Project 75-India : सरकार ने 6 पनडुब्बियों के निर्माण के लिए 50,000 करोड़ रुपये जारी किए

प्रोजेक्ट 75-इंडिया (Project 75-India) के तहत, सरकार ने छह पारंपरिक डीजल-इलेक्ट्रिक पनडुब्बियों के निर्माण के लिए 50,000 करोड़ रुपये का टेंडर जारी किया है। ये पनडुब्बियां स्कॉर्पीन श्रेणी की पनडुब्बियों से बड़ी होंगी, जिन्हें मुंबई के मझगांव डॉकयार्ड्स लिमिटेड में बनाया जा रहा है।

मुख्य बिंदु

  • प्रोजेक्ट-75 इंडिया के तहत छह पारंपरिक पनडुब्बियों के निर्माण के लिए रक्षा मंत्रालय की ओर से 50,000 करोड़ रुपये का टेंडर जारी किया गया है।लार्सन एंड टुब्रो (Larsen and Toubro) और मझगांव डॉकयार्ड्स लिमिटेड (Mazagon Dockyards Limited) को टेंडर जारी कर दिया गया है।
  • यह दोनों भारतीय कंपनियां अब जर्मनी, फ्रांस, दक्षिण कोरिया, रूस और स्पेन की फर्मों सहित पांच वैश्विक मूल उपकरण निर्माताओं (original equipment manufacturers) में से एक-एक भागीदार का चयन करेंगी।
  • यह पनडुब्बियां भारी-भरकम मारक क्षमता से लैस होंगी और इनमें न्यूनतम 12 लैंड अटैक क्रूज मिसाइलों (LACM) के साथ एंटी-शिप क्रूज मिसाइल (ASCM) होंगी।
  • भारत को रक्षा उपकरण निर्माण केंद्र के रूप में बढ़ावा देने के उद्देश्य से इस परियोजना को अंजाम दिया जा रहा है।
  • इस परियोजना का अन्य उद्देश्य देश में एक अनुसंधान एवं विकास और औद्योगिक पारिस्थितिकी तंत्र स्थापित करना है जो भारतीय सशस्त्र बलों की भविष्य की सभी आवश्यकताओं को पूरा करने में सक्षम होगा।

प्रोजेक्ट 75-इंडिया (Project 75-India)

प्रोजेक्ट 75-इंडिया सबसे बड़ी मेक इन इंडिया परियोजनाओं में से एक है जिसे सरकार द्वारा शुरू किया जा रहा है। यह हिन्द-प्रशांत क्षेत्र की रक्षा और आत्मनिर्भरता सुनिश्चित करने के लिए किया जा रहा है।

Categories:

Tags: , , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments

  • Sumeet Kumar
    Reply

    So nice explaination .
    Thank you GK Today Team

    • Hans Raj Thakur

      Thank you Sumeet, please keep visiting GKToday!
      – Team GKToday