करेंट अफेयर्स - जनवरी, 2019

इस श्रेणी में GKToday में जनवरी, 2019 में प्रकाशित हिन्दी भाषा के करेंट अफेयर्स एवं समसामयिक घटनाक्रम का SSC, Railways, RAS/RPSC, UPSC, BPSC, MPPSC, JPSC, HPSC, UPPSC, UKPSC एवं अन्य प्रतियोगिता परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण समाचारों का संग्रह किया गया है।

“राहत” अभ्यास

जयपुर, कोटा तथा अलवर में 11-12 फरवरी के दौरान आपदा राहत अभ्यास “राहत” का प्रदर्शन किया जायेगा।

मुख्य बिंदु

  • भारतीय थलसेना के स्थान पर जयपुर बेस्ड सप्त शक्ति कमान संयुक्त मानवीय सहायता व आपदा राहत अभ्यास “राहत” का आयोजन करेगी।
  • इस अभ्यास का आयोजन राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (NDMA) के साथ मिलकर किया जायेगा।
  • इस अभ्यास में सशस्त्र सेना, राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन अनुक्रिया मैकेनिज्म (NDMRM), राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण तथा जिला स्तरीय संगठन हिस्सा लेंगे।
  • इस अभ्यास का आयोजन जयपुर, कोटा तथा अलवर में एक साथ आयोजित किया जाएगा।
  • इस अभ्यास में विभिन्न संगठनों के बीच आपसी तालमेल का प्रदर्शन किया जायेगा।

राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (NDMA)

राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (NDMA) एक वैधानिक संस्था है, यह केन्द्रीय गृह मंत्रालय के अधीन कार्य करती है। इसकी स्थापना वर्ष 2009 में की गयी थी, इसके प्रावधान आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 से लिए गये हैं। इसका कार्य प्राकृतिक अथवा मानव निर्मित आपदा में समन्वय के साथ शीघ्र अनुक्रिया करना है। यह संगठन राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरणों (SDMA) के साथ समन्वय, नीति निर्माण तथा दिशानिर्देश जारी करने का कार्य भी करता है। NDMA के बोर्ड में 9 सदस्य होते हैं, इसकी अध्यक्षता प्रधानमंत्री द्वारा की जाती है।

Tags: , , , , , ,

Categories:

भारत में बागवानी उत्पादन के अनुमान का नवीनतम डाटा

हाल ही में केन्द्रीय कृषि व किसान कल्याण मंत्रालय ने बागवानी फसलों के क्षेत्रफल तथा उत्पादन के सन्दर्भ में 2017-18 के अंतिम अनुमान तथा 2018-19 के प्रथम अनुमान जारी किये।

मुख्य बिंदु

  • 2018-19 में उच्च क्षेत्रों में भारत के बागवानी उत्पादन में 1% की वृद्धि होगी और यह 314.67 मिलियन टन पहुँच जायेगा।
  • 2017-18 के अंतिम अनुमानों के अनुसार देश में बागवानी उत्पादन 311.7 मिलियन टन रहा, जो कि पिछले एक वर्ष की तुलना में 3.7% अधिक तथा पिछले 5 वर्षों की तुलना में 10% अधिक है।
  • अनुमानों के मुताबिक बागवानी फसलों के अधीन क्षेत्रों 25.43 मिलियन हेक्टेयर से बढ़कर 25.87 मिलियन हेक्टेयर हो गया है।
  • 2018-19 में प्याज का उत्पादन 23.62 मिलियन टन रह सकता है, 2017-18 में प्याज का उत्पादन 23.26 मिलियन टन था।
  • 2018-19 में आलू का उत्पादन 52.58 मिलियन टन रह सकता है, 2017-18 में यह 51.31 मिलियन टन था।
  • 2018-19 में टमाटर के उत्पादन का अनुमान 20.51 मिलियन टन लगाया गया है, 2017-18 टमाटर का उत्पादन 19.76 मिलियन टन था।
  • फलों का उत्पादन 97.35 मिलियन टन तथा सब्जियों का उत्पादन 187.5 मिलियन टन रहने का अनुमान लगाया गया है।
  • यह अनुमान विभिन्न राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेशों से प्राप्त सूचना के आधार पर तैयार किये गये हैं।

Tags: , , , ,

Categories:

Advertisement