WHO ने खाद्य जनित रोगों (foodborne diseases) पर हैंडबुक जारी की

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने खाद्य जनित रोगों (foodborne diseases) के बोझ का आकलन करने और डेटा अंतराल का पता लगाने के लिए एक पुस्तिका जारी की जो स्वास्थ्य बुनियादी ढांचे को मजबूत करने में मदद करेगी।

खाद्य जनित रोगों का बोझ (Foodborne Diseases Burden)

  • WHO के 2015 के अनुमान के अनुसार, हर साल लगभग 600 मिलियन लोग खाद्य जनित रोगों (foodborne diseases) से प्रभावित होते हैं। यह दुनिया भर में 10 में से 1 व्यक्ति में संक्रमण के लिए जिम्मेदार है।
  • पांच साल से कम उम्र के करीब 1,20,000 बच्चे असुरक्षित भोजन करने से मर जाते हैं। यह प्रति वर्ष कुल खाद्य जनित मौतों का 30% है।हैं।
  • बच्चों को खाने से होने वाली डायरिया की बीमारी होने का खतरा अधिक होता है। इसके कारण 220 मिलियन लोगों बीमार पड़ते और उनमें से 96,000 लोगों की मौत हो जाती है।
  • डायरिया कच्चे या अधपके मांस और ताजा उपज, अंडे और डेयरी उत्पाद खाने से होता है जो नोरोवायरस, कैम्पिलोबैक्टर, रोगजनक ई कोलाई और गैर-टाइफाइड साल्मोनेला से दूषित होते हैं।

किन क्षेत्रों में सबसे अधिक बोझ है?

WHO की रिपोर्ट के अनुसार, अफ्रीकी और दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्रों में खाद्य जनित बीमारियों का सबसे अधिक बोझ है।

पृष्ठभूमि

विश्व स्वास्थ्य सभा (World Health Assembly) ने एक नया संकल्प अपनाया था और राष्ट्रीय, क्षेत्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर खाद्य जनित और जूनोटिक रोगों के वैश्विक बोझ की निगरानी के लिए WHO को आदेश दिया था। इसने WHO को 2025 तक वैश्विक खाद्य जनित बीमारी के बोझ, मृत्यु दर आदि के अनुमान के साथ खाद्य जनित बीमारियों के वैश्विक बोझ पर रिपोर्ट करने के लिए कहा है।

Categories:

Tags: , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments