अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष

IMF World Economic Outlook – Update जारी की गयी

27 जुलाई को अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (International Monetary Fund – IMF) ने वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए  भारत की जीडीपी विकास दर के पूर्वानुमान को घटाकर 9.5% हैकिया। इससे पहले, IMF  ने 12.5% ​​​​जीडीपी वृद्धि का अनुमान लगाया था। भारत से संबंधित मुख्य बिंदु  COVID-19 महामारी की दूसरी लहर के कारण आर्थिक गतिविधियों पर असर

Month:

IMF ने 2021 के वैश्विक विकास अनुमान को 6% पर रखा

21 जुलाई, 2021 को, अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (International Monetary Fund) ने कहा कि 2021 के लिए वैश्विक विकास दर लगभग 6% रहेगी। मुख्य बिंदु IMF की प्रबंध निदेशक क्रिस्टालिना जॉर्जीवा (Kristalina Georgieva) ने कहा कि जब तक कोविड-19 टीकाकरण की गति नहीं बढ़ जाती, तब तक आर्थिक सुधार में कमी आएगी। अप्रैल के महीने में

Month:

FATF ने पाकिस्तान को ‘Enhanced Follow-up List’ में बरकरार रखा

ग्लोबल एंटी-टेररिस्ट वॉचडॉग फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (FATF) ने पाकिस्तान को ‘Enhanced Follow-up List’ में बनाए रखने का फैसला किया है। पृष्ठभूमि FATF ने अक्टूबर, 2020 में पाकिस्तान को ग्रे लिस्ट में रखा था और तय किया था कि FATF विश्व बैंक, एशियाई विकास बैंक, अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष और यूरोपीय संघ से पाकिस्तान को सहायता

Month:

IMF ने ‘रिकोशे इम्पैक्ट’ (Ricochet Impact) के लिए दी चेतावनी, जानिए क्या है Ricochet Impact

अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) के अनुसार, उभरते-बाजार देशों के कोविड-19 महामारी से प्रेरित आर्थिक संकट से बाहर निकलने का संघर्ष विकसित देशों को नुकसान पहुंचा सकता है। इसने कहा, विकसित और उन्नत अर्थव्यवस्थाओं पर संकट का “रिकोशे प्रभाव” (Ricochet Impact) है। मुख्य बिंदु अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष का सुझाव है कि, विकसित देशों को टीकों की

Month:

IMF ने 50 बिलियन डालर की वैश्विक टीकाकरण योजना का प्रस्ताव रखा

IMF (अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष) ने 50 बिलियन अमरीकी डालर की वैश्विक टीकाकरण योजना का प्रस्ताव रखा है जो 2021 के अंत तक वैश्विक आबादी का लगभग 40 प्रतिशत कवर करेगी। यह 2022 की पहली छमाही तक कम से कम 60 प्रतिशत आबादी को कवर करने का भी प्रयास करेगी। मुख्य बिंदु यह योजना विश्व स्वास्थ्य

Month:

2021 में दुनिया की सबसे धीमी वृद्धि दर उप-सहारा अफ्रीका में दर्ज की जाएगी: IMF

अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (International Monetary Fund) ने हाल ही में उप-सहारा अफ्रीका (Sub Saharan Africa) के लिए क्षेत्रीय आर्थिक आउटलुक जारी किया। स रिपोर्ट के अनुसार उप-सहारा अफ्रीका 2021 में दुनिया की सबसे धीमी वृद्धि दर्ज करेगा। मुख्य बिंदु उप-सहारन क्षेत्र के 2021 में 4% की दर से बढ़ने का अनुमान है। यह 2021 में वैश्विक

Month:

Advertisement