Innovations for Defence Excellence (iDEX) क्या है?

रक्षा मंत्रालय के तहत आने वाले रक्षा उत्पादन विभाग ने ‘Innovations for Defence Excellence (iDEX)’ नामक एक केंद्रीय क्षेत्र की योजना के लिए अपनी मंजूरी दे दी है। और इसके लिए 2021-22 से वर्ष 2025-26 तक अगले 5 वर्षों के लिए 498.80 करोड़ बजटीय सहायता प्रदान की गई है।

मुख्य बिंदु

  • इस योजना का प्राथमिक उद्देश्य रक्षा नवाचार संगठन (Defence Innovation Organisation) के माध्यम से लगभग 300 MSMEs, स्टार्ट-अप और व्यक्तिगत इनोवेटर्स के साथ-साथ लगभग 20 पार्टनर इन्क्यूबेटरों को वित्तीय सहायता प्रदान करना है।

Support for Prototype and Research Kickstart (SPARK) के लिए सहायता अनुदान प्राप्त करने के लिए मानदंड

iDEX के तहत प्रोटोटाइप और रिसर्च किकस्टार्ट (SPARK) के लिए सहायता अनुदान प्राप्त करने के लिए, कुछ पात्रता मानदंडों का पालन करना होगा। यह वे स्टार्ट-अप हैं जिन्हें औद्योगिक नीति संवर्धन विभाग (DIPP) द्वारा मान्यता दी गई है और परिभाषित किया गया है। कोई भी भारतीय कंपनी जिसे कंपनी अधिनियम, सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम (MSME) के तहत शामिल किया गया है, जिसे MSME अधिनियम, 2006 में परिभाषित किया गया है, इसके लिए आवेदन कर सकती है। इसके आलवा व्यक्तिगत इनोवेटर्स (अनुसंधान और शैक्षणिक संस्थानों) को भी आवेदन करने के लिए प्रोत्साहित किया जायेगा।

इनक्यूबेटर के लिए मानदंड

iDEX पार्टनर इन्क्यूबेटर के रूप में अनुदान प्राप्त करने के लिए, कुछ पात्रता मानदंडों का पालन करना होगा। आवेदक को भारत में निजी, सार्वजनिक या पीपीपी मोड में कानूनी इकाई के रूप में पंजीकृत होना चाहिए। उन्हें भारत सरकार के मंत्रालय से अनुदान या स्थापना समर्थन प्राप्त होना चाहिए था इनक्यूबेटर कम से कम 3 वर्षों के लिए संचालन में होना चाहिए और न्यूनतम 25 स्टार्ट-अप का समर्थन करने का अनुभव होना चाहिए। 

Categories:

Tags: , , , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments