जॉनसन एंड जॉनसन

जॉनसन एंड जॉनसन के सिंगल डोज़ वाले टीके को भारत में आपातकालीन उपयोग के लिए मंजूरी दी गई

जॉनसन एंड जॉनसन की एकल-खुराक COVID-19 वैक्सीन को भारत में आपातकालीन उपयोग के लिए मंज़ूरी दी गयी है। इस टीके के साथ, भारत के पास 5 आपातकालीन उपयोग प्राधिकरण (emergency use authorization) वाले टीके हैं। यह कदम COVID-19 के खिलाफ भारत की सामूहिक लड़ाई को और बढ़ावा देगा। जॉनसन एंड जॉनसन COVID-19 वैक्सीन यह वैक्सीन,

Month:

WHO ने वैश्विक उपयोग के लिए चीनी वैक्सीन सिनोवैक (Sinovac) को मंजूरी दी

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने चीन के सिनोवैक बायोटेक लिमिटेड की कोविड -19 वैक्सीन के वैश्विक उपयोग के लिए मंजूरी दे दी है। मुख्य बिंदु WHO ने 18 साल से ऊपर के लोगों के लिए इसके इस्तेमाल की सिफारिश की थी। इसके लिए दो-खुराक निर्धारित की जाएगी, जिसमें शॉट्स के बीच दो से चार सप्ताह

Month:

Biological E भारत में जॉनसन एंड जॉनसन COVID वैक्सीन का निर्माण करेगी

बायोलॉजिकल ई (Biological E) को अपने स्वयं के टीके के साथ जॉनसन एंड जॉनसन COVID-19 वैक्सीन का उत्पादन करेगी। यह देश के समग्र वैक्सीन उत्पादन को बढ़ावा देगा। पृष्ठभूमि पहले क्वाड समिट (Quad Summit) में एक नई वैक्सीन साझेदारी का अनावरण किया गया। भारत, ऑस्ट्रेलिया, अमेरिका और जापान जैसे चार क्वाड देशों ने अपने संसाधनों को

Month:

एडेनोवायरस (Adenovirus) क्या है?

अमेरिकी स्वास्थ्य अधिकारियों ने हाल ही में सिंगल-शॉट जॉनसन एंड जॉनसन COVID-19 वैक्सीन के रोलआउट को रोक दिया है। यह वैक्सीन एस्ट्राज़ेनेका के वैक्सीन की तरह की तकनीक का उपयोग करता है। दोनों टीकों को एडेनोवायरल वैक्टर (adenoviral vectors) से विकसित किया गया है। अमेरिका ने एडेनोवायरस आधारित टीकों को क्यों रोका? अमेरिका में लगभग

Month:

अमेरिका में सिंगल-शॉट COVID-19 वैक्सीन को मंजूरी दी गयी

अमेरिकी खाद्य एवं औषधि प्रशासन (एफडीए) ने सिंगल-शॉट जॉनसन एंड जॉनसन कोविड-19 वैक्सीन के लिए अपनी मंजूरी दे दी है। यह तीसरा टीका है जिसे अमेरिका में अधिकृत किया गया है। मुख्य बिंदु यह फाइजर और मॉडर्ना टीकों का एक लागत प्रभावी वैकल्पिक वैक्सीन है। इस टीके को फ्रीजर की बजाय फ्रिज में स्टोर किया जा सकता

Month:

यूनाइटेड किंगडम ने फाइज़र कोविड-19 वैक्सीन को मंज़ूरी दी

यूके Pfizer Inc द्वारा विकसित कोविड-19 वैक्सीन को मंजूरी देने वाला पहला देश बन गया, इस वैक्सीन का निर्माण BioNTT SE नामक जर्मन कंपनी के साथ मिलकर किया गया है। ब्रिटिश सरकार के एक बयान के अनुसार, यह टीका अगले सप्ताह से ब्रिटेन में उपलब्ध होगा। इसके कोरोनवायरस को रोकने के वैश्विक प्रयास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने

Month:

Advertisement