इसरो

इसरो ने PSLV-C54 से नौ उपग्रह लांच किए

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने ध्रुवीय उपग्रह प्रक्षेपण यान (PSLV-C54) का उपयोग करके नौ उपग्रहों को कई कक्षाओं में स्थापित करने में सफलता प्राप्त की है। मुख्य बिंदु  इस मिशन के दौरान अर्थ ऑब्जर्वेशन सैटेलाइट (EOS-06) और 8 नैनोसैटेलाइट लॉन्च किए गए। अर्थ ऑब्जर्वेशन सैटेलाइट-6 (EOS-6) क्या है? अर्थ ऑब्जर्वेशन सैटेलाइट-6 (EOS-6) महासागरों की

Month:

ISRO ने Inflatable Aerodynamic Decelerator का परीक्षण किया

हाल ही में, भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने Inflatable Aerodynamic Decelerator (IAD) टेक्नोलॉजी का सफलतापूर्वक परीक्षण किया है जो इस्तेमाल किए गए रॉकेट चरणों और भूमि पेलोड की लागत प्रभावी रिकवरी में सहायता कर सकती है। Inflatable Aerodynamic Decelerator (IAD) Inflatable Aerodynamic Decelerator को विक्रम साराभाई स्पेस सेंटर (VSSC) द्वारा डिजाइन और विकसित किया

Month:

आज़ादी सैट (AzaadiSAT) : अंतरिक्ष में इसरो का सबसे छोटा रॉकेट

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) 7 अगस्त, 2022 को ‘आज़ादी सैट’ ले जाने वाले अपने सबसे छोटे वाणिज्यिक रॉकेट ‘स्मॉल सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल (SSLV)’ को लॉन्च करेगा। इसे अंतरिक्ष में तिरंगा फहराने के लिए लॉन्च किया जाएगा। इसे सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र, श्रीहरिकोटा से लॉन्च किया जाएगा। मुख्य बिंदु भारत के ‘आज़ादी का अमृत महोत्सव’

Month:

Mission Gaganyaan : इसरो ने सॉलिड रॉकेट बूस्टर HS-200 का परीक्षण किया

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने हाल ही में HS200 सॉलिड रॉकेट बूस्टर का सफल परीक्षण किया है। यह परीक्षण कहाँ आयोजित किया गया? यह परीक्षण सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र, श्रीहरिकोटा (आंध्र प्रदेश) में किया गया था। HS200 सॉलिड रॉकेट बूस्टर क्या है? यह S200 रॉकेट बूस्टर का मानव-रेटेड संस्करण है। दो HS200 बूस्टर जियोसिंक्रोनस सैटेलाइट

Month:

2024 में इसरो (ISRO) शुक्र ग्रह के लिए मिशन लांच करेगा

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) दिसंबर 2024 में शुक्र के लिए एक अंतरिक्ष यान लॉन्च करने  की योजना बना रहा है। इसरो के शुक्र मिशन के उद्देश्य क्या हैं? शुक्र की सतह के नीचे क्या है इसका अध्ययन करना। शुक्र के वातावरण का अध्ययन करना। इसरो द्वारा शुक्र मिशन के तहत किन प्रयोगों की योजना

Month:

INSPIRESat-1 उपग्रह के लांच के लिए पहली बार इसरो के साथ शामिल हुए ताइवान के वैज्ञानिक

14 फरवरी, 2022 को भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने “INSPIRESat-1” नामक एक उपग्रह लॉन्च किया। INSPIRESat-1 का विकास किसने किया? INSPIRESat-1 को संयुक्त रूप से भारत, अमेरिका, ताइवान और सिंगापुर के विश्वविद्यालयों सहित अंतरराष्ट्रीय शोधकर्ताओं की टीम द्वारा विकसित किया गया है। इसके विकास में कौन से विश्वविद्यालय विकास में शामिल हैं? इन विश्वविद्यालयों

Month:

Advertisement