Imaging X–Ray Polarimetry Explorer (IXPE Mission) क्या है?

Imaging X–Ray Polarimetry Explorer को IXPE कहा जाता है। यह नासा की अंतरिक्ष वेधशाला है। इसमें तीन समान टेलिस्कोप हैं जो ब्रह्मांडीय एक्स-किरणों के ध्रुवीकरण को मापती हैं।

IXPE मिशन

  • यह मिशन खगोलीय पिंडों का अध्ययन करता है।
  • यह न्यूट्रॉन सितारों, ब्लैक होल, पल्सर, मैग्नेटर्स, सुपरनोवाल अवशेष, क्वासर और सक्रिय परमाणु गांगेय नाभिक (active nuclear galactic nuclei) के चुंबकीय क्षेत्रों को मैप करता है।
  • यह पहला उपग्रह मिशन है जो विभिन्न ब्रह्मांडीय स्रोतों से एक्स-रे के ध्रुवीकरण को मापने के लिए समर्पित है।
  • IXPE मिशन को NASA के स्मॉल एक्सप्लोरर प्रोग्राम द्वारा विकसित किया गया था। इस मिशन की लागत 188 मिलियन अमरीकी डालर है।
  • इस मिशन का मुख्य लक्ष्य उच्च-ऊर्जा खगोलभौतिकीय प्रक्रियाओं और उनके स्रोतों को समझना है। 

IXPE मिशन के विज्ञान उद्देश्य क्या हैं?

  • विशिष्ट ब्रह्मांडीय एक्स-रे स्रोतों की विकिरण प्रक्रियाओं को निर्धारित करना।
  • चरम वातावरण में सामान्य सापेक्षतावादी और क्वांटम प्रभावों का पता लगाना।

IXPE मिशन द्वारा अध्ययन

यह मिशन निम्नलिखित का अध्ययन करेगा:

  • पल्सर: पल्सर घूमने वाले तारे हैं। वे अपने चुंबकीय ध्रुवों से विद्युत चुम्बकीय विकिरण उत्सर्जित करते हैं।
  • सक्रिय गांगेय नाभिक: यह आकाशगंगा के केंद्र में एक सघन क्षेत्र है। इसके विद्युत चुम्बकीय स्पेक्ट्रम के कुछ हिस्से में इसकी सामान्य चमक से अधिक है। उन्हें रेडियो, इन्फ्रारेड, माइक्रोवेव, ऑप्टिकल, एक्स-रे और गामा रे वेवबैंड में देखा जा सकता है।
  • एक्स-रे बायनेरिज़: एक्स-रे बायनेरिज़ बाइनरी स्टार हैं जो एक्स-रे में चमकदार होते हैं। 
  • सुपरनोवा अवशेष: वे संरचना हैं जो सुपरनोवा में एक तारे के विस्फोट से बनती हैं। 
  • पल्सर पवन नीहारिकाएं: यह एक प्रकार की नीहारिका है जो सुपरनोवा अवशेष के अंदर पाई जाती है।
  • गेलेक्टिक सेंटर: यह मिल्की वे गैलेक्सी का घूर्णन केंद्र है।

मिशन में टेलीस्कोप

इस मिशन में तीन टेलीस्कोप हैं। वे INAFINAF (Instituto Nazionale di AstroFisica) और INFN (Instituto Nazionale di Fiscial Nuclere) द्वारा डिजाइन किए गए हैं। वे ब्रह्मांडीय एक्स-रे के ध्रुवीकरण को मापने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं।

लॉन्च 

मिशन को 9 दिसंबर, 2021 को स्पेसएक्स फाल्कन 9 लॉन्च व्हीकल पर लॉन्च किया जायेगा। इसे नासा के कैनेडी स्पेस सेंटर से लॉन्च किया जायेगा।

Categories:

Tags: , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments