SEBI ने म्यूचुअल फण्ड के लिए विदेशी निवेश सीमा बढ़ाई

भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (Securities and Exchange Board of India – SEBI) ने स्थानीय म्यूचुअल फंड के लिए विदेशी निवेश की सीमा बढ़ा दी है।

मुख्य बिंदु

  • इसके साथ, म्यूचुअल फंड 7 बिलियन डॉलर की समग्र उद्योग सीमा में से अधिकतम 1 बिलियन डॉलर प्रति म्यूचुअल फंड विदेशी निवेश कर सकते हैं।
  • जबकि विदेशी एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (Exchange Traded Fund – ETF) में, म्यूचुअल फंड $1 बिलियन डॉलर की उद्योग सीमा के साथ अधिकतम $300 मिलियन प्रति म्यूचुअल फंड निवेश कर सकते हैं।

म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) क्या है?

यह एक ओपन-एंड पेशेवर रूप से प्रबंधित निवेश फंड है जो कई निवेशकों से प्रतिभूतियों को खरीदने के लिए धन इकठ्ठा करता है। म्यूचुअल फंड में खुदरा या संस्थागत निवेशक दोनों निवेश कर सकते हैं। म्यूचुअल फंड के लाभों में पैमाने की अर्थव्यवस्थाएं, तरलता, विविधीकरण और पेशेवर प्रबंधन शामिल हैं। हालाँकि, ये लाभ शुल्क और व्यय के साथ आते हैं।

एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ETF) क्या है?

ETF एक प्रकार का निवेश फंड और एक्सचेंज-ट्रेडेड उत्पाद है। वे म्यूचुअल फंड के समान हैं। अंतर केवल इतना है कि, ETF पूरे दिन में खरीदे और बेचे जाते हैं जबकि म्यूचुअल फंड विशिष्ट दिन के अंत में मूल्य के आधार पर बेचे और खरीदे जाते हैं। ETF में मुद्राएं, स्टॉक, बॉन्ड और सोने जैसी वस्तुएं होती हैं।

Categories:

Tags: , , , , , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments