RBI ने NSDL e-Governance को एकाउंट एग्रीगेटर के रूप में मंजूरी दी

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने एक खाता एग्रीगेटर के रूप में “NSDL e-Governance Infrastructure” को मंजूरी दी।

प्रमुख बिंदु

  • NSDL e-Governance Infrastructure एक आईटी-सक्षम सेवा प्रदाता है।
  • इसे NSDL e-Governance Account Aggregator Ltd. नामक पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी के तहत एक खाता एग्रीगेटर व्यवसाय स्थापित करने के लिए RBI से सैद्धांतिक मंजूरी मिली है।

खाता एग्रीगेटर (Account Aggregator) मॉडल

  • एकाउंट एग्रीगेटर (Account Aggregator) मॉडल में डेटा के सहमति-आधारित साझाकरण के लिए एक अद्वितीय आर्किटेक्चर के माध्यम से वित्तीय सेवाओं को डिलीवर करने के तरीके को बदलने की क्षमता है।
  • यह एक वित्तीय डेटा-साझाकरण प्रणाली है, जो निवेश और ऋण में क्रांति ला सकती है।
  • यह लाखों उपभोक्ताओं को वित्तीय रिकॉर्ड पर अधिक पहुंच और नियंत्रण प्रदान कर सकता है।
  • यह मॉडल ग्राहकों के संभावित पूल को उधारदाताओं और फिनटेक कंपनियों तक भी विस्तारित करेगा।
  • अकाउंट एग्रीगेटर व्यक्तियों को उनके व्यक्तिगत वित्तीय डेटा पर नियंत्रण के साथ सशक्त बनाने में मदद करेगा।

अकाउंट एग्रीगेटर का महत्व

खाता एग्रीगेटर डेटा लोकतंत्र को सक्षम करने का एक महत्वपूर्ण कदम है। यह अपनी तरह का पहला सहमति ढांचा है, जिसे डेटा पर नियंत्रण के साथ किसी व्यक्ति को सशक्त बनाने के लिए विकसित किया गया है। यह लोगों को अपने डेटा को सुरक्षित और डिजिटल रूप से एक्सेस करने और साझा करने के लिए भी सशक्त बनाएगा। NSDL ई-गवर्नेंस अकाउंट एग्रीगेटर सेवाएं डेटा-आधारित अर्थव्यवस्था के सशक्तिकरण के लिए मुख्य योगदानकर्ता के रूप में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगी।

Categories:

Tags: , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments