नेपाल

नेपाल के सर्वोच्च न्यायालय ने सरकार द्वारा भंग संसद को बहाल किया

नेपाल के सर्वोच्च न्यायालय ने भंग की गयी प्रतिनिधि सभा को बहाल कर दिया है। मुख्य न्यायाधीश चोलेंद्र शमशेर राणा के नेतृत्व में पांच सदस्यीय संवैधानिक पीठ ने 20 दिसंबर 2020 को प्रतिनिधि सभा को भंग करने के सरकार के फैसले को रद्द कर दिया। इससे पहले नेपाल की राष्ट्रपति बिध्या देवी भंडारी ने संसद को भंग कर दिया था और अप्रैल-मई, 2021 में मध्यावधि चुनाव की घोषणा की थी।

भारत-नेपाल

  • भारत नेपाल का सबसे बड़ा व्यापारिक भागीदार है। इसके अलावा, भारत नेपाल में सबसे बड़े विदेशी निवेश का स्रोत है।
  • भारत की गोरखा रेजिमेंट में नेपाल के पहाड़ी जिलों से युवाओं को भर्ती से किया जाता है।
  • सूर्य किरण भारत और नेपाल के बीच एक संयुक्त सैन्य अभ्यास है।
  • भारत और नेपाल का कालापानी क्षेत्र पर सीमा विवाद है। हाल ही में नेपाल सरकार ने कालापानी, लिपुलेख और लिम्पियाधुरा को अपने देश के नए नक्शे में शामिल करने की मंजूरी दी। यह अब देशों के बीच प्रमुख अड़चन बन गया है।
  • भारत नेपाल के साथ कई बहुपक्षीय मंच साझा करता है। वे BIMSTEC (Bay of Bengal Initiative for Multi Sectoral Technical and Economic Cooperation), SAARC (South Asian Association for Regional Cooperation), NAM (Non-aligned Movement), BBIN (Bangladesh, Bhutan, India and Nepal) हैं।
  • भारत और नेपाल ने काठमांडू-वाराणसी, जनकपुर-अयोध्या और लुम्बिनी-बोधगया नामक तीन सिस्टर-सिटीज समझौतों पर हस्ताक्षर किए हैं।
  • नेपाल एक नाजुक पारिस्थितिक क्षेत्र में है जो भूकंप और बाढ़ से ग्रस्त है।इससे धन और जीवन के संदर्भ में बड़े पैमाने पर क्षति होती है। नेपाल मानवीय सहायता का सबसे बड़ा प्राप्तकर्ता है।

Month:

बांग्लादेश ने गिद्ध के लिए विषैली दवाओं पर प्रतिबंध लगाया

बांग्लादेश ऐसा पहला देश बन गया है जिसने दर्द निवारक किटोप्रोफेन पर प्रतिबंध लगा दिया है। मवेशियों के इलाज के लिए इस दर्द निवारक दवा का व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है। लेकिन यह दर्द निवारक दवा गिद्धों के लिए विषैली है।

मुख्य बिंदु

  • इससे पहले, कुछ 10 साल पहले डाइक्लोफेनाक पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया था।
  • विश्व स्तर पर संकटग्रस्त गिद्धों की शेष आबादी को बचाने के लिए यह एक ऐतिहासिक कदम है।
  • विशेषज्ञों का कहना है, गिद्धों की आबादी को बचाने के लिए भारत, पाकिस्तान, नेपाल और कंबोडिया द्वारा इसी तरह के कदम उठाए जाने की आवश्यकता है।

Saving Asia’s Vultures from Extinction (SAVE) की रिपोर्ट में कहा गया है कि केटोप्रोफेन को व्यापक रूप से बांग्लादेश में एक मुख्य एंटी-इंफ्लेमेटरी दवा के रूप में उपयोग किया जाता है। लेकिन, नॉन-स्टेरायडल एंटी-इंफ्लेमेटरी ड्रग्स (NSAID) जैसे डाइक्लोफेनाक और केटोप्रोफेन दक्षिण एशिया के गिद्धों के लिए एक बड़ा खतरा हैं।

अन्य देशों द्वारा उठाए गए कदम

भारत सरकार ने वर्ष 2006 में पशु चिकित्सा उद्देश्य के लिए डाइक्लोफेनाक के उपयोग पर प्रतिबंध लगा दिया था। हालांकि, यह कदम उतना प्रभावी नहीं है, क्योंकि अन्य जहरीली दवाएं उपयोग में हैं। दिसंबर 2020 में, ओमान अरब प्रायद्वीप में पहला देश बन गया, जहां गिद्धों जैसे लुप्तप्राय प्रजातियों के संरक्षण के लिए डाइक्लोफेनाक के पशु चिकित्सा उपयोग पर प्रतिबंध लगा दिया गया।

भारतीय गिद्ध

इस गिद्ध का वैज्ञानिक नाम जिप्सस इंडिकस है। यह गिद्ध भारत, पाकिस्तान और नेपाल में पाया जाता है। यह मध्य और प्रायद्वीपीय भारत के पहाड़ी क्षेत्रों में प्रजनन करता है। गिद्धों की नौ भारतीय प्रजातियों में से तीन की जनसंख्या में 90 प्रतिशत की गिरावट आई है। यह, गिद्ध 2002 के बाद से IUCN रेड लिस्ट में गंभीर रूप से संकटग्रस्त के रूप में सूचीबद्ध किया गया था।

Month:

नेपाल के प्रधानमंत्री ओली को सत्तारूढ़ नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी से निष्काषित किया गया

नेपाल के प्रधानमंत्री के.पी. शर्मा ओली को सत्तारूढ़ नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है। संसद भंग करने के अपने फैसले के बाद उन्हें पार्टी से निकाल दिया गया है।

मुख्य बिंदु 

  • पार्टी के विशाल समूह का नेतृत्व पूर्व प्रधानमंत्रियों पुष्प कमल दहल और माधव कुमार ने किया था।
  • दोनों सदस्यों ने पहले पीएम ओली से अपने असंवैधानिक फैसलों के लिए स्पष्टीकरण मांगा था। उन्होंने स्पष्टीकरण मांगने के लिए पत्र भी भेजा था। लेकिन पीएम ओली इसका जवाब देने में नाकाम रहे।

पृष्ठभूमि

  • प्रधानमंत्री ओली ने 20 दिसंबर, 2020 को संसद के विघटन के लिए सिफारिश की थी। उन्होंने सत्ता के लिए पूर्व पीएम पुष्प कमल दहल प्रचंड के साथ संघर्ष के बाद यह निर्णय लिया था।
  • इसके बाद नेपाल की राष्ट्रपति बिध्या देवी भंडारी ने प्रधानमंत्री की सिफारिशों को स्वीकार कर लिया था। और इस प्रकार, संसद भंग कर दी गई।
  • संसद के चुनाव अब 30 अप्रैल और 10 मई 2021 को आयोजित किये जायेंगे।

नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी

यह नेपाल में सत्तारूढ़ राजनीतिक दल है। इस पार्टी को दक्षिण एशिया में सबसे बड़ी कम्युनिस्ट पार्टी माना जाता है। इस पार्टी की स्थापना 17 मई, 2018 को हुई थी। इसका गठन दो वामपंथी दलों अर्थात् नेपाल की कम्युनिस्ट पार्टी (एकीकृत मार्क्सवादी-लेनिनवादी) और कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ़ नेपाल (माओवादी सेंटर) के एकीकरण के बाद हुआ था। यह पार्टी हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव और नेशनल असेंबली में सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी है।  नेपाल के पूर्व प्रधानमंत्री पुष्प कमल दहल वर्तमान में पीएम ओली के निष्कासित होने के बाद अकेले पार्टी के अध्यक्ष के रूप में कार्य कर रहे हैं। पीएम ओली को हटाए जाने के बाद एनसीपी दो हिस्सों में बंट गई है।

Month:

नेपाल की संसद हुई भंग, अप्रैल 2021 में होंगे नए चुनाव

नेपाल की कैबिनेट ने हाल ही में संसद को भंग कर दिया है, इससे पहले रविवार को प्रधानमंत्री के.पी. ओली ने कैबिनेट की आपातकालीन बैठक बुलाई थी। दरअसल पिछले कुछ समय से नेपाल की सत्ताधारी साम्यवादी पार्टी में काफी काफी द्वन्द चला हुआ है।

नेपाल की राष्ट्रपति बिद्या देवी भंडारी ने इस प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया है। इसके बाद नेपाल की राष्ट्रपति ने घोषणा की कि देश में अगले वर्ष 30 अप्रैल से 10 मई के बीच चुनाव करवाए जायेंगे। नेपाल की संसद को संविधान के अनुच्छेद 76 और 85 के तहत भंग किया गया है।

भारत-नेपाल

  • भारत नेपाल का सबसे बड़ा व्यापारिक भागीदार है। इसके अलावा, भारत नेपाल में सबसे बड़े विदेशी निवेश का स्रोत है।
  • भारत की गोरखा रेजिमेंट में नेपाल के पहाड़ी जिलों से युवाओं को भर्ती से किया जाता है।
  • सूर्य किरण भारत और नेपाल के बीच एक संयुक्त सैन्य अभ्यास है।
  • भारत और नेपाल का कालापानी क्षेत्र पर सीमा विवाद है। हाल ही में नेपाल सरकार ने कालापानी, लिपुलेख और लिम्पियाधुरा को अपने देश के नए नक्शे में शामिल करने की मंजूरी दी। यह अब देशों के बीच प्रमुख अड़चन बन गया है।
  • भारत नेपाल के साथ कई बहुपक्षीय मंच साझा करता है। वे BIMSTEC (Bay of Bengal Initiative for Multi Sectoral Technical and Economic Cooperation), SAARC (South Asian Association for Regional Cooperation), NAM (Non-aligned Movement), BBIN (Bangladesh, Bhutan, India and Nepal) हैं।
  • भारत और नेपाल ने काठमांडू-वाराणसी, जनकपुर-अयोध्या और लुम्बिनी-बोधगया नामक तीन सिस्टर-सिटीज समझौतों पर हस्ताक्षर किए हैं।
  • नेपाल एक नाजुक पारिस्थितिक क्षेत्र में है जो भूकंप और बाढ़ से ग्रस्त है।इससे धन और जीवन के संदर्भ में बड़े पैमाने पर क्षति होती है। नेपाल मानवीय सहायता का सबसे बड़ा प्राप्तकर्ता है।

 

Month:

नेपाल में 3165 मीटर ऊंचाई पर बाघ को देखा गया

हाल ही में नेपाल में वन अधिकारियों ने समुद्र तल से 3,165 मीटर की ऊंचाई पर एक रॉयल बंगाल टाइगर को देखा है। यह एक दुर्लभ और असामान्य घटना है।

मुख्य बिंदु

यह पहली बार है जब बाघ को इतनी अधिक ऊंचाई पर देखा गया है। इस असामान्य दृश्य ने जलवायु परिवर्तन और वन्यजीवों के निवास स्थान पर ग्लोबल वार्मिंग के प्रभाव को हाईलाइट किया है। नेपाल के वन विभाग ने कहा है कि इतनी अधिक ऊंचाई पर बाघ के देखे जाने से संकेत मिलता है कि पूर्वी नेपाल के कंचनजंगा लैंडस्केप पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है।

यह जंगल भारत के उत्तर बंगाल में दूआर, सिंगालिया नेशनल पार्क, उत्तरी सिक्किम को कनेक्टिविटी प्रदान करता है।

ग्लोबल वार्मिंग का प्रभाव

बांग्लादेश और ऑस्ट्रेलियाई के शोधकर्ताओं द्वारा किए गए एक अध्ययन से संकेत मिलता है कि लगातार बढ़ती ग्लोबल वार्मिंग के कारण सुंदरबन के मैंग्रोव में बाघों को खतरा उत्पन्न हो सकता है। समुद्र का जल स्तर बढ़ने के कारण कम से कम 50 साल बाद लगभग 2070 के आसपास ऐसा हो सकता है।

अध्ययन से पता चलता है कि, सुंदरबन मैंग्रोव पारिस्थितिकी तंत्र, जो भारत और बांग्लादेश में स्थित है, समुद्र के बढ़ते स्तर के कारण वर्ष 2100 तक वन क्षेत्र को काफी नुकसान होगा। इंटरगवर्नमेंटल पैनल ऑन क्लाइमेट चेंज (आईपीसीसी) ने भविष्यवाणी की है कि ग्रीनहाउस गैस सांद्रता बढ़ने के कारण समुद्र का स्तर बढ़ रहा है।

Month:

2 / 212

Advertisement