हिंदी करेंट अफेयर्स प्रश्नोत्तरी : 5 दिसम्बर, 2018

1. अंतर्राष्ट्रीय दिव्यांग दिवस कब मनाया जाता है?
उत्तर – 3 दिसम्बर
प्रतिवर्ष 3 दिसंबर को अंतर्राष्ट्रीय दिव्यांग दिवस के रूप में मनाया जाता है। इसका उद्देश्य समाज में दिव्यांग जनों का विकास सुनिश्चित करना है। वर्ष 2018 थीम “दिव्यांग जनों का सशक्तिकरण तथा समावेश व समानता सुनिश्चित करना” है। यह 2030 सतत विकास लक्ष्यों का हिस्सा है।
इस दिवस की स्थापना संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा 1992 में 47/3 प्रस्ताव करके की थी। संयुक्त राष्ट्र के अनुमान के अनुसार विश्व भर में लगभग 1 अरब दिव्यांग जन हैं और उन्हें समाज में समावेश हेतु कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है।
इस दिवस का उद्देश्य दिव्यांग जनों की समस्याओं को समझना तथा उनके सम्मान अधिकारों व कल्याण का समर्थन करना है। इसका उद्देश्य राजनीतिक, आर्थिक, सामाजिक तथा सांस्कृतिक जीवन में दिव्यांग जनों के बारे में जागरूकता फैलाना है।
2. हाल ही में भारत की पहली इंजन-लेस ट्रेन सुर्ख़ियों में रही है, उस ट्रेन का नाम क्या है?
उत्तर – ट्रेन 18
भारत की पहली इंजन-लेस ट्रेन ने 2 दिसम्बर को किये गये ट्रायल के दौरान 180 किमी/घंटा की गति प्राप्त की। यह परीक्षण कोटा-सवाई माधोपुर सेक्शन में किया गया। यह ट्रेन संभवतः जनवरी, 2019 में वाणिज्यिक कार्य शुरू कर सकती है।
इससे पहले ट्रेन 18 का परीक्षण 29 अक्टूबर को किया गया, ट्रेन 18 भारत की पहली बिना इंजन की ट्रेन है। इसका निर्माण चेन्नई की इंटीग्रल कोच फैक्ट्री में किया गया है। इस रेल के निर्माण में 100 करोड़ रुपये की लागत आई है। यह रेल 30 वर्ष पुरानी शताब्दी एक्सप्रेस का स्थान लेगी। इस रेल के 80% कल-पुर्ज़े भारत में निर्मित किये गये हैं, यह ट्रेन 160 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार से दौड़ सकती है। 2019-20 तक इस प्रकार की 5 अन्य रेलों का निर्माण किया जायेगा।
3. हाल ही में किस देश ने जनवरी 2019 से ओपेक की सदस्यता छोड़ने का निर्णय लिया है?
उत्तर – क़तर
क़तर ने हाल ही में ओपेक समूह की सदस्यता छोड़ने का लिया। क़तर का यह निर्णय जनवरी, 2019 से लागू हो जायेगा। क़तर ने अब प्राकृतिक गैस के उत्पादन पर बल देने का निर्णय लिया है। इस प्रकार क़तर ओपेक की सदस्यता छोड़ने वाला पहला देश बन जायेगा।
क़तर 1961 से ओपेक का सदस्य रहा है। खाड़ी राजनीती में उथल-पुथल के कारण क़तर ने यह लिया है। पिछले कुछ समय में क़तर को सऊदी अरब जैसे अन्य खाड़ी देशों के बहिष्कार का सामना करना पड़ा।
क़तर विश्व का सबसे बड़ा तरल प्राकृतिक गैस का उत्पादक है, यह विश्व का 17वां सबसे बड़ा कच्चा तेल उत्पादक है। क़तर के पास विश्व के कुल तेल भंडार का 2% हिस्सा है। क़तर ने अब प्राकृतिक गैस के उत्पादन पर फोकस करने का निर्णय लिया है। वर्तमान में क़तर का प्राकृतिक गैस उत्पादन 77 मिलियन टन प्रतिवर्ष है, क़तर ने इसे 110 मिलियन प्रतिवर्ष तक पहुँचाने की योजना बनायीं है।
ओपेक एक अंतरसरकारी संगठन है, इसमें 15 तेल निर्यातक देश शामिल हैं। इसकी स्थापना 1960 में इराक के बगदाद में की गयी गयी थी। इसका मुख्यालय ऑस्ट्रिया की राजधानी विएना में स्थित है। ओपेक का उद्देश्य पेट्रोलियम नीति पर सदस्य देशों के साथ समन्वय करना है तथा तेल बाज़ार की स्थिरता तथा पेट्रोलियम की नियमित आपूर्ति सुनिश्चित करना है।
ओपेक देश विश्व के कुल 43% तेल का उत्पादन करते हैं, विश्व के तेल भंडार का 73% हिस्सा ओपेक देशों में स्थित है। ओपेक का दो तिहाई मध्य पूर्व के देशों द्वारा ही किया जाता है।
4. हाल ही में किस भारतीय क्रिकेटर ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लिया?
उत्तर – गौतम गंभीर
भारतीय क्रिकेटर गौतम गंभीर ने 4 दिसम्बर, 2018 को क्रिकेट के सभी प्रारूपों से सन्यास की घोषणा की। इसकी घोषणा हाल ही में उन्होंने सोशल मीडिया पर की। गौतम गंभीर ने भारत के लिए 58 टेस्ट मैच, 147 एकदिवसीय तथा 37 टी-20 मैच खेले। उन्होंने अपना अंतिम अंतर्राष्ट्रीय एकदिवसीय मैच 2016 में राजकोट में इंग्लैंड के खिलाफ खेला था। वे रणजी ट्रॉफी में दिल्ली के लिए अपना अंतिम मैच 6 दिसम्बर को आंध्र प्रदेश के खिलाफ खेलेंगे।
गौतम गंभीर का जन्म 14 अक्टूबर, 1981 को नई दिल्ली में हुआ था। घरेलु क्रिकेट में उन्होंने दिल्ली के लिए क्रिकेट खेला। जबकि आईपीएल में उन्होंने कलकत्ता नाईट राइडर्स तथा दिल्ली डेयरडेविल्स के लिए क्रिकेट खेला। उन्होंने अपने टेस्ट क्रिकेट करियर की शुरुआत 3 नवम्बर, 2004 को ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध की थी। उन्होंने 58 टेस्ट मैचों में 4,154 रन बनाये। गौतम ने पाने एकदिवसीय करियर की शरुआत 11 अप्रैल, 2003 को बांग्लादेश के विरुद्ध की थी, एकदिवसीय रिच्केट में उन्होंने 5,238 रन बनाये। अंतर्राष्ट्रीय टी-ट्वेंटी करियर की शुरुआत उन्होंने 13 सितम्बर, 2007 को स्कॉटलैंड के विरुद्ध की थी।
5. भारत में नौसेना दिवस कब मनाया जाता है?
उत्तर – 4 दिसम्बर
भारत में प्रतिवर्ष 4 दिसंबर को नौसेना दिवस के रूप में मनाया जाता है। इसका उद्देश्य भारत की नौसेना की उपलब्धियों तथा भारतीय नौसेना की भूमिका पर प्रकाश डालना है। भारतीय नौसेना भारतीय सशस्त्र बल का हिस्सा है। भारत की तीनो सेनाओं का प्रमुख देश का राष्ट्रपति होता है।
भारतीय नौसेना
देश की समुद्री सीमाओं की सुरक्षा का भार भारतीय नौसेना पर है। वर्तमान में भारतीय नौसेना में 67,228 सैनिक/कर्मचारी कार्यरत्त हैं। भारतीय नौसेना की स्थापना 1612 ईसवी में हुई थी। महान मराठा शासक छत्रपति शिवाजी को भारतीय नौसेना का पिता कहा जाता है।भारतीय नौसेना का आदर्श वाक्य “शं नो वरुणः” है। वर्तमान में भारतीय नौसेना के प्रमुख एडमिरल सुनील लाम्बा हैं।
मार्च 2018 के अनुसार भारतीय नौसेना के पास एक एयरक्राफ्ट कैरिएर, 1 उभयचर परिवहन डॉक, 8 लैंडिंग शिप टैंक, 11 डिस्ट्रॉयर, 13 फ्रिगेट, 1 परमाणु उर्जा संचालित पनडुब्बी, 1 बैलिस्टिक मिसाइल युक्त पनडुब्बी, 14 परंपरागत पनडुब्बीयां, 22 कार्वेट, 4 फ्लीट टैंकर तथा अन्य कई पोत हैं।
6. ओडिशा में कौशल निर्माण के लिए किस अंतर्राष्ट्रीय संगठन द्वारा 85 मिलियन डॉलर का ऋण उपलब्ध करवाया जायेगा?
उत्तर – एशियाई विकास बैंक
केंद्र सरकार ने ओडिशा कौशल विकास परियोजना के लिए एशियाई विकास बैंक के साथ 85 मिलियन डॉलर के ऋण समझौते पर हस्ताक्षर किये। इस परियोजना का उद्देश्य ओडिशा में कौशल विकास को बढ़ावा देना तथा विश्व कौशल केंद्र की स्थापना करना। इस विश्व कौशल विकास केंद्र की स्थापना ओडिशा की राजधानी भुबनेश्वर में की जाएगी।
परियोजना का महत्व
इस परियोजना से राज्य के TVET (तकनिकी व व्यवसायिक शिक्षा व प्रशिक्षण) कार्यक्रम की गुणवत्ता में सुधार होगा तथा यह कार्यक्रम उद्योग की आवशयकताओं के अनुकूल बन सकेगा। इस कार्यक्रम के तहत अंतर्राष्ट्रीय स्तर का कौशल प्रशिक्षण प्रदान किया जायेगा। इसके अतिरिक्त भारत में उभरते हुए सेक्टर के मुताबिक भी युवाओं को प्रशिक्षण प्रदान किया जा सकेगा। विश्व कौशल केंद्र के लिए सिंगापुर के ITEES संस्थान की सहायता प्राप्त की जायेगी।
इस कौशल केंद्र द्वारा युवाओं को अंतर्राष्ट्रीय स्तर का प्रशिक्षण प्रदान किया जायेगा। इसके तहत 8 प्रशिक्षण कोर्स में 13,000 फुल-टाइम छात्र, 5,000 अध्यापकों तथा 1000 मूल्यांकनकर्ताओं को प्रशिक्षण प्रदान किया जायेगा।
इस परियोजना के द्वारा 1,50,000 लोगों को विनिर्माण, निर्माण तथा सेवा क्षेत्र में रोज़गार के लिए तैयार किया जा सकेगा। इससे ओडिशा में कौशल विकास तथा रोज़गार में होगी। विश्व कौशल केंद्र सरकारी आईटीआई के नेटवर्क की सहायता करेगा तथा बहुतकनीकी शिक्षण संस्थानों तथा इंजीनियरिंग कॉलेजों की क्षमता तथा कौशल में वृद्धि करेगा।
7. हाल ही में किसने मेक्सिको के नए राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली?
उत्तर – अन्द्रेस लोपेज़ ओब्रादोर
हाल ही में अन्द्रेस मैन्युअल लोपेज़ ओब्रादोर ने मेक्सिको के नए राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली। उनका कार्यकाल 6 वर्षों का होगा। जुलाई, 2018 में हुए राष्ट्रपति चुनावों में उन्होंने 50% वोट प्राप्त किये। उन्होंने राष्ट्रपति के रूप में एनरिके पेना नीतो का स्थान लिया। ओब्रादोर इससे पहले मेक्सिको सिटी के मेयर भी रह चुके हैं।
अन्द्रेस मैन्युअल लोपेज़ ओब्रादोर मेक्सिको के 58वें राष्ट्रपति हैं। उनका जन्म 13 नवम्बर, 1953 को मेक्सिको के तेपेतितान नगर में हुआ था। वे वर्तमान में नेशनल रीजनरेशन मूवमेंट नामक राजनीतिक दल से जुड़े हुए हैं। वे वर्ष 2000 से जुलाई, 2005 तक मेक्सिको सिटी के मेयर रहे। वर्ष 2006 में उन्होंने राष्ट्रपति चुनाव लड़ा, चुनाव में उन्हें 35.31% मत प्राप्त हुए, इन चुनावों में वे 0.58% मतों से हार गये थे। इसके पश्चात् उन्होंने 2012 में पुनः राष्ट्रपति चुनाव लड़ा, इस चुनाव में वे दूसरे स्थान पर रहे, इसमें उन्हें 31.59% मत प्राप्त हुए।
8. भारतीय नौसेना द्वारा किस थिएटर स्तरीय समुद्री युद्ध अभ्यास का आयोजन किया जायेगा?
उत्तर – ट्रोपेक्स
भारतीय नौसेना जनवरी-मार्च, 2019 के दौरान थिएटर लेवल ऑपरेशनल रेडीनेस एक्सरसाइज (TROPEX) का आयोजन करेगी, इसका उद्देश्य तटीय सुरक्षा के लिए आवश्यक सभी उपकरणों का परीक्षण करना है। ट्रोपेक्स के दौरान भारतीय नौसेना “एक्सरसाइज सी विजिल” नामक रक्षा अभ्यास का आयोजन भी करेगी। इस अभ्यास में ऑपरेशनल पोत, पनडुब्बियां तथा एयरक्राफ्ट तथा भारतीय तटरक्षक बल, भारतीय थल सेना तथा भारतीय वायुसेना की इकाइयां भी हिस्सा लेंगी।
यह एक समुद्री अभ्यास है, इसका आयोजन पश्चिमी समुद्री क्ष्रेत्र में किया जाता है। इस अभ्यास के दौरान युद्ध की परिस्थिति को मध्य नज़र रखते हुए अभ्यास किया जाता है। इससे सैनिकों की युद्ध कौशल में वृद्धि होगी। इसके द्वारा संयुक्त ऑपरेशन के लिए इंटरओपेराबिलिटी भी मज़बूत होगी। इस अभ्यास में भारतीय थल सेना, वायु सेना तथा भारतीय तटरक्षक बल भी हिस्सा लेते हैं।
इस अभ्यास में भारतीय नौसेना के पूर्वी तथा पश्चिमी कमांड से लगभग 45 पोत हिस्सा लेंगे, इसमें एयरक्राफ्ट कैरियर आईएनएस विक्रमादित्य, परमाणु उर्जा संचालित पनडुब्बी चक्र, नौसैनिक एयरक्राफ्ट MiG-29K, हेलीकाप्टर तथा भारतीय तटरक्षक बल के पोत हिस्सा लेंगे। चूँकि यह त्रि-सेवा अभ्यास है, इसमें भारतीय सेना तथा वायुसेना के सैनिक भी हिस्सा लेंगे। भारतीय वायुसेना के सु-30 MKI, जैगुआर तथा AWACS भी इसमें हिस्सा लेंगे।
9. FSSAI के हार्ट अटैक रिवाइंड अभियान का उद्देश्य क्या है?
उत्तर – ट्रांस फैट के औद्योगिक उत्पादन को समाप्त करना
FSSAI ने उद्योगों में उत्पादित किये जाने ट्रांस-फैट को समाप्त करने के लिए हार्ट अटैक रिवाइंड अभियान लांच किया। FSSAI ने 2022 तक भारत में ट्रांस फैट के उत्पादन को समाप्त करने का लक्ष्य रखा है। यह FSSAI के “फ्रीडम फ्रॉम ट्रांस फैट : इंडिया@75” लक्ष्य के अनुकूल है।
यह इस प्रकार का पहला अभियान है, इसका उद्देश्य उपभोक्ताओं को ट्रांस फैट तथा कार्डियोवैस्कुलर रोग के बारे में जागरुक करना है। इस अभियान के तहत उपभोक्ताओं को ट्रांस फैट के हानिकारण प्रभावों के बारे में जागरूक किया जायेगा तथा उन्हें स्वस्थ विकल्पों के बारे में बताया जायेगा। इस अभियान को वाइटल स्ट्रेटेजीज के विशेषज्ञों द्वारा तैयार किया गया है।
हर साल ट्रांस फैट के कारण विश्व भर में प्रतिवर्ष 5 लाख लोगों की मृत्यु होती है, ट्रांस फैट का निर्माण वनस्पति तेल में हाइड्रोजन मिलाकर किया जाता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने 2023 तक ट्रांस फैट की समाप्ति का लक्ष्य रखा है।
10. एशिया-प्रशांत शिखर सम्मेलन 2018 का आयोजन किस शहर में किया गया?
उत्तर – काठमांडू
2 दिसम्बर को एशिया-प्रशांत शिखर सम्मेलन का आयोजन नेपाल के काठमांडू में किया गया। इस सम्मेलन की थीम “वर्तमान समय की गंभीर समस्याओं का समाधान : स्वतंत्रता, .पारस्परिक समृद्धि तथा सार्वभौमिक मूल्य” थी। इसका आयोजन दक्षिण कोरियाई संगठन यूनिवर्सल पीस फेडरेशन तथा नेपाल सरकार द्वारा किया गया। इसमें 45 देशों से लगभग 1500 लोगों ने भाग लिया।

« »

Advertisement

Comments

  • anjana ahirwar
    Reply

    thank you sir

  • anjana ahirwar
    Reply

    thank you very much sir daily ke current bhejne ke liye

  • mahendra nath
    Reply

    very good sir

  • Sukhdev
    Reply

    Nice

  • Hansraj
    Reply

    Thank you sir