करेंट अफेयर्स एवं हिन्दी समाचार सारांश

15 फरवरी : अंतर्राष्ट्रीय बाल कैंसर दिवस

प्रतिवर्ष15 फरवरी को अंतर्राष्ट्रीय बाल कैंसर दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस दिवस का उद्देश्य बच्चों में होने वाले कैंसर के प्रति जागरूकता फैलाना तथा कैंसर के गुणवत्तापूर्ण उपचार के लिए कार्य करना है। कैंसर बच्चों में बहुत बड़ा मृत्यु कारक है। विश्व में प्रतिवर्ष 3 लाख बच्चों में कैंसर के लक्षण पाए जाते हैं। गौरतलब है कि निम्न व माध्यम वर्गीय देशों में कैंसर से पीड़ित बच्चों की मृत्यु दर 80% है। जबकि विकसित देशों में कैंसर से पीड़ित 80% बच्चों का जीवन बच जाता है। अतः इस असमानता को कम करने की ज़रुरत है।

उद्देश्य

  • कैंसर का शीघ्र निदान
  • सस्ती व उच्च गुणवत्ता युक्ता दवाओं की उपलब्धता
  • बेहतर उपचार
  • कैंसर से पीड़ित बच्चों के बेहतर देखभाल
  • कैंसर से पीड़ित लोगों के लिए सतत करियर के विकल्प उपलब्ध करवाना

Tags: , , , ,

Categories:

भारत के विदेशी मुद्रा भंडार में 2.12 अरब डॉलर की कमी आई

8 फरवरी को समाप्त हुए सप्ताह में भारत के विदेशी मुद्रा भंडार में 2.12 अरब डॉलर की कमी आई है, अब यह भंडार 398.12 अरब डॉलर तक पहुँच गया है। इससे पिछले सप्ताह विदेश मुद्रा भंडार 400.24 अरब डॉलर पर पहुँच गया था।

विदेशी मुद्रा भंडार

इसे फोरेक्स रिज़र्व या आरक्षित निधियों का भंडार भी कहा जाता है भुगतान संतुलन में विदेशी मुद्रा भंडारों को आरक्षित परिसंपत्तियाँ’ कहा जाता है तथा ये पूंजी खाते में होते हैं। ये किसी देश की अंतर्राष्ट्रीय निवेश स्थिति का एक महत्त्वपूर्ण भाग हैं। इसमें केवल विदेशी रुपये, विदेशी बैंकों की जमाओं, विदेशी ट्रेज़री बिल और अल्पकालिक अथवा दीर्घकालिक सरकारी परिसंपत्तियों को शामिल किया जाना चाहिये परन्तु इसमें विशेष आहरण अधिकारों ,सोने के भंडारों और अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष की भंडार अवस्थितियों को शामिल किया जाता है। इसे आधिकारिक अंतर्राष्ट्रीय भंडार अथवा अंतर्राष्ट्रीय भंडार की संज्ञा देना अधिक उचित है।

दिसम्बर 2018 में विदेशी मुद्रा भंडार

विदेशी मुद्रा संपत्ति (एफसीए): $370.98बिलियन
गोल्ड रिजर्व: $ 22.69 बिलियन
आईएमएफ के साथ एसडीआर: $ 1.46 बिलियन
आईएमएफ के साथ रिजर्व की स्थिति: $ 2.99 बिलियन

Tags: , , , , , , , ,

Categories:

नासा के ओपर्च्युनिटी मार्स रोवर का 15 वर्षीय मिशन समाप्त हुआ

अमेरिकी अन्तरिक्ष एजेंसी नासा ने हाल ह इमे मंगल गृह  पर भेजे गये ओपर्च्युनिटी मिशन की समाप्ति की घोषणा की। हाल ही में नासा का ओपर्च्युनिटी मार्स रोवर से संपर्क कट गया था, इसके बाद ओपर्च्युनिटी मार्स रोवर से संपर्क स्थापित करने के सभी प्रयास किया गये, परन्तु संपर्क पुनः स्थापित नही हो सका।

ओपर्च्युनिटी मार्स रोवर से नासा का संपर्क क्यों कटा?

दरअसल मंगल गृह पर ओपर्च्युनिटी मार्स रोवर की लोकेशन वाले क्षेत्रों में धुल भरा विशाल तूफ़ान आया था, जिस कारण मंगल गृह पर आकाश पूर्ण रूप से धुल से भर गया और रोवर को सूर्य को रौशनी प्राप्त नहीं हो सकी। नासा से ओपर्च्युनिटी मार्स रोवर के साथ संपर्क स्थापित करने के कई प्रयास किये, परन्तु सभी प्रयास विफल रहे। शीतकाल में कम तापमान और न्यूनतम सूर्य प्रकाश में ओपर्च्युनिटी मार्स रोवर की रिकवरी की उम्मीद काफी कम है।

मिशन

ओपर्च्युनिटी मार्स एक्सप्लोरेशन मिशन का दूसरा मिशन था, यह मंगल गृह पर जनवरी, 2004 में लैंड हुआ था। ओपर्च्युनिटी से पहले इसका जुड़वाँ रोवर स्पिरिट मंगल गृह में गुसेव क्रेटर में लैंड हुआ था। ओपर्च्युनिटी रोवर मंगल गृह की दूसरी ओर मेरीडियेनी प्लेनम पर लैंड हुआ था। नासा ने इन दो रोवर के लिए 90 दिन के कार्य के लिए भेजा था। परन्तु इन दोनों का कार्यकाल काफी लम्बा रहा। स्पिरिट मिशन मई 2011 में समाप्त हुआ, स्पिरिट रोवर ने मंगल गृह की सतह पर 8 किलोमीटर की यात्रा की। ओपर्च्युनिटी रोवर से जून, 2018 में नासा का संपर्क टूटा था, इसने मंगल गृह की सतह पर 45 किलोमीटर की यात्रा की।

Tags: , , , , , ,

Categories:

Advertisement