RBI ने BBPS का दायरा बढ़ाया

भारतीय रिजर्व बैंक ने Bharat Bill Payment System (BBPS) के दायरे का विस्तार किया है जो 31 अगस्त, 2021 से प्रभावी होगा।

दायरा कैसे बढ़ाया गया है?

बिलर श्रेणी के रूप में ‘मोबाइल प्रीपेड रिचार्ज’ को जोड़कर BBPS के दायरे का विस्तार किया गया है। इस कदम से पूरे भारत में लाखों प्रीपेड फोन ग्राहकों को मदद मिलेगी।

पृष्ठभूमि

सितंबर 2019 में BBPS के दायरे और कवरेज का विस्तार किया गया था, जिसमें तब सभी श्रेणियों के बिलर्स शामिल थे जो आवर्ती बिलों (recurring bills) का उपयोग करते थे। इसमें मोबाइल प्रीपेड रिचार्ज के बिलर्स शामिल नहीं थे। 2019 से पहले, BBPS के माध्यम से आवर्ती बिलों के भुगतान की सुविधा केवल पांच क्षेत्रों अर्थात डायरेक्ट टू होम (डीटीएच), गैस, बिजली, पानी और दूरसंचार के लिए उपलब्ध थी।

Bharat Bill Payment System (BBPS)

BBPS भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (NPCI) के तहत काम कर रहा है। यह एक एकीकृत बिल भुगतान प्रणाली है जो ग्राहकों को ऑनलाइन इंटरऑपरेबल बिल भुगतान सेवा प्रदान करती है। यह कई भुगतान मोड और भुगतान की तत्काल पुष्टि प्रदान करता है।

भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (National Payments Corporation of India)

NPCI एक छाता संगठन है जो भारतीय रिजर्व बैंक के स्वामित्व में खुदरा भुगतान और निपटान प्रणाली संचालित करता है। इस गैर-लाभकारी संगठन की स्थापना दिसंबर 2008 में हुई थी। यह कंपनी अधिनियम 2013 की धारा 8 के तहत पंजीकृत है।

Categories:

Tags: , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments