करेंट अफेयर्स एवं हिन्दी समाचार सारांश

अमेरिका ने ईरान में चाबहार बंदरगाह के निर्माण के लिए भारत को प्रतिबन्ध से छूट दी

अमेरिका ने हाल ही में ईरान में चाबहार बंदरगाह के निर्माण के लिए भारत को प्रतिबन्ध से छूट दी। इससे पहले अमेरिका ने Iran Freedom and Counter Proliferation Act, 2012 के तहत ईरान पर अब तक के सबसे सख्त प्रतिबन्ध लगाए थे।

मुख्य बिंदु

भारत में ईरान में चाबहार बंदरगाह का विकास कार्य कर रहा है, इसके साथ एक रेलवे लाइन का निर्माण भी किया जा रहा है। इस बंदरगाह के द्वारा भारत और अफ़ग़ानिस्तान तथा अन्य मध्य एशियाई देशों के बीच व्यापारिक गतिविधियों में वृद्धी होने की उम्मीद है। यह बंदरगाह अफ़ग़ानिस्तान के विकास में काफी महत्वपूर्ण सिद्ध होगा। इसलिए भारत की इस गतिविधि पर प्रतिबन्ध नहीं लगाया गया है, अमेरिक के अनुसार अफ़ग़ानिस्तान के विकास तथा शांति स्थापना में भारत की भूमिका काफी महत्वपूर्ण है।

पृष्ठभूमि

अमेरिका ने ईरान सरकार के रवैये के कारण ईरान पर अब तक से सबसे सख्त प्रतिबन्ध लगाए हैं। यह प्रतिबन्ध ईरान की बैंकिंग से लेकर उर्जा सेक्टर पर लगाए गये हैं। ईरान से तेल खरीदने के लिए केवल आठ देशों को प्रतिबन्ध से छूट दी गयी हैं, यह आठ देश हैं : भारत, चीन, इटली, ग्रीस, जापान, दक्षिण कोरिया, ताइवान तथा तुर्की।

चाबहार बंदरगाह

चाबहार बंदरगाह ईरान के दक्षिणी तट पर स्थित है, यह बंदरगाह सामरिक रूप से काफी महत्वपूर्ण है। यह बंदरगाह चीन द्वारा पाकिस्तान में निर्मित ग्वादर बंदरगाह से केवल 100 नॉटिकल मील दूर स्थित है। भारत ने सर्वप्रथम 2003 में चाबहार बंदरगाह के विकास का प्रस्ताव रखा था। अफ़ग़ानिस्तान तथा मध्य एशिया तक पहुँच बनाने के लिए यह बंदरगाह भारतीय के लिए ‘सुनहरा द्वार’ है। फरवरी, 2018 चाबहार के पहले चरण (शाहिद बेहेश्ती) के क्रियान्वयन के लिए समझौते पर हस्ताक्षर किये गये थे। इस समझौते के तहत इंडिया पोर्ट्स ग्लोबल लिमिटेड नामक भारतीय कंपनी चाबहार बंदरगाह का अंतरिम प्रभार अपने हाथ में लेगी।

Tags: , , , ,

Categories:

लखनऊ के इकाना क्रिकेट स्टेडियम का नाम बदलकर अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर रखा गया

6 नवम्बर को उत्तर प्रदेश सरकार ने नवनिर्मित इकाना अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम का नाम बदलकर पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर रखने की घोषणा की। अब इस स्टेडियम को “भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम” के नाम से जाना जाएगा। इस स्टेडियम में 50,000 लोग बैठकर मैच देख सकते हैं।

मुख्य बिंदु

6 नवम्बर, 2018 को इस स्टेडियम में भारत और वेस्ट इंडीज के बीच टी-ट्वेंटी मैच खेला गया। इस नाम  परिवर्तन के लिए लखनऊ विकास प्राधिकरण ने समझौते के क्लॉज 17.5.1 के तहत निहित शक्तियों का उपयोग किया। यह समझौता इकाना स्पोर्ट्स सिटी प्राइवेट लिमिटेड, जी. सी. कंस्ट्रक्शन्स, डेवलपमेंट इंडस्ट्रीज प्राइवेट लिमिटेड तथा लखनऊ विकास प्राधिकरण के बीच किया गया था। इस स्टेडियम का नाम अटल बिहारी वाजपेयी की याद में रखा गया है, उनका निधन अगस्त, 2018 में हुआ था। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी लखनऊ ने 1991 से 2009 तक लगातार 5 बार सांसद रहे।

नोट: इससे पहले योगी आदित्यनाथ सरकार ने इलाहबाद का नाम बदलकर प्रयागराज तथा मुगलसराय का नाम बदलकर पंडित दीनदयाल उपाध्याय किया था।

Tags: , , , ,

Categories:

अंगद वीर सिंह बाजवा ने 8वीं एशियाई शॉटगन चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीता

अंगद वीर सिंह बाजवा ने 8वीं एशियाई शॉटगन चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीता। इस प्रतियोगिता का आयोजन कुवैत में किया गया जा रहा है। इसके साथ-साथ वे विश्व स्तरीय इवेंट में पदक जीतने वाले पहले भारतीय स्कीट शूटर बने। फाइनल राउंड में अंगद ने 60 में से 60 अंक प्राप्त किये। चीन दी जिन ने 60 में से 58 अंक प्राप्त किये, उन्होंने रजत पदक जीता। संयुक्त अरब अमीरात के सईद अल मकतूम ने 46 अंकों के साथ कांस्य पदक जीता।

10 मीटर राइफल मिश्रित इवेंट

भारतीय जोड़ी एलावेनिल वलारिवन और ह्रदय हजारिका ने इस इवेंट में स्वर्ण पदक जीता। उन्होंने फाइनल राउंड में 502.1 अंक प्राप्त किये, यह एक विश्व रिकॉर्ड है। इस स्पर्धा में चीनी जोड़ी शी मेंगयाओ तथा वांग युएफंग ने 500.9 के साथ रजत पदक जीता। इसी स्पर्धा में भारत की मेहुली घोष और अर्जुन बबुता की जोड़ी ने 436.9 अंकों के साथ कांस्य पदक जीता।

Tags: , , , , ,

Categories:

Advertisement