WHO ने दुनिया भर में आत्महत्या पर रिपोर्ट जारी की

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने 2019 में दुनिया भर में आत्महत्या की रिपोर्ट प्रकाशित की गई है।

रिपोर्ट के प्रमुख निष्कर्ष

  • इस रिपोर्ट में पाया गया है कि, वैश्विक आत्महत्या मृत्यु दर को एक तिहाई तक कम करना एक संकेतक के साथ-साथ संयुक्त राष्ट्र-अनिवार्य सतत विकास लक्ष्यों (एसडीजी) में एक लक्ष्य है। लेकिन दुनिया इस लक्ष्य तक नहीं पहुंच पाएगी।
  • अभी तक केवल 38 देशों में राष्ट्रीय आत्महत्या रोकथाम रणनीति है।
  • 2019 में आत्महत्या का संकट पहले से ही था। 2019 में लगभग 7,03,000 लोगों (100 में से एक) की आत्महत्या से मृत्यु हो गई।
  • 2019 में, वैश्विक आयु-मानकीकृत आत्महत्या दर 9 प्रति 1,00,000 जनसंख्या थी।
  • 58% आत्महत्याएं 50 वर्ष की आयु से पहले हुईं।
  • 2019 में दुनिया भर में 15-29 आयु वर्ग के युवाओं में आत्महत्या मृत्यु का चौथा प्रमुख कारण था।
  • 2019 में 77 फीसदी वैश्विक आत्महत्याएं निम्न आय और मध्यम आय वाले देशों में हुईं।
  • अफ्रीका, यूरोप और दक्षिण-पूर्व एशिया में आत्महत्या की दर विश्व के औसत से अधिक है।

भारत में आत्महत्या

WHO की रिपोर्ट के अनुसार, भारत में दक्षिण पूर्व एशियाई क्षेत्र में आत्महत्या की दर सबसे अधिक है। राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो से पता चलता है कि 2018 में आत्महत्या के लगभग 1,34,516 मामले सामने आए। 2017 में आत्महत्या की दर 9.9 थी जो 2018 में बढ़कर 10.2 हो गई।

Categories:

Tags: , , , , ,

« »

Advertisement

Comments