NPCI ने लॉन्च किया “UPI-Help”

“नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI)” ने BHIM UPI एप्लीकेशन पर “UPI-Help” लॉन्च किया है। UPI-Help यूजर्स के लिए BHIM एप्लीकेशन पर शिकायत निवारण तंत्र के रूप में कार्य करेगा।

मुख्य बिंदु

यह एप्लीकेशन यूजर्स को लंबित लेनदेन की स्थिति की जांच करने और उन लेनदेन के खिलाफ शिकायतें दर्ज करने में मदद करेगा जो संसाधित नहीं हुए हैं या धन लाभार्थी तक नहीं पहुंचा है। यूजर्स व्यापारी लेनदेन के खिलाफ भी शिकायतें उठा सकते हैं। वर्तमान में, यह विंडो भारतीय स्टेट बैंक, एचडीएफसी बैंक, एक्सिस बैंक और आईसीआईसीआई बैंक के ग्राहकों के लिए BHIM एप्प पर खुली है। Paytm Payments Bank, TJSB सहकारी बैंक और अन्य भाग लेने वाले बैंकों के ग्राहक सहित अन्य ग्राहक भी बाद में UPI-Help का लाभ प्राप्त कर सकेंगे।

भारत इंटरफेस फॉर मनी (BHIM)

यह एक भारतीय मोबाइल भुगतान एप्प है। इस एप्प को नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) द्वारा विकसित किया गया है। यह यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (UPI) पर आधारित है। इस एप्प का नाम बी.आर. अंबेडकर के नाम पर रखा गया है। यह 30 दिसंबर, 2016 को लॉन्च किया गया था। यह एप्लीकेशन सीधे बैंकों के माध्यम से ई-भुगतान की सुविधा प्रदान करता है। यह उन सभी भारतीय बैंकों का समर्थन करता है जो UPI का उपयोग करते हैं और इसे तत्काल भुगतान सेवा (IMPS) के ऊपर बनाया गया है।

भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (NPCI)

यह एक गैर-लाभकारी संगठन है जो पूरे भारत में खुदरा भुगतान और निपटान प्रणाली का संचालन करता है। इसकी स्थापना दिसंबर, 2008 में हुई थी। इसे कंपनी अधिनियम 2013 की धारा 8 के तहत पंजीकृत किया गया है। इस संगठन की स्थापना भारतीय रिज़र्व बैंक और भारतीय बैंक संघ द्वारा की गई थी। इसका स्वामित्व प्रमुख बैंकों के संघ के पास है।

एकीकृत भुगतान इंटरफेस (Unified Payments Interface-UPI)

यह एक त्वरित वास्तविक समय भुगतान प्रणाली है जिसे भारत के राष्ट्रीय भुगतान निगम द्वारा विकसित किया गया है। यह इंटरफ़ेस इंटर-बैंक लेनदेन की सुविधा प्रदान करता है। यह भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा विनियमित है। दिसंबर 2020 तक UPI पर लगभग 207 बैंक उपलब्ध थे।

Categories:

Tags: , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments