करेंट अफेयर्स एवं हिन्दी समाचार सारांश

जेईई (मुख्य) और एनईईटी की परीक्षाएँ अब साल में दो बार आयोजित होंगी

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय (HRD) ने घोषणा की है कि भारत की दो सबसे लोकप्रिय प्रतियोगी परीक्षाएं, संयुक्त प्रवेश परीक्षा (JEE Mains) और राष्ट्रीय योग्यता और प्रवेश परीक्षा (NEET), अब साल में दो बार आयोजित की जाएगी. ये दोनों परीक्षाएं नवगठित राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (NTA) द्वारा आयोजित की जाएंगी.  तथा यह राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा (NET) भी आयोजित करेगा.

मुख्य तथ्य

इन सभी परीक्षाओं को पहले केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) द्वारा आयोजित किया जाता था. अब से विभिन्न इंजीनियरिंग कॉलेजों में स्नातक प्रवेश के लिए जेईई (मुख्य) सालाना दो बार जनवरी और अप्रैल में आयोजित किया जाएगा. जबकि  चिकित्सा और दंत पाठ्यक्रमों (Medical and Dental Courses) में प्रवेश के लिए NEET की परीक्षा फरवरी और मई में आयोजित की जाएगी. सहायक प्रोफेसर पद या जूनियर रिसर्च फैलोशिप हेतु योग्यता निर्धारित करने के लिए नेट की परीक्षा दिसंबर माह में आयोजित की जाएगी.

यदि छात्र एक वर्ष में दोनों बार जेईई (मुख्य) तथा एनईईटी के लिए उपस्थित होते हैं, तो उनके दोनों प्रयासों में से सर्वश्रेष्ठ को वरीयता दी जाएगी. सभी परीक्षाएँ कंप्यूटर आधारित होंगे तथा अभ्यास मॉड्यूल राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (NTA) की वेबसाइट पर उपलब्ध कराए जाएंगे. इन परीक्षाओं को अंतर्राष्ट्रीय मानदंडों के मुकाबले अधिक सुरक्षित रूप से आयोजित करवाया जाएगा जिससे पेपर लीक के कोई विवाद नहीं होंगे और ये अधिक छात्र-अनुकूल भी होंगे.

Tags: , , , , ,

Categories:

सीबीआईसी ने तैयार किया ‘जीएसटी वेरीफाई’ मोबाइल ऐप

केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर और सीमा शुल्क बोर्ड (CBIC) ने उपभोक्ताओं के हितों की रक्षा के लिए जीएसटी वेरीफाईमोबाइल ऐप विकसित किया है. इस एंड्रॉइड ऐप की मदद से यह पता लगाया जा सकता है कि यदि कोई व्यापारी या दुकानदार किसी उपभोक्ता से जो जीएसटी वसूल रहा है, वह कर लेने के लिए योग्य है भी या नहीं.

मुख्य बिन्दु

सीबीआईसी द्वारा तैयार किया गया यह ऐप जीएसटी लेने वाले व्यक्ति या कंपनी का सम्पूर्ण विवरण प्रदान करता है. इस ऐप का निर्माण कार्य भारतीत राजस्व सेवा के अधिकारी बी रघु किरण द्वारा सम्पन्न किया गया है जो तेलंगाना के मेदचल जीएसटी कमिश्नरेट में संयुक्त आयुक्त के पद पर कार्यरत्त है. ऐप की मदद से ग्राहक अपने बिल का सत्यापन भी कर सकते है तथा यह भी सुनिश्चित कर सकते है कि उनके द्वारा चुकाया गया जीएसटी वास्तव में सरकार तक पहुंचा भी है या नहीं. साथ ही यह उपभोक्ताओं को धोखाधड़ी से कर के रूप में ली जाने वाली राशि को बचाने में मदद करेगा.

केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर और सीमा शुल्क बोर्ड (सीबीआईसी)

सीबीआईसी भारत में सीमा शुल्क, जीएसटी, केंद्रीय उत्पाद शुल्क, सेवा कर और नारकोटिक्स के प्रशासन के लिए उत्तरदाई नोडल राष्ट्रीय एजेंसी है. यह केंद्रीय वित्त मंत्रालय के तहत राजस्व विभाग का हिस्सा है जिसका मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है. मार्च 2017 में इसका नाम सेंट्रल बोर्ड ऑफ एक्साइज एंड कस्टम्स (CBEC) से बदलकर सेंट्रल बोर्ड ऑफ इंडाइरेक्ट टैक्सेस एंड कस्टम्स (CBIC) रख दिया गया. यह भारत के सबसे पुराने सरकारी विभागों में से एक है, जो वर्ष 1855 में भारत के तत्कालीन ब्रिटिश गवर्नर जनरल द्वारा स्थापित किया गया था.

Tags: , , , ,

Categories:

जिम्नास्टिक विश्व कप में स्वर्ण विजेता रही दीपा करमाकर

8 जुलाई 2018 को भारतीय जिम्नास्टिक महिला खिलाड़ी दीपा करमाकर ने तुर्की में वर्ल्ड चैलेंज कप के नाम से आयोजित जिम्नास्टिक विश्व कप में स्वर्ण पदक जीता. जिमनास्ट दीपा करमाकर ने 14.150 अंक हासिल करते हुये स्वर्ण पदक को अपने नाम किया. वर्ल्ड चैलेंज कप में यह दीपा की पहली जीत है.

मुख्य तथ्य

जिमनास्ट दीपा करमाकर (24) जो त्रिपुरा की रहने वाली है, ने लगभग दो साल की वापसी के बाद अब यह पदक अपने नाम किया है. तथा इससे पहले उन्होने रियो ओलंपिक के वॉल्ट स्पर्धा में चौथे पायदान पर अपनी जगह बनाई थी. अपने जिम्नास्टिक करियर में वर्ष 2007 से लेकर अब तक दीपा ने राज्य, राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं में लगभग 80 पदक जीते हैं, जिनमें 68 स्वर्ण पदक भी शामिल हैं. दीपा करमाकर ऐसी पहली भारतीय महिला जिम्नास्ट हैं, जिसने ओलंपिक में भाग लिया है. दीपा करमाकर ने बैलेंस टीम इवेंट के फाइनल राउंड में भी अपनी जगह बनाई थी लेकिन अथक प्रयास के बाद भी क्वॉलिफिकेशन राउंड में उन्हें 11.850 अंकों के साथ तीसरे पायदान पर ही संतोष करना पड़ा.

Tags: , , , ,

Categories: /

Advertisement