कोविड-19 टीकाकरण

भारत में कोविड-19 टीकाकरण का आंकड़ा 34 करोड़ के पार पहुँचा

भारत में अब तक 34 करोड़ से अधिक लोगों को कोविड-19 वैक्सीन की खुराक दी जा चुकी है। पिछले 24 घंटों में 43,60,000 लोगों को टीका लगाया गया है। गौरतलब है कि बिहार, दिल्ली, गुजरात, हरियाणा, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान, तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल में 18-44 आयुवर्ग के 10 लाख से अधिक लोगों

Month:

भारत में कोविड-19 टीकाकरण का आंकड़ा 30 करोड़ के पार पहुँचा

भारत में अब तक 30 करोड़ से अधिक लोगों को कोविड-19 वैक्सीन की खुराक दी जा चुकी है। गौरतलब है कि बिहार, दिल्ली, गुजरात, हरियाणा, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान, तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल में 18-44 आयुवर्ग के 10 लाख से अधिक लोगों को कोविड वैक्सीन के पहली डोज़ दी जा चुकी है। टीकाकरण

Month:

20 से अधिक देशों ने भारत के Co-Win प्लेटफार्म में दिखाई रुचि, जानिए क्या है Co-Win

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने हाल ही में कहा है कि टीकाकरण अभियान से 20 से ज्यादा देशों ने भारत के Co-Win प्लेटफार्म में रुचि दिखाई है। इसे देखते हुए भारत 30 जून को Co-Win की सफलता के कहानी को एक कांफ्रेंस के माध्यम से साझा करेगा। मुख्य बिंदु कोविड-19 टीकाकरण के लिए पंजीकरण

Month:

एक ही दिन में 86 लाख कोविड-19 टीके लगाकर भारत ने बनाया रिकॉर्ड

21 जून, 2021 को भारत ने एक ही दिन में 86,16,373 कोविड-19 टीके लगाकर रिकॉर्ड बना दिया है, इसके साथ ही देश में कुल टीकाकरण का आंकड़ा 28 करोड़ 87 लाख तक पहुँच गया है। भारत के इस रिकॉर्ड टीकाकरण के पैमाने का अनुमान इसी बात से लगाया जा सकता है कि भारत ने मात्र

Month:

भारत में कोविड-19 टीकाकरण का आंकड़ा 25 करोड़ के पार पहुँचा

भारत में अब तक 25 करोड़ से अधिक लोगों को कोविड-19 वैक्सीन की खुराक दी जा चुकी है। कुल मिलाकर देश में 18 से 44 वर्ष के लोगों को 4 करोड़ टीके लगाए जा चुके हैं। गौरतलब है कि बिहार, दिल्ली, गुजरात, हरियाणा, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान, तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल में 18-44

Month:

Co-WIN पंजीकरण के लिए अब UDID ​​कार्ड का इस्तेमाल किया जा सकेगा

केंद्र सरकार ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से Co-WIN 2.0 प्लेटफॉर्म पर पंजीकरण करते समय UDID (Unique Disability Identification) कार्ड को पहचान प्रमाण के रूप में शामिल करने को कहा है। यह एक सुचारू और प्रभावी कोविड -19 टीकाकरण अभियान सुनिश्चित करेगा। UDID ​​की अनुमति क्यों दी गई? दिव्यांग व्यक्तियों को कोविड-19 टीकाकरण तक

Month:

Advertisement