करेंट अफेयर्स एवं हिन्दी समाचार सारांश

कैबिनेट ने पटना मेट्रो रेल परियोजना को मंज़ूरी दी

कैबिनेट ने पटना मेट्रो रेल परियोजना को मंज़ूरी दे दी है। इसके तहत दो कॉरिडोर के निर्माण को मंज़ूरी दी गयी है, यह कॉरिडोर हैं – दानापुर से  मीठापुर तथा पटना रेलवे स्टेशन से न्यू ISBT। इस परियोजना का निर्माण अगले पांच वर्षों में 13,365.77 करोड़ की लागत से किया जायेगा।

मुख्य बिंदु

  • दानापुर से  मीठापुर कॉरिडोर रजा बाज़ार, सचिवालय, उच्च न्यायालय तथा लॉ यूनिवर्सिटी रेलवे स्टेशन से होकर गुजरेगा।
  • पटना रेलवे स्टेशन से ISBT कॉरिडोर गाँधी मैदान, PMCH. पटना विश्वविद्यालय, राजेन्द्र नगर , महात्मा नगर, गाँधी सेतु, ट्रांसपोर्ट नगर तथा ISBT को जोड़ेगा।
  • दानापुर से  मीठापुर कॉरिडोर की कुल लम्बाई 16.94 किलोमीटर होगी, इसमें से 11.20 किलोमीटर मार्ग भूमिगत होगा जबकि 5,48 किलोमीटर मार्ग एलिवेटेड होगा। इसमें कुल 11 स्टेशन होंगे (3 एलिवेटेड तथा 8 भूमिगत)।
  • पटना स्टेशन से न्यू ISBT कॉरिडोर की कुल लम्बाई 14.45 किलोमीटर है। इसमें से 9.9 किलोमीटर मार्ग भूमिगत तथा 4.55 किलोमीटर मार्ग एलिवेटेड होगा। इसमें कुल 12 स्टेशन होने।

Tags: , , , ,

Categories:

भारतीय थल सेना ने किया वार्षिक “तोपची” अभ्यास का आयोजन  

भारतीय सेना ने 12 फरवरी, 2019 को अपनी शस्त्र क्षमता का प्रदर्शन “तोपची अभ्यास” में किया। इस अभ्यास में थल सेना ने अल्ट्रा लाइट होवित्ज़र तोप तथा स्वाथि राडार को प्रदर्शित किया। इस अभ्यास का आयोजन नासिक के निकट देओलाली कैंप में किया गया।

“तोपची” अभ्यास 2019

इस प्रदर्शनी में राकेट, मिसाइल निगरानी उपकरण, राडार, रिमोटली पायलटिड एयरक्राफ्ट तथा तोप को शामिल किया गया था। इस इवेंट में लेफ्टिनेंट जनरल वाई.वी.के मोहन, डिफेन्स सर्विस स्टाफ कॉलेज के कमांडेंट, लेफ्टिनेंट जनरल आर. एस. सलारिया, स्कूल ऑफ़ आर्टिलरी एंड कर्नल कमांडेंट रेजिमेंट ऑफ़ आर्टिलरी तथा अन्य सैन्य अधिकारी शरीक हुए।

M777 होवित्ज़र तोप

M777 155 mm, 39 कैलिबर की तोप है, इसका निर्माण BAE Systems नामक कंपनी द्वारा किया गया है। यह तोप काफी छोटी व हलकी है, यह टाइटेनियम और अलुमिनियम मिश्र धातु से बनी है। इसका वज़न केवल 4 टन है। इसकी फायरिंग रेंज लगभग 24 किलोमीटर है।

इस तोप में 155 mm का सभी प्रकार का गोला बारूद उपयोग किया जा सकता है। भारतीय सेना में होवित्ज़र तोप के शामिल होने से सेना की क्षमता में वृद्धि होगी। इस तोप को अरुणाचल प्रदेश और लद्दाख जैसे क्षेत्रों में उपयोग किया जायेगा। इस तोप का इस्तेमाल अमेरिका, कनाडा और ऑस्ट्रेलिया की सेनाएं पहले से कर रही हैं।

स्वाथी राडार

स्वाथी हथियार खोजी राडार भारत द्वारा निर्मित स्वदेशी राडार है। यह राडार दुश्मन देश के राकेट के आने का पता लगा सकता है। इसका निर्माण रक्षा अनुसन्धान व विकास संगठन (DRDO) ने किया है।

Tags: , , , , , , , ,

Categories:

थाईलैंड में शुरू हुआ कोबरा गोल्ड सैन्य अभ्यास

अमेरिका और थाईलैंड इस वर्ष कोबरा गोल्ड नामक बहुराष्ट्रीय सैन्य अभ्यास का आयोजन कर रहे हैं। इस युद्ध अभ्यास का आयोजन थाईलैंड के उत्तर में फित्सानुलोक प्रांत में किया जा रहा है। इसमें 29 देशों से लगभग 10,000 सैनिक हिस्सा ले रहे हैं।

कोबरा गोल्ड अभ्यास

  • यह एशिया-प्रशांत क्षेत्र का सबसे बड़ा बहुराष्ट्रीय युद्ध अभ्यास है, इसका आयोजन प्रत्येक वर्ष थाईलैंड में किया जाता है।
  • पहली बार इस युद्ध अभ्यास का आयोजन 1982 में किया गया था।
  • अमेरिका और थाईलैंड की इस पहल का उद्देश्य सशस्त्र सेनाओं के बीच समन्वय को बढ़ावा देना है।
  • भारत 2016 में पहली बार इस युद्ध अभ्यास में शामिल हुआ था जबकि चीन इस युद्ध अभ्यास में पहली बार 2015 में शामिल हुआ था।
  • इस अभ्यास के कारण प्राकृतिक आपदा के दौरान अनुक्रिया में सेना के समन्वय में वृद्धि हुई है।
  • यह कोबरा गोल्ड युद्ध अभ्यास का 38वां संस्करण है। इसमें सिंगापुर, जापान, चीन, भारत, इंडोनेशिया, मलेशिया तथा दक्षिण कोरिया जैसे देश हिस्सा ले रहे हैं।
  • इस अभ्यास के तीन भाग हैं : सैन्य क्षेत्र प्रशिक्षण, मानवीय सहायता तथा आपदा राहत प्रशिक्षण।
  • भारत इस अभ्यास में 14 सदस्यीय दल के साथ हिस्सा ले रहा है।

Tags: , , , , , , , ,

Advertisement