अंतर्राष्ट्रीय करेंट अफेयर्स

इथियोपिया में हजारों बच्चे गंभीर रूप से कुपोषित : यूनिसेफ

यूनिसेफ (UNICEF) ने इथियोपिया के टाइग्रे (Tigray) क्षेत्र में लगभग 33,000 गंभीर रूप से कुपोषित बच्चों के बारे में चेतावनी दी है, जिनकी मृत्यु का उच्च जोखिम है।

पृष्ठभूमि

सरकारी बलों और विद्रोहियों के बीच लड़ाई के कारण टाइग्रे क्षेत्र तबाह हो गया है जिसमें नवंबर, 2020 में संघर्ष शुरू होने के बाद से लगभग 1.7 मिलियन लोग विस्थापित हुए हैं।

यूनिसेफ अध्ययन

  • संयुक्त राष्ट्र समर्थित अध्ययन में पाया गया कि टाइग्रे क्षेत्र में 3,53,000 लोग गंभीर संकट में जी रहे थे, जबकि इथियोपिया सरकार ने इस खोज को नकार दिया और कहा कि लोगों सहायता मिल रही है।
  • यूनिसेफ के अनुसार, क्षेत्र में भोजन की स्थिति भयानक स्तर पर पहुंच गई है।
  • लगभग 33,000 बच्चे बीमारी और कुपोषण से संभावित मौत के करीब हैं।
  • दो मिलियन लोग गंभीर संकट के कगार पर हैं।

संघर्ष विराम

अमेरिका और यूरोपीय संघ ने संयुक्त रूप से सभी युद्धरत पक्षों से युद्धविराम के लिए सहमत होने और लाखों जरूरतमंदों तक सहायता पहुंचाने की अनुमति देने को कहा है। उन्होंने युद्धविराम के माध्यम से बड़े पैमाने पर अकाल को रोकने का आग्रह किया।

मामला क्या है?

नवंबर 2020 में, इथियोपिया के प्रधानमंत्री अबी अहमद (Abiy Ahmed) ने टाइग्रे में जमीनी और हवाई सैन्य अभियान का आदेश दिया था। टाइग्रे पीपल्स लिबरेशन फ्रंट (Tigray People’s Liberation Front – TPLF) (एक सत्तारूढ़ दल) पर संघीय सेना शिविरों पर हमला करने का आरोप लगाने के बाद यह अभियान शुरू किया गया। इस संघर्ष ने लगभग हजारों लोगों की जान ले ली है और लगभग 50 लाख लोगों को सहायता की आवश्यकता है। इथियोपिया सरकार और टाइग्रे पीपल्स लिबरेशन फ्रंट के बीच वास्तविक तनाव 2018 में अबी अहमद की देश के प्रधानमंत्री के रूप में नियुक्ति के साथ ही शुरू हुआ था।

Month:

पीएम मोदी मरुस्थलीकरण, भूमि क्षरण और सूखे पर संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन को संबोधित करेंगे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 14 जून, 2021 को संयुक्त राष्ट्र में मरुस्थलीकरण, भूमि क्षरण और सूखा पर एक उच्च स्तरीय आभासी सम्मेलन को संबोधित करने जा रही हैं ।

मुख्य बिंदु

  • यह सम्मेलन महासभा के 75वें सत्र के अध्यक्ष वोल्कन बोजकिर (Volkan Bozkir) द्वारा आयोजित किया जाएगा।
  • पीएम मोदी 2019 में नई दिल्ली में Conference of the Parties to United Nations Convention to Combat Desertification के 14वें सत्र के अध्यक्ष थे, जिसमें मरुस्थलीकरण, भूमि क्षरण और सूखे से निपटने के लिए ग्रामीण और शहरी समुदायों में संक्रमण को प्रोत्साहित करने और ऊर्जा तक पहुंच बढ़ाने के लिए दिल्ली घोषणा (Delhi Declaration) को अपनाया गया था।
  • इस वर्ष के सत्र के दौरान, अंतर्राष्ट्रीय संगठनों और नागरिक समाज समूहों के प्रतिनिधि भूमि क्षरण (land degradation) से लड़ने में हुई प्रगति का आकलन करने के उद्देश्य से सम्मेलन को संबोधित करेंगे।वे स्वस्थ भूमि को पुनर्जीवित करने और बहाल करने के वैश्विक प्रयासों पर भी आगे का रास्ता तय करेंगे।

भूमि क्षरण चिंता का कारण क्यों है?

संयुक्त राष्ट्र के अनुसार, दुनिया भर में पृथ्वी के भूमि क्षेत्र का पांचवां हिस्सा (2 अरब हेक्टेयर से अधिक) अवक्रमित (degraded) है। इसमें कुल कृषि भूमि के आधे से अधिक शामिल हैं। यदि इस गति से भूमि क्षरण जारी रहा और हम मिट्टी का प्रबंधन करने के तरीके में बदलाव नहीं करते हैं, तो 2050 तक 90% से अधिक भूमि खराब हो जाएगी। यह ग्रह के भूमि क्षेत्र के पांचवें हिस्से और 3.2 अरब लोगों की आजीविका पर नकारात्मक प्रभाव डालेगा। भूमि क्षरण भी जलवायु परिवर्तन और जैव विविधता के नुकसान को तेज करता है और सूखे, जंगल की आग, अनैच्छिक प्रवास और जूनोटिक संक्रामक रोगों के उद्भव में योगदान देता है। इस प्रकार, जागरूकता बढ़ाने और निवारक उपायों को शुरू करने के लिए यह सम्मेलन महत्वपूर्ण हो जाता है।

Month:

नफ्ताली बेनेट (Naftali Bennett) बने इजरायल के नए प्रधानमंत्री

नफ्ताली बेनेट (Naftali Bennett) ने हाल ही में इजराइल के नए प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ले ली है। नफ्ताली बेनेट ने सबसे कम अंतर 60-59 मतों के साथ विश्वास मत जीता। उनकी इस जीत ने देश के पूर्व प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के 12 साल के शासन को समाप्त कर दिया। बेंजामिन नेतन्याहू इजरायल के सबसे लंबे समय तक सेवा करने वाले नेता है।

मुख्य बिंदु

नफ्ताली बेनेट इजरायल पूर्व रक्षा मंत्री हैं। वे दक्षिणपंथी यामिना पार्टी (Yamina Party) के नेता हैं। उन्होंने इजरायल की संसद नेसेट में 60-59 वोटों से विश्व मत हासिल किया। वे अब इजरायल के 13वें प्रधानमंत्री बने गये हैं।

सत्ता-साझाकरण सौदे के हिस्से के रूप में नफ्ताली बेनेट सितंबर, 2023 तक प्रधान मंत्री रहेंगे। इसके बाद वह अगले दो साल के लिए यायर लैपिड (Yair Lapid) को सत्ता सौंपेंगे। बेंजामिन नेतन्याहू दक्षिणपंथी लिकुड पार्टी के प्रमुख बने रहेंगे और विपक्ष के नेता बनेंगे।

नफ्ताली बेनेट (Naftali Bennett)

नफ्ताली बेनेट (Naftali Bennett) एक इसरायली राजनेता हैं, वे वर्तमान में इजराइल के 13वें प्रधानमंत्री हैं। इसे पहले उन्होंने कई मंत्री पदों पर कार्य किया है। वे 2013-15 तक अर्थव्यवस्था मंत्री, 2013-19 तक प्रवासी मंत्री, 2015-19 तक शिक्षा मंत्री और 2019-20 के दौरान रक्षा मंत्री रहे। वे अपने करियर के दौरान अलग-अलग दलों से जुड़े हुए रहे हैं। 2013-18 तक वे ‘द ज्यूइश होम’, 2018-19 के दौरान ‘न्यू राईट’, 2019 में यामिना, 2019-20 के दौरान ‘न्यू राईट’ और 2020 में ‘यामिना’ के साथ जुड़े रहे।

Month:

पीएम मोदी ने G7 शिखर सम्मेलन में One Earth One Health का आह्वान किया

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने G7 शिखर सम्मेलन में वर्चुअली भाग लिया, अपने संबोधन के दौरान पीएम मोदी ने भविष्य की महामारियों को रोकने के लिए वैश्विक एकता, नेतृत्व और एकजुटता का आह्वान किया और लोकतांत्रिक और पारदर्शी समाजों की विशेष जिम्मेदारी पर बल दिया।

मुख्य बिंदु

अपने संबोधन में पीएम मोदी ने ‘One Earth One Health’ का संदेश दिया। उन्होंने महामारी से लड़ने के लिए भारत के ‘समग्र समाज’ के दृष्टिकोण पर प्रकाश डाला। इस दौरान पीएम मोदी ने कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग और वैक्सीन प्रबंधन के लिए ओपन सोर्स डिजिटल टूल्स के भारत के सफल उपयोग पर भी प्रकाश डाला। उन्होंने अन्य विकासशील देशों के साथ अपने अनुभव और विशेषज्ञता को साझा करने की भारत की इच्छा से अवगत कराया।

इसके अलावा, पीएम मोदी ने वैश्विक स्वास्थ्य शासन में सुधार के सामूहिक प्रयासों के लिए भारत के समर्थन की प्रतिबद्धता जताई।उन्होंने COVID संबंधित तकनीकों पर TRIPS छूट के लिए भारत और दक्षिण अफ्रीका द्वारा WTO में लाए गए प्रस्ताव के लिए G7 का समर्थन मांगा।

भारत TRIPS छूट की मांग क्यों कर रहा है?

भारत ने विश्व व्यापार संगठन में ट्रिप्स छूट के प्रस्ताव को पेश किया है क्योंकि :

  1. TRIPS छूट से टीकों की लागत में काफी कमी आएगी।
  2. यह अन्य देशों के साथ दवाओं के मुक्त प्रवाह और प्रौद्योगिकी हस्तांतरण के लिए एक वातावरण भी बनाएगा।

Trade-Related Aspects of Intellectual Property Rights (TRIPS)

TRIPS समझौता बौद्धिक संपदा अधिकारों पर एक बहुपक्षीय समझौता है जिसमें पेटेंट, कॉपीराइट, अघोषित सूचना का संरक्षण या व्यापार रहस्य और औद्योगिक डिजाइन शामिल हैं। यह समझौता जनवरी 1995 में लागू हुआ था।

Month:

चीन के Belt and Road Initiative का मुकाबला करने के लिए G7 नेताओं ने Build Back Better World (B3W) लॉन्च किया

हाल ही में G7 नेताओं ने चीन के Belt and Road Initiative (BRI) का मुकाबला करने के लिए विकासशील देशों की मदद करने के लिए Build Back Better World (B3W) नामक नई पहल लांच की है।

मुख्य बिंदु

G-7 शिखर सम्मेलन का आयोजन इंग्लैंड के कॉर्नवाल में किया जा रहा है। इस सम्मेलन के दौरान G7 नेताओं ने Build Back Better World (B3W) पहल का समर्थन किया।

व्हाइट हाउस के एक बयान में के अनुसार राष्ट्रपति बाईडेन और G7 साझेदार नई वैश्विक बुनियादी ढांचा पहल Build Back Better World (B3W)  शुरू करने के लिए सहमत हुए हैं। व्हाइट हाउस के बयान में इस पहल को प्रमुख लोकतंत्रों के नेतृत्व में एक मूल्य-संचालित, उच्च-मानक और पारदर्शी बुनियादी ढांचा साझेदारी के रूप में वर्णित किया गया है, जो विकासशील दुनिया में 40 ट्रिलियन डॉलर से अधिक के बुनियादी ढांचे की जरूरत को कम करने में मदद करता है, जिसे COVID-19 महामारी द्वारा बढ़ा दिया गया है। B3W आने वाले वर्षों में निम्न और मध्यम आय वाले देशों के लिए सैकड़ों अरबों डॉलर के बुनियादी ढांचे के निवेश को सामूहिक रूप से उत्प्रेरित (catalyze) करेगा।

 बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव (Belt and Road Initiative – BRI)

यह चीनी सरकार की एक वैश्विक बुनियादी ढांचा विकास रणनीति है। इसमें 2013 में अपनाया गया था। BRI चीनी कम्युनिस्ट पार्टी (Chinese Communist Party – CCP) के महासचिव और शी जिनपिंग (Xi Jinping) की विदेश नीति का केंद्रबिंदु है। यह पहल मूल रूप से शी जिनपिंग द्वारा कजाकिस्तान की आधिकारिक यात्रा के दौरान सितंबर 2013 में “सिल्क रोड इकनोमिक बेल्ट” (Silk Road Economic Belt) के रूप में घोषित की गई थी।  इस बुनियादी ढांचा परियोजना में बंदरगाह, रेलमार्ग, सड़क, गगनचुंबी इमारतें, हवाई अड्डे, बांध और रेल सुरंग शामिल हैं।

Month:

13 जून: अंतर्राष्ट्रीय ऐल्बिनिज़म जागरूकता दिवस (International Albinism Awareness Day)

हर साल, अंतर्राष्ट्रीय ऐल्बिनिज़म जागरूकता दिवस (International Albinism Awareness Day) 13 जून को मनाया जाता है। यह दिन दुनिया भर में ऐल्बिनिज़म से प्रभावित व्यक्तियों के मानवाधिकारों का जश्न मनाने के लिए मनाया जाता है।

थीम : #StrengthBeyondAllOdds

मुख्य बिंदु

यह दिन दुनिया भर में जागरूकता पैदा करने और ऐल्बिनिज़म से पीड़ित लोगों द्वारा सामना किए जाने वाले भेदभाव के कई रूपों पर प्रकाश डालने के लिए मनाया जाता है।  इस दिवस का उद्देश्य यह सन्देश देना है कि यद्यपि ऐल्बिनिज़म से पीड़ित लोग भेदभाव का सामना कर रहे हैं, दुनिया उन्हें भेदभाव और हिंसा से मुक्त करने के लिए उनके साथ खड़ी है। इस दिन को संयुक्त राष्ट्र द्वारा चिह्नित किया जाता है ।

रंगहीनता (Albinism)

ऐल्बिनिज़म आनुवंशिक रूप से विरासत में मिला है, गैर-संक्रामक है  और इसके परिणामस्वरूप त्वचा, आंखों और बालों में रंजकता (pigmentation) की कमी होती है। यदि माता-पिता दोनों में ऐल्बिनिज़म का जीन है, जो जन्म के समय बच्चा भी इससे प्रभावित हो सकता है।

यूरोप और उत्तरी अमेरिका में, 17,000 में से एक ऐल्बिनिज़म से प्रभावित है। यह उप-सहारा अफ्रीका में अधिक प्रचलित है जहां 1,400 में से एक व्यक्ति इससे प्रभावित होता है।

 

Month:

1 / 85123>>>

Advertisement