कोविड

भारत में कोविड टीकाकरण का आंकड़ा 162 करोड़ के पार पहुँचा

भारत में अब तक 162 करोड़ से अधिक लोगों को कोविड-19 वैक्सीन की खुराक दी जा चुकी है। टीकाकरण के लिए पंजीकरण कैसे करवाएं? कोविड-19 टीकाकरण के लिए पंजीकरण Co-WIN पोर्टल (https://www.cowin.gov.in) और आरोग्य सेतु एप्प पर किया जा सकता है। पंजीकरण करने के बाद व्यक्ति को वैक्सीन का स्थान और समय चुनना पड़ता है।

Month:

भारत में कोविड टीकाकरण का आंकड़ा 120 करोड़ के पार पहुँचा

भारत में अब तक 120 करोड़ से अधिक लोगों को कोविड-19 वैक्सीन की खुराक दी जा चुकी है। गौरतलब है कि पिछले 24 घंटों में लगभग 74 लाख लोगों का टीकाकरण करवाया गया है। टीकाकरण के लिए पंजीकरण कैसे करवाएं? कोविड-19 टीकाकरण के लिए पंजीकरण Co-WIN पोर्टल (https://www.cowin.gov.in) और आरोग्य सेतु एप्प पर किया जा

Month:

कोविड: 96 देशों ने भारत के टीकाकरण प्रमाणपत्र को मान्यता दी

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया के अनुसार, 96 देश भारत के कोविड-19 टीकाकरण प्रमाण पत्र को पारस्परिक रूप से मान्यता देने पर सहमत हुए हैं। मुख्य बिंदु  इस मान्यता के साथ, इन देशों से यात्रा करने वाले व्यक्तियों को अंतर्राष्ट्रीय आगमन पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के दिशानिर्देशों में उल्लिखित कुछ छूट प्रदान की जाएगी। सरकार

Month:

कोविड के कारण भारत में जीवन प्रत्याशा (life expectancy) में 2 साल की गिरावट आई : अध्ययन

इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट फॉर पॉपुलेशन स्टडीज (IIPS) के वैज्ञानिकों के अनुसार, कोविड-19 महामारी ने दुनिया भर के लोगों के जीवन को प्रभावित किया है। मुख्य बिंदु वैज्ञानिकों के अनुसार, भारत में, कोविड-19 महामारी के कारण जीवन प्रत्याशा (life expectancy) में लगभग दो वर्षों की गिरावट आई है। यह रिपोर्ट पुरुषों के साथ-साथ महिलाओं में जन्म के

Month:

21 मिलियन लोग कोविड-प्रेरित गरीबी से बाहर निकलेंगे : विश्व बैंक

विश्व बैंक ने 15 सितंबर, 2021 को कोविड से प्रेरित गरीबी के अनुमानों में 21 मिलियन की कटौती की। मुख्य बिंदु  विश्व बैंक ने यह भी चेतावनी दी कि कोविड की पृष्ठभूमि में गरीबों की संख्या अभी भी अभूतपूर्व है। इस अनुमान के निहितार्थ यह हैं कि, वैश्विक गरीबी में गिरावट का अनुमान है। इसके अलावा,

Month:

भारत की पुरानी बीमारी (chronic disease) के बोझ ने कोविड लहर को बढ़ावा दिया

भारत और कैलिफोर्निया के शोधकर्ताओं के अनुसार, भारत में मधुमेह और उच्च रक्तचाप जैसी पुरानी बीमारियों (chronic disease) के उच्च स्तर ने खतरनाक कोरोनावायरस लहर को बढ़ावा दिया। मुख्य बिंदु  कोविड-19 के बड़े पैमाने के अध्ययनों से पता चला है कि, मदुरै के दक्षिणी जिले के रोगियों में चीन, यूरोप, दक्षिण कोरिया और अमेरिका की

Month:

Advertisement