नागालैंड

AFSPA (Armed Forces Special Powers Act) क्या है?

हाल ही में AFSPA (Armed Forces Special Powers Act) सुर्ख़ियों में था। दरअसल, केंद्र सरकार ने नागालैंड को अशांत क्षेत्र घोषित करते हुए सशस्त्र बल (विशेष शक्तियां) अधिनियम, 1958 (AFSPA) को नागालैंड में 6 महीने के लिए बढ़ाया है। सशस्त्र बल (विशेष शक्तियां) अधिनियम, 1958 (AFSPA) AFSPA को 1958 में लागू किया गया था, इसका

Month:

नागालैंड में 6 महीने के लिए AFSPA को बढ़ाया गया

केंद्र सरकार ने नागालैंड को अशांत क्षेत्र घोषित करते हुए सशस्त्र बल (विशेष शक्तियां) अधिनियम, 1958 (AFSPA) को नागालैंड में 6 महीने के लिए बढ़ाया है। सशस्त्र बल (विशेष शक्तियां) अधिनियम, 1958 (AFSPA) AFSPA को 1958 में लागू किया गया था, इसका उपयोग अशांत घोषित किये गये क्षेत्रों में किया जाता है। इस अधिनियम के

Month:

जीएसटी क्षतिपूर्ति कमी को पूरा करने के लिए नौवीं किस्त जारी की गयी

हाल ही में केंद्र सरकार ने राज्यों को जीएसटी मुआवजा भुगतान की 9वीं किस्त जारी की है। यह किस्त 6,000 करोड़ रुपये की है। मुख्य बिंदु अब तक, राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को कुल 1.1 लाख करोड़ रुपये में से 54,000 करोड़ रुपये प्राप्त हुए हैं। इस वित्तीय वर्ष में  केंद्र सरकार 1.1 लाख करोड़

Month:

नितिन गडकरी ने नागालैंड में 15 राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं की आधारशिला रखी

केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से नागालैंड में 15 राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं की आधारशिला रखी। केंद्रीय मंत्री ने दीमापुर सिटी NH-39 के हिस्से के सुधार का भी उद्घाटन किया। राज्य में 15 राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं की कुल लागत 4,127 करोड़ रुपये से अधिक है, इन राजमार्गों की कुल लंबाई

Month:

आज नागालैंड मना रहा है अपना 58वां राज्यत्व दिवस

नागालैंड आज अपना 58वां राज्यत्व दिवस मना रहा है। 1 दिसंबर, 1963 को नागालैंड भारत का 16 वाँ राज्य बना था। इस राज्य का औपचारिक उद्घाटन भारत के तत्कालीन राष्ट्रपति डॉ. एस राधाकृष्णन द्वारा किया गया था। राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने नागालैंड के लोगों को उनके राज्य दिवस पर शुभकामनाएं दी हैं। नागालैंड के राज्यत्व दिवस के

Month:

आज से शुरू हो रहा है हॉर्नबिल फेस्टिवल, जानिए कहाँ और क्यों मनाया जाता है यह फेस्टिवल?

हॉर्नबिल फेस्टिवल, जिसे ‘त्योहारों का त्योहार’ कहा जाता है, नागालैंड का 10 दिवसीय वार्षिक सांस्कृतिक उत्सव है जो लोक नृत्यों, पारंपरिक संगीत, स्थानीय व्यंजन, हस्तशिल्प, कला कार्यशालाओं आदि के माध्यम से समृद्ध और विविध नागा संस्कृति को प्रदर्शित करता है। मुख्य बिंदु पहली बार इस फेस्टिवल के 21वें संस्करण का आयोजन  1 दिसंबर से 5

Month:

Advertisement