ओडिशा

ओडिशा ने लांच किया मास्क अभियान (Mask Abhiyan)

ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने हाल ही में COVID-19 के प्रसार को रोकने के लिए 14 दिनों का “मास्क अभियान” लांच किया है। मास्क अभियान इस पहल का मुख्य उद्देश्य मास्क के उपयोग को एक आदत में बदलना है। यह COVID-19 की वर्तमान वृद्धि को नियंत्रित करने में बहुत बड़ी भूमिका निभाएगा। साथ ही, ओडिशा राज्य

Month:

महेंद्रगिरी (Mahendragiri) : ओडिशा का दूसरा बायोस्फीयर रिजर्व

ओडिशा राज्य सरकार ने महेंद्रगिरी (Mahendragiri) को राज्य के दूसरे बायोस्फीयर रिजर्व के रूप में प्रस्तावित किया है। यह राज्य के गजपति जिले में एक पर्वत है। यह 1,501 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। महेंद्रगिरी राज्य की दूसरी सबसे ऊंची चोटी भी है। मुख्य बिंदु राज्य के प्रस्तावित दूसरे बायोस्फीयर रिजर्व (Mahendragiri Biosphere Reserve) महेंद्रगिरी का क्षेत्रफल

Month:

1 अप्रैल: ओडिशा राज्य दिवस (Odisha Statehood Day or Utkala Dibasa)

हर साल, ओडिशा राज्य 1 अप्रैल को उत्कल दिवस (Utkala Dibasa) मनाता है। इस उत्सव की परंपरा को 84 वर्षों से मनाया जा रहा है। ओडिशा देश का नौवां सबसे बड़ा राज्य है, यह खनिज संसाधनों से समृद्ध है। यह पूरे देश में फैले कई उद्योगों को कच्चे माल जैसे कोयला, लौह अयस्क का प्रमुख आपूर्तिकर्ता है। मुख्य

Month:

ओडिशा सरकार जिला निवेश प्रोत्साहन एजेंसियों (DIPA) की स्थापना करेगी

ओडिशा राज्य ने राज्य के 30 जिलों में समर्पित “जिला निवेश संवर्धन एजेंसियां” (District Investment Promotion Agencies – DIPA) स्थापित करने का निर्णय लिया है। DIPA राज्य में निवेश को बढ़ावा देने और उसे सुविधाजनक बनाने में मदद करेगी। महत्व ओडिशा राज्य ने पिछले दो दशकों में महत्वपूर्ण औद्योगिक विकास दर्ज किया है। निवेश में इस बड़े

Month:

सिमलीपाल टाइगर रिज़र्व में भयानक आग लगी

ओडिशा में सिमलीपाल टाइगर रिजर्व हाल ही में बड़े पैमाने पर आग लगी है। = सिमलीपाल टाइगर रिजर्व यह एक बाघ अभयारण्य है जो ओडिशा के मयूरभंज जिले में स्थित है। इसका नाम सिमुल वृक्ष (रेशम के पेड़) पर रखा गया है। इसमें 5,569 वर्ग किमी का क्षेत्र शामिल है। इस रिजर्व को भारत सरकार द्वारा जून 1994

Month:

5 राज्यों को अतिरिक्त NDRF सहायता जारी की गई

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की अध्यक्षता वाली एक उच्च-स्तरीय समिति ने पिछले साल भूस्खलन और बाढ़ से हुए नुकसान के लिए 5 राज्यों को 1,751.05 करोड़ रुपये की अतिरिक्त केंद्रीय सहायता को मंज़ूरी दी है। मुख्य बिंदु केंद्र द्वारा अतिरिक्त सहायता के लिए जिन पांच राज्यों को चुना गया है, वे हैं- अरुणाचल प्रदेश,

Month:

2 / 3123

Advertisement