खाद्य और कृषि संगठन

खाद्य और कृषि संगठन ने खाद्य मूल्य सूचकांक जारी किया

खाद्य और कृषि संगठन ने हाल ही में खाद्य मूल्य सूचकांक जारी किया। खाद्य मूल्य सूचकांक दिसंबर 2019 में लगातार सातवें महीने जारी किया गया है।

मुख्य बिंदु

दिसंबर के महीने के लिए खाद्य मूल्य सूचकांक 100 7.5 अंक था। नवंबर महीने के लिए खाद्य मूल्य सूचकांक 105.2 था। खाद्य और कृषि संगठन तिलहन, अनाज, मांस, डेयरी उत्पादों और चीनी के मासिक परिवर्तनों को मापने वाले खाद्य मूल्य सूचकांक की गणना करता है। चीनी के अलावा, सभी प्रमुख श्रेणियों के खाद्यान्नों में लगातार सातवें महीने वृद्धि हुई है।

2020 के लिए, खाद्य मूल्य सूचकांक 97.9 अंक था। इसमे 2019 की तुलना में 3.1% की वृद्धि हुई है।

तेल की कीमतें

पिछले महीने की तुलना में दिसंबर  में वनस्पति तेल की कीमतों में 4.7% की वृद्धि हुई है। यह मूल्य वृद्धि मुख्य रूप से प्रमुख तेल उत्पादक देशों में आपूर्ति प्रतिबंधों के कारण हुई। विशेष रूप से इंडोनेशिया के निर्यात शुल्कों में तेज बढ़ोतरी के कारण पाम आयल का व्यापार प्रभावित हुआ।

अनाज

दिसंबर में अनाज की कीमत में 1.1% की वृद्धि हुई। वर्ष 2020 में अनाज की कीमत में वृद्धि 2019 के स्तर से 6.6% अधिक थी। मुख्य रूप से उत्तर और दक्षिण अमेरिकी देशों के साथ-साथ रूस में भी महंगाई बढ़ने के कारण मुख्य रूप से गेहूं, चावल और मक्का के निर्यात मूल्य बढ़े हैं।

दुग्ध उत्पाद

पिछले महीने की तुलना में दिसंबर 2019 में डेयरी उत्पादों में 3.2% की मूल्य वृद्धि हुई है।

मांस

दिसंबर 2019 के महीने में मांस सूचकांक में 1.7% की वृद्धि हुई। दिसंबर 2019 में पोल्ट्री की कीमतें यूरोप में एवियन इन्फ्लूएंजा के प्रकोप के कारण फिर से बढ़ गईं।

Month:

Advertisement