वेंचर कैपिटल

गोवा में किया गया स्टार्टअप इंडिया वेंचर कैपिटल शिखर सम्मेलन का आयोजन

स्टार्टअप इंडिया वेंचर कैपिटल शिखर सम्मेलन का आयोजन 7 दिसम्बर, 2018 को गोवा में किया गया। इसका आयोजन केन्द्रीय वाणिज्य व उद्योग मंत्रालय के औद्यौगिक नीति एवं संवर्धन विभाग तथा गोवा सरकार द्वारा किया गया।

मुख्य बिंदु

इस इवेंट में विश्व भर से निवेशक हिस्सा ले रहे हैं। इसमें अमेरिका, चीन, जापान, हांगकांग और सिंगापुर के निवेशकों ने हिस्सा लिया। इसमें लगभग 150 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया।

भारत में स्टार्टअप का तीसरा सबसे बड़ा बेस है, भारत में लगभग 14,000 मान्यता प्राप्त स्टार्टअप्स हैं। औद्यौगिक नीति एवं संवर्धन विभाग (DIPP) ने इसी वर्ष 8200 स्टार्टअप्स को मान्यता दी। केंद्र सरकार द्वारा जारी स्टेटमेंट के अनुसार इस वर्ष स्टार्टअप्स से 89,900 नयी नौकरियों का सृजन हुआ।

स्टार्ट-अप इंडिया

स्टार्टअप इंडिया प्रोग्राम की घोषणा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त, 2015 को लाल किले से अपने भाषण में की थी। स्टार्टअप इंडिया की सभी गतिविधियाँ वाणिज्य व उद्योग मंत्रालय द्वारा क्रियान्वित की जाती हैं। इस प्रोग्राम का उद्देश्य भारत में नवोन्मेष और स्टार्ट-अप्स को बढ़ावा देना है। इससे देश की आर्थिक विकास दर में वृद्धि होगी और देश में रोज़गार के नए अवसर उत्पन्न होंगे।

Tags: , , , , , , ,

Categories:

नीति आयोग ने लांच की ‘पिच टू मूव’ प्रतिस्पर्धा

नीति आयोग ने परिवहन (मोबिलिटी) क्षेत्र में उद्यमशीलता को बढ़ावा देने के लिए ‘पिच टू मूव’ प्रतिस्पर्धा की शुरुआत की। इसमें परिवहन/गतिशीलता (मोबिलिटी) क्षेत्र से जुड़े हुए उद्यमी अपने बिज़नस आइडियाज बड़े उद्योगों तथा वेंचर कैपिटलिस्ट को प्रस्तुत कर सकते हैं। इससे इन उद्यमियों को निवेशक मिल सकेंगे।

‘पिच टू मूव’ प्रतिस्पर्धा

इस प्रतिस्पर्धा का आयोजन नीति आयोग द्वारा इन्वेस्ट इंडिया तथा भारतीय ऑटोमोबाइल निर्माता सोसाइटी (SIAM) के साथ मिलकर किया जा रहा है। यह प्रतिस्पर्धा वैश्विक मोबिलिट शिखर सम्मेलन का हिस्सा है। इसका उद्देश्य नए आइडियाज वाले स्टार्टअप्स को फंडिंग उपलब्ध करवाकर उन्हें प्रोत्साहित करना है। इससे देश में विकास को बल मिलेगा और देश में रोज़गार के नए अवसर उत्पन्न होंगे।

इस प्रतिस्पर्धा के मुख्य बिंदु सार्वजनिक परिवहन, विद्युत् वाहन, साझा परिवहन, बैटरी टेक्नोलॉजी, मालवाहक वाहन, पॉवरट्रेन व ड्राइवट्रेन, परिवहन अधोसंरचना इत्यादि हैं। यह प्रतिस्पर्धा उन सभी स्टार्टअप्स के लिए खुली है जो अपने आइडियाज को निर्णयक मंडल के सामने प्रस्तुत करने में रुचि रखते हैं। इस प्रतिस्पर्धा के विजेताओं को venture capitalists से निवेश प्राप्त होगा तथा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा उन्हें ग्लोबल मोबिलिटी समिट में सम्मानित भी किया जायेगा। ग्लोबल मोबिलिटी समिट नई दिल्ली में 7-8 सितम्बर, 2018 को आयोजित किया जायेगा।

Tags: , , , , ,

Categories:

Advertisement