WHO ने कोविड-19 के उपचार के लिए इवरमेक्टिन (Ivermectin) के उपयोग के खिलाफ चेतावनी दी

गोवा के स्वास्थ्य मंत्री ने हाल ही में 18 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोगों को “Ivermectin” के उपयोग की सिफारिश की है। हालांकि, विश्व स्वास्थ्य संगठन ने अब इसके इस्तेमाल के खिलाफ चेतावनी दी है।

गोवा सरकार ने क्या कहा?

गोवा सरकार ने हाल ही में एक नए COVID-19 उपचार प्रोटोकॉल को मंजूरी दी। इस प्रोटोकॉल के तहत, सरकार ने “Ivermectin” दवा के उपयोग की सिफारिश की थी। यह वायरल बुखार को रोकने के लिए निर्धारित की गयी थी जो COVID-19 संक्रमण के साथ होता है।

सरकार ने यह भी घोषणा की कि Ivermectin दवा राज्य के सभी स्वास्थ्य केंद्रों में उपलब्ध होगी। इसके अलावा, यह सिफारिश की गई थी कि चाहे वह COVID-19 लक्षण हों या न हों, सभी निवासियों द्वारा इसे लिया जाएगा।

WHO क्या कह रहा है?

एक शोध का दावा है कि Ivermectin के निरंतर उपयोग से COVID-19 समाप्त हो जाता है। साथ ही, यह नियमित रूप से उपयोग किए जाने पर प्राणघातक सांस की बीमारी के अनुबंध के जोखिम को कम करती है। समीक्षा अमेरिकी सरकार के लिए काम कर रहे तीन वरिष्ठ वैज्ञानिकों द्वारा की गई थी। इसके पर विश्व स्वास्थ्य संगठन की मुख्य वैज्ञानिक सौम्या स्वामीनाथन ने कहा है कि डब्ल्यूएचओ Ivermectin के उपयोग के खिलाफ सिफारिश करता है।

मामला क्या है?

WHO के अलावा, जर्मन स्वास्थ्य देखभाल ने COVID-19 उपचार के लिए Ivermectin के उपयोग के खिलाफ भी चेतावनी दी है। ये संगठन दवा के खिलाफ चेतावनी दे रहे हैं क्योंकि रोगियों में इसकी नैदानिक ​​प्रभावकारिता के लिए कोई पर्याप्त डेटा या सार्थक सबूत नहीं हैं।

निष्कर्ष

भारत सरकार ने सिफारिश की थी कि USFDA और यूरोपीय चिकित्सा एजेंसी (European Medical Agency) द्वारा अनुमोदित या अनुशंसित दवाओं का उपयोग भारत में किया जाएगा। अप्रैल 2021 में, USFDA ने COVID रोगियों के इलाज में Ivermectin के उपयोग के खिलाफ सिफारिश की।

Tags: , , , ,

« »

Advertisement

Comments