करेंट अफेयर्स (समाचार सारांश) - अक्तूबर, 2018

नई दिल्ली में “वीमेन ऑफ़ इंडिया आर्गेनिक फेस्टिवल 2018” उद्घाटन किया गया

“वीमेन ऑफ़ इंडिया आर्गेनिक फेस्टिवल” के पांचवें संस्करण का आयोजन नई दिल्ली के इंदिरा गाँधी राष्ट्रीय कला केंद्र में किया जाएगा। इसका उद्घाटन 26 अक्टूबर को केन्द्रीय महिला व बाल विकास मंत्री मेनका गाँधी द्वारा किया गया। इसका उद्देश्य देश में जैविक खेती करने वाली महिला किसानों तथा उद्यमियों को बढ़ावा देना है।

मुख्य बिंदु

इस 10 दिवसीय इवेंट में देश के 26 राज्यों से उत्पादक तथा आर्गेनिक उत्पाद निर्माता हिस्सा लेंगे। इसमें देश भर से 500 से अधिक महिला उद्यमी हिस्सा लेंगी। इस फेस्टिवल में चावल, जूस, ड्राई फ्रूट्स, आर्गेनिक आइसक्रीम, स्नैक्स, मशरूम, सौन्दर्य उत्पाद इत्यादि जैविक उत्पादों की प्रदर्शनी की जायेगी। इस फेस्टिवल के दौरान नृत्य व संगीत के सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन भी किया जायेगा। इस कार्यक्रम में दर्शक उत्तर-पूर्व, पंजाब तथा राजस्थान जैसे राज्यों के संगीत व नृत्य का लुत्फ़ उठा सकेंगे। इस कार्यक्रम में लोगों की अधिक संख्या को आकर्षित करने के लिए प्रवेश व पार्किंग निशुल्क रखी गयी है।

Tags: , , , ,

Categories:

विश्व विकास सूचना दिवस : कारण, महत्व तथा प्रमुख तथ्य

24 अक्टूबर को विश्व विकास सूचना दिवस के रूप में मनाया जाता है। इसका उद्देशय विश्व की समस्याओं की ओर ध्यान आकर्षित करना तथा उनका समाधान करने के लिए अंतर्राष्ट्रीय सहयोग को बढ़ावा देना है। इसके द्वारा समस्याओं के समाधान के लिए सार्वजनिक राय आकर्षित करने का प्रयास किया जाता है।

विश्व विकास सूचना दिवस

इस दिवस की स्थापना संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 1972 में की थी, 24 अक्टूबर को संयुक्त राष्ट्र दिवस भी मनाया जाता है। 17 मई, 1972 को संयुक्त राष्ट्र व्यापार व विकास कन्वेंशन (UNCTAD) ने सूचना के प्रसारण के लिए कदम उठाने का प्रस्ताव रखा। पहली बार 24 अक्टूबर, 1972 को विश्व विकास सूचना दिवस मनाया गया। इस प्रस्ताव को संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 19 दिसम्बर, 1972 को पारित किया था। इसका उद्देश्य सूचना का प्रसार करके लोगों की जागरूकता में वृद्धि करना था, इसके द्वारा विशेषतः  युवाओं को विश्व की समस्याओं से अवगत करवाया जाता है। इस दिवस का उद्देश्य विकास के लिए अंतर्राष्ट्रीय सहयोग में वृद्धि करना है।

Tags: , , ,

Categories:

शैक्षणिक व अनुसन्धान सहयोग संवर्धन योजना के लिए वेबपोर्टल लांच किया गया

केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने 25 अक्टूबर को नई दिल्ली में “शैक्षणिक व अनुसन्धान सहयोग संवर्धन योजना” (SPARC) का वेब पोर्टल लांच किया। इस योजना के लिए राष्ट्रीय समन्वय एजेंसी का कार्य IIT खड़गपुर द्वारा किया जाएगा।

मुख्य बिंदु 

इस योजना का उद्देश्य देश के उच्च शिक्षण संस्थानों में अनुसन्धान के माहौल को बढ़ावा देना है तथा भारतीय उच्च शिक्षण संस्थानों को विदेशी संस्थानों के साथ मिलकर अनुसन्धान कार्य के लिए प्रेरित करना है। इस योजना के तहत केंद्र सरकार 600 संयुक्त अनुसन्धान प्रस्तावों के लिए लगभग 418 करोड़ रुपये उपलब्ध करवाएगी। इस योजना में NIRF की टॉप 100 संस्थानों की सूची में आने वाले शिक्षण संस्थान तथा 28 चुने गये देशों के सर्वश्रेष्ठ संस्थान इस योजना का हिस्सा होंगे। इस योजना के तहत शोध कार्य जनवरी, 2019 से शुरू होगा।

SPARC योजना में इन देशों में शिक्षण संस्थान हिस्सा ले सकेंगे – ऑस्ट्रेलिया, ऑस्ट्रिया, बेल्जियम, ब्राज़ील, कनाडा, चीन, देनार्क, फ़िनलैंड, फ्रांस, जर्मनी, हांगकांग, इजराइल, इटली, जापान, नीदरलैंड, न्यूजीलैंड, नॉर्वे, पुर्तगाल, रूस, सिंगापुर, दक्षिण अफ्रीका, दक्षिण कोरिया, स्पेन, स्वीडन, स्विट्ज़रलैंड, ताइवान, यूनाइटेड किंगडम तथा अमेरिका।

Tags: , , , ,

Categories:

Advertisement