विश्व बैंक

महाराष्ट्र ने विश्व बैंक की सहायता से लांच किया प्रोजेक्ट स्मार्ट

महाराष्ट्र सरकार ने हाल ही में विश्व बैंक की सहायता से स्मार्ट (State of Maharashtra’s Agribusiness and Rural Transformation – SMART) प्रोजेक्ट को लांच किया,  इसका उद्देश्य महाराष्ट्र के ग्रामीण क्षेत्रों का कायाकल्प करना है। इस परियोजना के द्वारा महाराष्ट्र में कृषि वैल्यू चैन का पुनरुत्थान करने के प्रयास किया जाएगा, इस प्रोजेक्ट में 1000 गावों के सीमान्त किसानों पर विशेस फोकस किया जायेगा। यह प्रोजेक्ट केंद्र सरकार की किसानो की आय को दोगुना करने की योजना का हिस्सा है। इस लांच के बाद बड़े कॉर्पोरेट तथा किसान उत्पादक समूहों के बीच 50 MoU पर हस्ताक्षर किये गये।

State of Maharashtra’s Agribusiness and Rural Transformation (SMART)

इस प्रोजेक्ट का उद्देश्य फसल की कटाई के बाद के लिए सपोर्ट वैल्यू चैन का निर्माण करना है, इसके कृषि-व्यापार को बढ़ावा मिलेगा तथा किसानों को अपने उत्पाद के लिए बड़ा बाज़ार उपलब्ध होगा। इस प्रोजेक्ट के द्वारा निजी सेक्टर को भी कृषि-व्यापार में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा।

इस प्रोजेक्ट का क्रियान्वयन 10,000 गावों में किया जाएगा, इसके द्वारा अगले तीन वर्षों में सतत कृषि के लक्ष्य को प्राप्त करने का प्रयास किया जायेगा। इस प्रोजेक्ट के तहत महाराष्ट्र के लगभग एक तिहाई हिस्से को कवर किया जायेगा। इसका मुख्य फोकस उन गावों पर है जहाँ पर अधोसंरचना की कमी के कारण कृषि कार्य में काफी परेशानी होती है। इसके लिए राज्य सरकार ने सामाजिक-आर्थिक पिछड़ेपन के आधार पर गावों का चयन किया है।

महत्व

ग्रामीण अर्थ्यव्यवस्था के कायाकल्प तथा किसानों के सशक्तिकरण के लिए यह प्रोजेक्ट अति आवश्यक है। इसके तहत पब्लिक-प्राइवेट पार्टनरशिप मॉडल के द्वारा सतत कृषि को बढ़ावा दिया जायेगा। इसके द्वारा किसानों को उनकी उपज का उचित मूल्य मिल सकेगा। इसके द्वारा किसानों तथा कृषि से सम्बंधित कॉर्पोरेट को एक मंच पर लाया जायेगा।

Tags: , , , ,

Categories:

विश्व बैंक ने जलवायु परिवर्तन के लिए 200 अरब डॉलर की निवेश योजना का अनावरण किया

विश्व बैंक ने हाल ही में 2021 से 2025 के बीच जलवायु परिवर्तन के लिए 200 अरब डॉलर की निवेश योजना का अनावरण किया। वर्तमान में पोलैंड के कातोविस में संयुक्त राष्ट्र जलवायु शिखर सम्मेलन (COP 24) का आयोजन किया जा रहा है। इस 200 अरब डॉलर की राशि में से 100 प्रत्यक्ष रूप से विश्व बैंक द्वारा उपलब्ध करवाए जायेंगे। जबकि एक तिहाई राशि विश्व बैंक समूह की दो एजेंसियों से प्राप्त किये जायेंगे, जबकि शेष राशि विश्व बैंक समूह की प्राइवेट कैपिटल के मोबिलाइजेशन से प्राप्त की जायेगी।

टिपण्णी

विश्व बैंक की इस योजना से विश्व बैंक की पर्यावरण की प्रति प्रतिबद्धता स्पष्ट होती है, यह वैश्विक समुदाय के लिए जलवायु परिवर्तन की गंभीरता दर्शाने वाला एक महत्वपूर्ण चिन्ह है। यह राशी पहले विश्व बैंक द्वारा ज़ाहिर की सहयोग राशि से लगभग दोगुनी अधिक है।

विश्व बैंक

विश्व बैंक का मुख्यालय वाशिंगटन डी. सी. में है। इसके अध्यक्ष जिम योंग किम है। इसकी स्थापना जुलाई 1945 को हुई थी।
विश्व बैंक ऋण देने वाली एक ऐसी संस्था है जिसका उद्देश्य विभिन्न देशों की अर्थ व्यवस्थाओं को एक व्यापक विश्व अर्थव्यवस्था में शामिल करना और विकासशील देशों में ग़रीबी उन्मूलन के प्रयास करना है।

Tags: , , , ,

Categories:

नैरोबी में किया गया पहले सतत नीली अर्थव्यवस्था सम्मेलन 2018 का आयोजन

केन्या की राजधानी नैरोबी में पहले सतत नीली अर्थव्यवस्था सम्मेलन 2018 का आयोजन 26 से 28 नवम्बर के दौरान किया गया। इसकी थीम “नीली अर्थव्यवस्था तथा  सतत विकास के लिए 2030 एजेंडा” थी। इस सम्मेलन का आयोजन केन्या द्वारा किया गया, कनाडा और जापान इस सम्मेलन का सह-आयोजक थे।

मुख्य बिंदु

इस सम्मेलन में विश्व भर से लगभग 4000 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया। भारत की ओर से इस सम्मेलन में केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने हिस्सा लिया। हिन्द महासागर में भारत की स्थिति सामरिक दृष्टि से काफी महत्वपूर्ण है। इस सम्मेलन में विश्व वन्यजीव फण्ड, अंतर्राष्ट्रीय समुद्री संगठन, अंतर्राष्ट्रीय सीबेड प्राधिकरण, विश्व बैंक तथा ओशन फाउंडेशन इत्यादि ने भी हिस्सा लिया।

नीली अर्थव्यस्था से अभिप्राय समुद्री संसाधनों का उपयोग विकास, रोज़गार तथा जीवन स्तर को बेहतर करने लिए करना है। इसमें समुद्री परिवहन, मतस्य पालन, नवीकरणीय उर्जा, कचरा प्रबंधन तथा पर्यटन शामिल है।

भारत के लिए नीली अर्थव्यवस्था का महत्त्व काफी अधिक है। भारत समुद्री अधोसंरचना, अंतर्देशीय जलमार्गों तथा तटीय शिपिंग इत्यादि का विकास कर रहा है। इसके लिए भारत ने “सागरमाला कार्यक्रम लांच किया है। इसका उद्देश्य समुद्री लोजिस्टिक्स तथा बंदरगाहों का विकास करना है। इसके लिए भारत का राष्ट्रीय दृष्टिकोण “SAGAR – Security and Growth for All in IOR” शब्द के द्वारा व्यक्त किया जा सकता है।

 

Tags: , , , , , , , , ,

Categories:

Advertisement