कोविड-19 वैक्सीन

भारत में कोविड-19 टीकाकरण का आंकड़ा 107 करोड़ के पार पहुँचा

भारत में अब तक 107 करोड़ से अधिक लोगों को कोविड-19 वैक्सीन की खुराक दी जा चुकी है। गौरतलब है कि अब तक 73 करोड़ 94 लाख लोगों को कोविड-19 वैक्सीन की एक खुराक दी जा चुकी है। जबकि 33 करोड़ 79 लाख लोगों को दोनों खुराकें दी जा चुकी हैं। टीकाकरण के लिए पंजीकरण

Month:

श्रीलंका ने कोविड वैक्सीन खरीदने के लिए IMF से 10 करोड़ डॉलर का ऋण मांगा

फाइजर कोविड-19 वैक्सीन की 14 मिलियन खुराक की खरीद के लिए श्रीलंका ने अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) से $100 मिलियन के ऋण की मांग है। मुख्य बिंदु  इस ऋण के साथ, श्रीलंका टीकाकरण कार्यक्रम से संबंधित अन्य लागतों को भी वित्तपोषित करेगा। यह प्रस्ताव स्वास्थ्य मंत्री केहेलिया रामबुक्वेला ने रखा था। श्रीलंका को “कोविड -19

Month:

WHO ने कोविड वैक्सीन असमानता को समाप्त करने का आवाहन किया

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने  अक्टूबर से पहले कोविड-19 वैक्सीन असमानता और वैश्विक असंतुलन को समाप्त करने के लिए विश्व नेताओं से आग्रह किया है। मुख्य बिंदु  विकासशील देश कमजोर आबादी का टीकाकरण करने के लिए संघर्ष कर रहे हैं। जबकि धनी देशों में बड़े पैमाने पर लोगों को टीका लगाया जा चुका है। समानता

Month:

भारत ने विदेशी नागरिकों को CoWIN के माध्यम से Covid-19 वैक्सीन प्राप्त करने की अनुमति दी

भारत ने यहां रहने वाले विदेशी नागरिकों को 9 अगस्त, 2021 को CoWIN पोर्टल पर पंजीकरण करके कोविड-19 वैक्सीन प्राप्त करने की अनुमति दी। मुख्य बिंदु  CoWIN पोर्टल पर खुद को पंजीकृत करने के लिए विदेशी अपने पासपोर्ट का उपयोग पहचान दस्तावेज के रूप में कर सकते हैं। इस पोर्टल पर पंजीकरण के बाद उन्हें

Month:

क्यूबा ने दुनिया का पहला संयुग्मित कोविड-19 वैक्सीन विकसित किया

क्यूबा ने दुनिया का पहला संयुग्मित (conjugate) कोविड-19 वैक्सीन सोबराना 2 (Soberana 2) विकसित किया है। मुख्य बिंदु जब सोबराना प्लस के बूस्टर शॉट के साथ सोबराना 2 वैक्सीन दिया जाता है, तो यह रोगसूचक (symptomatic) कोविड-19 मामलों के खिलाफ 91% प्रभावी होता है। अगर इस टीके को मंजूरी मिल जाती है, तो क्यूबा कोविड-19

Month:

AEFI पैनल ने कोविड टीके से जुड़ी पहली मौत की पुष्टि की

राष्ट्रीय AEFI (Adverse Events Following Immunisation) पैनल ने कोविड-19 वैक्सीन से जुड़ी पहली मौत की पुष्टि की है। मार्च में टीका लगाए जाने के बाद 68 वर्षीय एक व्यक्ति को गंभीर एलर्जी की प्रतिक्रिया हुई, जिसकी बाद में उनकी मृत्यु हो गई। मुख्य  बिंदु इस पैनल को कोविड-19 वैक्सीन के दुष्प्रभावों का अध्ययन करने के

Month:

1 / 41234

Advertisement