हाल ही में आईएनएस वेला को भारतीय नौसेना के प्रोजेक्ट-75 के तहत लांच किया गया, यह किन दो देशों के बीच साझा उपक्रम है?

उत्तर  भारत और फ्रांस

हाल ही में भारतीय नौसेना को चौथी स्टेल्थ स्कॉर्पीन श्रेणी पनडुब्बी को प्रोजेक्ट 75 के तहत लांच किया गया, इस पनडुब्बी को ट्रायल के लिए मुंबई के मजगांव डॉक लिमिटेड के कान्होजी अंगरे वेट बेसिन में लांच किया गया है। पनडुब्बियों का निर्माण मजगांव डॉक लिमिटेड में किया जा रहा है, इसमें फ्रांस का नेवल ग्रुप प्रमुख साझेदार है। आईएनएस वेला 6 में से चौथी स्कॉर्पीन श्रेणी की पनडुब्बी है। भारतीय नौसेना में स्कॉर्पीन श्रेणी पनडुब्बी को कलवारी श्रेणी कहा जाता है। 2005 में फ्रेंच DCNS (अब नेवल ग्रुप) तथा मजगांव डॉक लिमिटेड के बीच प्रोजेक्ट 75 के लिए समझौता किया गया था, जिसके तहत 6 पनडुब्बियों का निर्माण किया जाना था। इस समझौते के तहत आईएनएस कलवरी को दिसम्बर, 2018 में कमीशन किया गया था। जबकि आईएनएस खंडेरी तथा आईएनएस करंज नौसेना में शामिल होने के अग्रिम चरणों में पहुँच गयी है। आईएनएस वगीर और आईएनएस वग्शीर का निर्माण काफी आगे पहुँच गया है। यह अनुबंध 2020 तक पूरा हो जाएगा। कलवरी श्रेणी में डीजल-इलेक्ट्रिक अटैक पनडुब्बियां शामिल हैं, यह स्कॉर्पीन पनडुब्बी पर आधारित है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

« »
अन्य रोचक प्रश्न

Advertisement

Comments