आयकर विभाग

आयकर विभाग ने लॉन्च किया नया ई-फाइलिंग पोर्टल

आयकर विभाग (Income Tax Department) ने 7 जून, 2021 को अपना नया ई-फाइलिंग पोर्टल http://www.incometax.gov.in लॉन्च किया। गौरतलब है कि इससे पहले ई-फाइलिंग के लिए http://www.incometaxindiaefiling.gov.in पोर्टल का उपयोग किया जाता था। अब से इस नए ई-फाइलिंग पोर्टल के माध्यम से लोग अपना आयकर फाइल कर सकेंगे। मुख्य बिंदु इस नए ई-फाइलिंग पोर्टल का उद्देश्य

Month:

आयकर विभाग लॉन्च करेगा नया ई-फाइलिंग पोर्टल

आयकर विभाग (Income Tax Department) 7 जून, 2021 को अपना नया ई-फाइलिंग पोर्टल http://www.incometax.gov.in लॉन्च करने जा रहा। गौरतलब है कि इससे पहले ई-फाइलिंग के लिए http://www.incometaxindiaefiling.gov.in पोर्टल का उपयोग किया जाता था। अब से इस नए ई-फाइलिंग पोर्टल के माध्यम से लोग अपना आयकर फाइल कर सकेंगे। मुख्य बिंदु इस नए ई-फाइलिंग पोर्टल का

Month:

केंद्र सरकार ने 2021-22 के लिए आयकर रिटर्न प्रस्तुत करने की समय सीमा बढ़ाई

हाल ही में केंद्र सरकार ने आकलन वर्ष 2021-22 के लिए आयकर रिटर्न प्रस्तुत करने की समय सीमा को 31 जुलाई से बढ़ाकर 30 सितंबर, 2021 कर दिया है। केंद्र सरकार द्वारा यह निर्णय कोविड -19 महामारी से उत्पन्न हालातों के मद्देनजर लिया गया है। मुख्य बिंदु इसके अलावा केंद्र सरकार ने आकलन वर्ष 2021-2022

Month:

आयकर विभाग नया ई-फाइलिंग पोर्टल लॉन्च करेगा

आयकर विभाग (Income Tax Department) 7 जून तारीख को अपना नया ई-फाइलिंग पोर्टल www.incometax.gov.in लॉन्च करेगा। गौरतलब है कि इससे पहले ई-फाइलिंग के लिए http://www.incometaxindiaefiling.gov.in पोर्टल का उपयोग किया जाता था। मुख्य बिंदु इस नए ई-फाइलिंग पोर्टल का उद्देश्य करदाताओं को सुविधा और आधुनिक, निर्बाध अनुभव प्रदान करना है। करदाताओं को त्वरित रिफंड जारी करने के लिए यह  पोर्टल आयकर

Month:

आयकर रिटर्न फाइल करने की तारीख को आगे बढ़ाया गया

केंद्र सरकार ने आयकर रिटर्न फाइल करने की तारीख को आगे बढ़ा दिया है। करदाता अब 10 जनवरी, 2021 तक  आयकर रिटर्न फाइल कर सकते हैं। जबकि 2019-20 की अवधि के लिए कंपनियों के लिए कर फाइलिंग की तारीख को 15 फरवरी, 2021 तक बढ़ाया गया है। मुख्य बिंदु इससे पहले, आयकर रिटर्न दाखिल करने

Month:

आयकर विभाग ने ‘झटपट प्रोसेसिंग’ पहल लांच की

हाल ही में आयकर विभाग ने ‘झटपट प्रोसेसिंग’ नामक एक पहल शुरू की है। इस पहल का उद्देश्य करदाताओं के लिए आईटीआर फाइलिंग को आसान और तेज़ बनाना है। मुख्य बिंदु यह पहल उन करदाताओं के लिए है जिनके बैंक खाते प्री-वेलिडेटिड हैं और आईटीआर वेरीफाईड है। इसके अलावा, करदाताओं का कोई बकाया नहीं होना

Month:

Advertisement