीन को बाधित करता है और प्रतिरक्षा कार्यों को दबा देता है। NSP1 को ‘host shutoff factor’ भी कहा जाता है।

किस वायरस के कारण कोविड-19 होता है?

गंभीर तीव्र श्वसन सिंड्रोम कोरोनावायरस (Severe acute respiratory syndrome coronavirus) 2 या SARS-CoV-2 वायरस COVID-19 का कारण बनता है। इसे कोरोनावायरस भी कहते हैं। जनवरी 2020 में विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा कोविड-19 को Public Health Emergency of International Concern घोषित किया गया था, बाद में मार्च 2020 में इसे महामारी घोषित किया गया। कोविड-19 पैदा करने वाला वायरस, SARS‑CoV‑2, एक सिंगल-स्ट्रैंडेड आरएनए वायरस है। यह SARS-CoV-1 का उत्तराधिकारी है, जिसके कारण 2002-2004 SARS का प्रकोप हुआ था। इसकी उत्पत्ति जूनोटिक है और यह आनुवंशिक रूप से बैट कोरोनावायरस के समान है।

Categories:

Tags: , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments