करेंट अफेयर्स (समाचार सारांश) - मार्च, 2018

मोटर न्यूरॉन बीमारी |

ब्लैक होल का रहस्य बताने वाले महान स्टीफन हॉकिंग का हाल ही में कैंब्रिज में निधन हो गया | वे 76 साल के थे | 21 वर्ष की उम्र में इन्हें मोटर न्यूरॉन नामक एक गंभीर बीमारी हो गई थी | मोटर न्यूरॉन बीमारी के चलते इनके अधिकत्तर अंगों ने काम करना बंद कर दिया था और धीरे-धीरे इनका पूरा शरीर लकवाग्रस्त हो गया था |

मोटर न्यूरॉन बीमारी हमेशा जानलेवा होती है, मनुष्य के जीवित रहने की अवधि को भी कम कर देती है। लेकिन कुछ अपवाद भी होते है, जैसे प्रसिद्ध वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग के मामले में हुआ।

लक्षण

मोटर न्यूरॉन बीमारी के लक्षणों के बारे में अचानक से कुछ स्पष्ट नहीं होता है बल्कि धीरे-धीरे ये सामने आते हैं। ज्यादातर यह बीमारी 60 से 70 वर्ष की आयु वर्ग में होती है लेकिन कुछ विशेष स्थितियों में यह किसी भी उम्र के व्यक्ति को हो सकती है।
♦ एड़ी या पैर में कमज़ोरी महसूस होना। लड़खड़ाहट पैदा होती है।
♦ व्यक्ति को बोलने और खाना निगलने में परेशानी
♦ हाथ की पकड़ कमज़़ोर हो जाती है, माँसपेशियों में खिंचाव , वज़न कम होने लगता है आदि।
मोटर न्यूरॉन बीमारी या उससे जुड़ी परेशानी फ्रंटोटेम्परल डिमेंशिया से पीड़ित व्यक्तियों के समीप रहने वाले लोगों को भी यह बीमारी होने की संभावना रहती है। हालाँकि ऐसे मामले बहुत कम होते है।

Tags: , , , ,

Categories:

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना |

सभी गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं के लिये प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना (पीएमएमवीवाई) के अंतर्गत मातृत्व लाभ उपलब्ध है। इसमें वे महिलाएँ शामिल नहीं हैं, जो केंद्र या राज्य सरकार अथवा सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों में नियमित कर्मचारी हैं।
लेकिन इस समय लागू किसी भी काऩून के अंतर्गत इसी प्रकार का लाभ पाने वाली महिलाओँ को भी इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा।

योजना के उद्देश्य हैं

-गर्भवती महिला के वेतन में कटौती के लिये प्रोत्साहन राशि के रुप में आंशिक मुआवज़ा प्रदान करना , जिससे महिला पहले बच्चे के जन्म से पहले तथा बाद में पर्याप्त आराम कर सके।
-नकद प्रोत्साहन राशि से स्तनपान कराने वाली माताओं और गर्भवती महिलाओं में स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता बढ़ेगी।

योजना के कार्यान्वयन हेतु दिशा-निर्देश,

-योजना को शुरू करने के सॉफ्टवेयर अर्थात् प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना सामान्य आवेदन सॉफ्टवेयर (पीएमएमवीवाई-सीएएस) और इसकी नियमावली का शुभारंभ 1 सितम्बर, 2017 को किया गया था।
-प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना को राज्य सरकारों के सहयोग से कार्यान्वित किया जा रहा है।
-प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के तहत सभी पात्र लाभार्थियों को 5,000 रुपए दिये जाते हैं और शेष राशि जननी सुरक्षा योजना (जेएसवाई) के अंतर्गत मातृत्व लाभ की शर्तों के अनुरूप संस्थागत प्रसूति करवाने के बाद दी जाती है। इस प्रकार औसतन एक महिला को 6,000 रुपए प्राप्त होते हैं।

Tags: , , , ,

Categories:

नेपाल क्रिकेट टीम को मिला वनडे क्रिकेट टीम का दर्जा

वर्ल्डकप क्वालीफायर प्ले ऑफ में पपुआ न्यू गिनी को 6 विकेट से हराकर अपने खेल के इतिहास में नेपाल ने पहली बार वनडे दर्जा हासिल किया है. नेपाल के गेंदबाजों ने इस मुकाबले में जीत की नींव रखी, जिसमें संदीप लामिचाने और दीपेंद्र ऐरी ने चार-चार विकेट झटककर विपक्षी टीम को महज 27.2 ओवर में 114 रन पर समेट दिया.

बल्लेबाजी में पपुआ न्यू गिनी ने खराब खेल दिखाया जो टूर्नामेंट के पांच मैचों में से चार में 200 या इससे कम के स्कोर पर सिमटी है. हार से सुनिश्चित हो गया कि वह अपना वनडे दर्जा गंवा देंगे.कप्तान पारस खडकास ने टॉस जीतकर फील्डिंग का फैसला किया. 17 साल लेग स्पिनर लामिचाने ने 29 रन देकर चार और ऑफ स्पिनर ऐरी 14 रन देकर चार विकेट झटके जिससे उसने पपुआ न्यू गिनी को 114 रन पर ऑल आउट कर दिया.

ऐरी ने बल्लेबाजी में शानदार खेल दिखाया, उसने 58 गेंद में 50 रन की शानदार खेली. आरिफ शेख ने भी 26 रन का उपयोगी योगदान दिया जिससे नेपाल की टीम 27 ओवर रहते ही इस लक्ष्य को हासिल करने में सफल रही.

Tags: , , ,

Categories:

Advertisement