WHO ने भारत में पाए जाने वाले COVID-19 वेरिएंट का नामकरण किया

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने ग्रीक वर्णमाला के चार अक्षरों पर, वैश्विक चिंता के उभरते कोरोनावायरस वेरिएंट को लेबल करने के लिए कई नामों की सिफारिश की है। इसने भारत में पाए जाने वाले B.1.617.2 वेरिएंट को ‘डेल्टा’ नाम दिया है।

मुख्य बिंदु

  • यूके में पाए गये वेरिएंट को ‘अल्फा’ नाम दिया गया है।
  • मौजूदा वैज्ञानिक नामकरण प्रणाली जारी रहेगी, जबकि नए नाम केवल उन देशों में पाए जाने वेरिएंट को दिए जायेंगे, इसमें उन देशों का नाम नहीं जोड़ा जायेगा।

चिंताजनक वेरिएंट (Variants of Concern)

WHO  ने चार चिंताजनक वेरिएंट  B.1.1.7, B.1.351, P2 और B.1.617.2.की पहचान की है। उन्हें क्रमशः ‘अल्फा, बीटा, गामा और डेल्टा’ के रूप में लेबल किया गया है।

Variants of Interest

Variants of Interest विश्व स्तर पर कम व्यापक और पारगम्य थे, जिन्हें ग्रीक नाम भी दिए गए थे। भारत में B.1.617 परिवार से संबंधित B.1.617 वायरस की पहचान की गई, जिसे ‘कप्पा’ नाम दिया गया है।

कोरोनावायरस का भारतीय संस्करण

वायरस B.1.617.2 को यूके में भारतीय संस्करण कहा जाता है। यह केंट संस्करण की तुलना में अधिक तेजी से फैल रहा है, जो सर्दियों के दौरान मामलों में वृद्धि के लिए जिम्मेदार था।इंग्लैंड में बी.1.617.2 वेरिएंट के करीब 8,000 और स्कॉटलैंड में 1,000 मामले सामने आए हैं। यह वेरिएंट इंग्लैंड में बोल्टन, ब्लैकबर्न आदि क्षेत्रों में अधिकांश संक्रमण पैदा कर रहा है। यह केंट संस्करण (बी.1.1.7) की तुलना में अधिक आसानी से फैलता है।

Categories:

Tags: , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments