LIC की आरंभिक सार्वजनिक पेशकश (IPO) : मुख्य बिंदु

भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) द्वारा भारत की अब तक की सबसे बड़ी आरंभिक सार्वजनिक पेशकश (IPO) है। यह सभी प्रस्तावित श्रेणियों के तहत पूरी तरह से बुक किया गया है।

कितने प्रतिशत शेयर बिक रहे हैं?

LIC के IPO से केंद्र सरकार को 21,000 करोड़ रुपये जुटाने में मदद मिली क्योंकि सरकार ने LIC में 3.5% हिस्सेदारी बेच दी है।

सब्सक्रिप्शन

इस IPO का आकार 16.2 करोड़ इक्विटी शेयरों का है लेकिन 47.77 करोड़ इक्विटी शेयरों के लिए बोलियां प्राप्त हुई हैं। इसका श्रेणी-वार सब्सक्रिप्शन इस प्रकार से है:

  • पॉलिसीधारक – इस हिस्से को आवंटित कोटा का 6.11 गुना सब्सक्राइब किया गया है।
  • कर्मचारी – इस हिस्से को आवंटित कोटे का 4.39 गुना सब्सक्रिप्शन मिला है।
  • खुदरा निवेशक – इस हिस्से को आवंटित कोटा का 1.99 गुना सब्सक्रिप्शन मिला है।
  • क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल बायर्स – इस हिस्से को आवंटित कोटे का 2.83 गुना सब्सक्राइब किया गया है।
  • गैर-संस्थागत निवेशक – इस हिस्से को आवंटित कोटा का 2.91 गुना सब्सक्रिप्शन मिला है।

बोलीदाताओं को शेयर कब आवंटित किए जाएंगे?

12 मई को इस IPO के बोलीदाताओं को शेयरों का आवंटन किया जाएगा। 17 मई, 2022 को इसे स्टॉक एक्सचेंजों में सूचीबद्ध किया जाएगा।

शेयरों का प्राइस बैंड क्या है?

LIC द्वारा निर्गम के लिए 902-949 रुपये प्रति इक्विटी शेयर तय किया गया था। पात्र कर्मचारियों के साथ-साथ खुदरा निवेशकों को प्रति इक्विटी शेयर पर 45 रुपये की छूट मिली। पॉलिसीधारकों को प्रति शेयर 60 रुपये की छूट मिली।

प्रारंभिक सार्वजनिक पेशकश (Initial Public Offering – IPO) क्या है?

एक IPO जनता को शेयरों की पेशकश करने की एक प्रक्रिया है जिसमें एक कंपनी पहली बार नए जारी किए गए शेयरों की पेशकश करती है। IPO का उपयोग कंपनियों के लिए नई इक्विटी पूंजी उत्पन्न करने के लिए किया जाता है। IPO के माध्यम से कंपनी के संस्थापकों जैसे निजी शेयरधारकों के निवेश का मुद्रीकरण (monetization) किया जा सकता है। IPO की पेशकश और सूचीबद्ध होने के बाद शेयरों का स्टॉक एक्सचेंजों पर स्वतंत्र रूप से कारोबार होता है।

Categories:

Tags: , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments