ग्रीन बॉन्ड

PFC ने लक्जमबर्ग स्टॉक एक्सचेंज पर ग्रीन बांड सूचीबद्ध किये

सरकारी स्वामित्व वाली पावर फाइनेंस कॉरपोरेशन (PFC) ने घोषणा की है कि उसके 300 मिलियन यूरो के पहले ग्रीन बॉन्ड लक्जमबर्ग स्टॉक एक्सचेंज (LSE) में सूचीबद्ध किए गए हैं। आर.एस. ढिल्लों, PFC अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक (सीएमडी) ने गिफ्ट IFSC गुजरात में आयोजित लिस्टिंग समारोह के दौरान घंटी बजाई। लिस्टिंग किस समझौते के तहत की

Month:

सॉवरेन ग्रीन बॉन्ड (Sovereign Green Bonds) क्या हैं?

केंद्रीय बजट प्रस्तुति के दौरान, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन ने “ग्रीन बांड” जारी करने की घोषणा की। ये बांड हरित बुनियादी ढांचे के संसाधनों को जुटाने के लिए जारी किये जायेंगे। ग्रीन बॉन्ड क्या होते हैं? ग्रीन बांड ऋण साधन (debt instruments) हैं। इन बांडों को बेचकर एकत्रित धन को उन परियोजनाओं में निवेश किया जाता

Month:

यूरोपीय संघ ने पहला ग्रीन बॉन्ड जारी किया

यूरोपीय संघ  ने 12 अक्टूबर, 2021 को अपने पहले ग्रीन बॉन्ड के लिए निवेशकों की भारी मांग को आकर्षित किया। मुख्य बिंदु  15 साल के कर्ज की 12 अरब यूरो की बिक्री ने लगभग 135 अरब यूरो के ऑर्डर आकर्षित किए। सितंबर के महीने में यूके के £10 अरब की शुरुआत के बाद, यह सबसे

Month:

Advertisement