आर्कटिक LNG-2

कोयले की कमी से निपटने में भारत की मदद करेगा रूस

भारत और रूस ने खनन और इस्पात क्षेत्र में सहयोग करने के लिए एक समझौता ज्ञापन (MoU) पर हस्ताक्षर किए हैं। मुख्य बिंदु  केंद्रीय इस्पात मंत्री राम चंद्र प्रसाद और रूस के ऊर्जा मंत्री निकोले शुलगिनोव के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए। यह समझौता ज्ञापन विशेष रूप से कोकिंग पर केंद्रित है इस

Month:

Advertisement