पाकिस्तान

बांग्लादेश ने गिद्ध के लिए विषैली दवाओं पर प्रतिबंध लगाया

बांग्लादेश ऐसा पहला देश बन गया है जिसने दर्द निवारक किटोप्रोफेन पर प्रतिबंध लगा दिया है। मवेशियों के इलाज के लिए इस दर्द निवारक दवा का व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है। लेकिन यह दर्द निवारक दवा गिद्धों के लिए विषैली है।

मुख्य बिंदु

  • इससे पहले, कुछ 10 साल पहले डाइक्लोफेनाक पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया था।
  • विश्व स्तर पर संकटग्रस्त गिद्धों की शेष आबादी को बचाने के लिए यह एक ऐतिहासिक कदम है।
  • विशेषज्ञों का कहना है, गिद्धों की आबादी को बचाने के लिए भारत, पाकिस्तान, नेपाल और कंबोडिया द्वारा इसी तरह के कदम उठाए जाने की आवश्यकता है।

Saving Asia’s Vultures from Extinction (SAVE) की रिपोर्ट में कहा गया है कि केटोप्रोफेन को व्यापक रूप से बांग्लादेश में एक मुख्य एंटी-इंफ्लेमेटरी दवा के रूप में उपयोग किया जाता है। लेकिन, नॉन-स्टेरायडल एंटी-इंफ्लेमेटरी ड्रग्स (NSAID) जैसे डाइक्लोफेनाक और केटोप्रोफेन दक्षिण एशिया के गिद्धों के लिए एक बड़ा खतरा हैं।

अन्य देशों द्वारा उठाए गए कदम

भारत सरकार ने वर्ष 2006 में पशु चिकित्सा उद्देश्य के लिए डाइक्लोफेनाक के उपयोग पर प्रतिबंध लगा दिया था। हालांकि, यह कदम उतना प्रभावी नहीं है, क्योंकि अन्य जहरीली दवाएं उपयोग में हैं। दिसंबर 2020 में, ओमान अरब प्रायद्वीप में पहला देश बन गया, जहां गिद्धों जैसे लुप्तप्राय प्रजातियों के संरक्षण के लिए डाइक्लोफेनाक के पशु चिकित्सा उपयोग पर प्रतिबंध लगा दिया गया।

भारतीय गिद्ध

इस गिद्ध का वैज्ञानिक नाम जिप्सस इंडिकस है। यह गिद्ध भारत, पाकिस्तान और नेपाल में पाया जाता है। यह मध्य और प्रायद्वीपीय भारत के पहाड़ी क्षेत्रों में प्रजनन करता है। गिद्धों की नौ भारतीय प्रजातियों में से तीन की जनसंख्या में 90 प्रतिशत की गिरावट आई है। यह, गिद्ध 2002 के बाद से IUCN रेड लिस्ट में गंभीर रूप से संकटग्रस्त के रूप में सूचीबद्ध किया गया था।

Month:

भारत सार्क की वर्चुअल बैठक की मेजबानी करेगा

भारत दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन (सार्क) के सदस्य देशों के साथ वर्चुअल स्वास्थ्य सचिव स्तर की बैठक की मेजबानी करेगा। यह बैठक 18 फरवरी, 2021 को आयोजित की जाएगी। इस बैठक के दौरान सदस्य देश COVID-19 संकट पर चर्चा करेंगे। इस बैठक में भाग लेने के लिए पाकिस्तान को भी आमंत्रित किया गया है।

मुख्य बिंदु

  • इस बैठक COVID-19 प्रबंधन और महामारी की प्रतिक्रिया से जुड़ी चुनौतियों पर चर्चा की जाएगी।
  • सदस्य देश महामारी के संबंध में सर्वोत्तम प्रथाओं का आदान-प्रदान करेंगे।

पृष्ठभूमि

मार्च 2020 में सार्क क्षेत्र के राष्ट्राध्यक्षों के एक वीडियो सम्मेलन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोनावायरस आपातकालीन निधि COVID-19 संकट का भी प्रस्ताव किया था।

कोरोनावायरस इमरजेंसी फंड

  • COVID-19 महामारी की प्रतिक्रिया के लिए SAARC सदस्यों द्वारा कोरोनावायरस आपातकालीन निधि की स्थापना की गई थी।
  • दक्षिण एशियाई क्षेत्र में COVID-19 महामारी से जुड़े जोखिमों को कम करने के उद्देश्य से यह आपातकालीन निधि बनाई गई थी।
  • भारत ने निधि के लिए 10 मिलियन का योगदान करने का प्रस्ताव दिया था।
  • सार्क के अन्य सदस्य देशों ने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा प्रस्तावित फंड बनाने के इस कदम का समर्थन किया।

पड़ोसियों को भारत का समर्थन

भारत COVID-19 महामारी के खिलाफ लड़ाई में सबसे आगे है। भारत सबसे ज्यादा टीकाकरण करने वाला देश बनकर उभरा है। इसलिए, भारत स्वदेशी रूप से विकसित COVID-19 टीकों को उपहार के रूप में या वाणिज्यिक रूप से देशों को उपलब्ध कराने में भी सबसे आगे है। भारत ने हाल ही में अफगानिस्तान को COVID-19 टीकों की पांच लाख खुराक, बांग्लादेश को 20 लाख खुराक, म्यांमार को 17 लाख खुराक, श्रीलंका को पांच लाख खुराक, भूटान को 1.5 लाख खुराक, मॉरीशस और मालदीव के प्रत्येक को एक लाख खुराक का तोहफा दिया है।

सार्क

दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन (सार्क) समूह में पाकिस्तान, बांग्लादेश, अफगानिस्तान, मालदीव, भूटान, श्रीलंका और नेपाल जैसे देश शामिल हैं। इसकी स्थापना 8 दिसंबर 1985 को हुई थी। इसका मुख्यालय काठमांडू, नेपाल में है।

Month:

पाकिस्तान ने नई सतह से सतह पर मार करने वाली बैलिस्टिक मिसाइल गजनवी का परीक्षण किया

पाकिस्तान ने 3 फरवरी, 2021 को एक परमाणु-सक्षम सतह से सतह पर मार करने वाली बैलिस्टिक मिसाइल ‘गजनवी’ का सफल परीक्षण किया है। गजनवी मिसाइल 290 किलोमीटर तक के लक्ष्य को नष्ट कर सकती है।

मुख्य बिंदु

गजनवी मिसाइल के लांच ने सेना के सामरिक बल के वार्षिक फील्ड प्रशिक्षण अभ्यास के समापन को चिह्नित किया। इस बारे में एक बयान पाकिस्तान सेना के मीडिया विंग द्वारा जारी किया गया था। बैलिस्टिक मिसाइल गजनवी 290 किलोमीटर की सीमा तक परमाणु और पारंपरिक वॉरहेड पहुंचाने में सक्षम है। गजनवी का परीक्षण दिन और रात दोनों मोड के लिए किया गया है।

इससे पहले, परमाणु सक्षम सतह से सतह पर मार करने वाली बैलिस्टिक मिसाइल शाहीन-III का परीक्षण 20 जनवरी को पाकिस्तान द्वारा किया गया था। इसकी सीमा 2,750 किलोमीटर तक है।

गजनवी मिसाइल

यह सतह से कम दूरी तक मार करने वाली बैलिस्टिक मिसाइल है, जिसे वर्ष 2012 में पाकिस्तान सेना में शामिल किया गया था। इसे पाकिस्तानी रक्षा और एयरोस्पेस कांट्रेक्टर नेशनल डेवलपमेंट काम्प्लेक्स द्वारा डिजाइन और विकसित किया गया है। इस मिसाइल की लंबाई 9.64 मीटर है और इसका व्यास 0.99 मीटर है।

Month:

ग्लोबल फायरपावर इंडेक्स, 2021 : मुख्य बिंदु

ग्लोबल फायरपावर इंडेक्स में देशों को उनकी संभावित सैन्य ताकत के आधार पर रैंक किया जाता है। इस सूचकांक में भारत को चौथा स्थान दिया गया है। ग्लोबल फायरपावर इंडेक्स 138 देशों को रैंक किया गया है। इन देशों का मूल्यांकन लंबे समय तक आक्रामक और रक्षात्मक सैन्य अभियानों के आधार पर किया गया है।

मुख्य बिंदु

अमेरिका 904 अटैक हेलीकॉप्टर और 11 एयरक्राफ्ट कैरियर के साथ सूचकांक में सबसे ऊपर है। इसके अलावा, अमेरिका के पास 68 पनडुब्बियां और 40,000 आर्मर्ड व्हीकल हैं। अमेरिका के बाद रूस दूसरे स्थान पर है, रूस के पास 189 लड़ाकू विमान और 538 अटैक हेलीकॉप्टर है। रूस के पास 13,000 टैंक और 64 पनडुब्बियां हैं।

इस सूची में चीन तीसरे स्थान पर है, चीन के पास 1,200 लड़ाकू विमान, 327 अटैक हेलीकॉप्टरों और 79 पनडुब्बियां है। इसके अलावा, चीन के पास 35,000 बख्तरबंद वाहन हैं। इस सूचकांक में भारत चौथे स्थान पर है, भारत के पास 542 लड़ाकू विमान, 17 पनडुब्बियां, 4,730 टैंक और 37 अटैक हेलीकॉप्टर हैं।

इस सूची में भारत पांचवें स्थान पर है, जापान के पास 2 हेलीकॉप्टर कैरियर, 27 डिस्ट्रॉयर हैं। इस सूची में दक्षिण कोरिया को छठा और उत्तर कोरिया को 28वां स्थान प्राप्त हुआ है।

ग्लोबल फायरपावर इंडेक्स, 2021

ग्लोबल फायरपावर इंडेक्स की गणना भूगोल से लेकर लॉजिस्टिक क्षमता तक पचास व्यक्तिगत कारकों का उपयोग करके की जाती है। इसमें जनशक्ति, थल सेना, वायु सेना, प्राकृतिक संसाधन, नौसेना बल, लॉजिस्टिक्स और वित्त भी शामिल हैं।

पाकिस्तान

ग्लोबल फायरपावर इंडेक्स में पाकिस्तान दसवें स्थान पर है। पाकिस्तान ने सैन्य शक्ति के मामले में इजरायल, इंडोनेशिया, ईरान और कनाडा को पीछे छोड़ दिया है। वर्तमान में पाकिस्तान का वार्षिक रक्षा बजट 7 बिलियन अमरीकी डालर है।

Month:

भारत और पाकिस्तान ने परमाणु ठिकानों की सूची का आदान-प्रदान किया

भारत और पाकिस्तान ने 1 जनवरी, 2021 को अपने-अपने परमाणु ठिकानों की सूची का आदान प्रदान किया। यह आदान-प्रदान भारत और पाकिस्तान के बीच परमाणु ठिकानों पर हमले के विरुद्ध समझौते (Agreement on Prohibition of Attacks against Nuclear Installations and Facilities) के तहत किया गया। गौरतलब है कि भारत और पाकिस्तान हर साल 1 जनवरी को अपने परमाणु ठिकानों की सूची एक-दूसरे के साथ साझा करते हैं। इसका उद्देश्य उन्हें एक-दूसरे के परमाणु संस्थानों पर हमले करने से रोकना है।

परमाणु ठिकानों पर हमले के विरुद्ध समझौता (Agreement on Prohibition of Attacks against Nuclear Installations and Facilities)

इस समझौते पर भारत और पाकिस्तान ने 31 दिसम्बर, 1988 को हस्ताक्षर किये थे, यह 27 जनवरी, 1991 को लागु हुआ था। इस समझौते के मुख्य बिंदु इस प्रकार हैं :

  • भारत और पाकिस्तान इस प्रकार की प्रत्यक्ष अथवा अप्रत्यक्ष गतिविधियों में शामिल नहीं होंगे जिससे दूसरे देश के परमाणु ठिकाने को किसी भी प्रकार का नुकसान हो।
  • भारत और पाकिस्तान प्रत्येक वर्ष 1 जनवरी को अपने परमाणु ठिकानों की सूची का आदान-प्रदान करेंगे। यह आदान-प्रदान सूची में परिवर्तन के समय भी किया जाया है।
  • दोनों देशों ने सौहार्दपूर्ण द्विपक्षीय रिश्ते कायम करने के लिए इस समझौते पर हस्ताक्षर किये थे। यह आदान-प्रदान आपसी विश्वास में वृद्धि करने के लिए भी काफी उपयोगी है।

Month:

मोहम्मद आमिर ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की

पाकिस्तानी क्रिकेटर मोहम्मद आमिर ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से सन्यास की घोषणा कर दी है, गौरतलब है कि आमिर केवल 28 वर्ष के हैं। उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से सन्यास के लिए व्यक्तिगत कारणों का हवाला दिया है। आमिर ने 2009 में 17 वर्ष की आयु में श्रीलंका के विरुद्ध डेब्यू किया था। उन्होंने पाकिस्तान के लिए 36 टेस्ट मैचों में 119 विकेट लिए हैं।

मोहम्मद आमिर

मोहम्मद आमिर पाकिस्तान के तेज़ गेंदबाज़ हैं। उनका जन्म 13 अप्रैल, 1992 को पाकिस्तान के पंजाब में हुआ था। मोहम्मद आमिर ने 4 जुलाई, 2009 में श्रीलंका के विरुद्ध टेस्ट करियर की शुरुआत की थी, उन्होंने 36 टेस्ट मैचों में 119 विकेट लिए।  2010 में पाकिस्तान और इंग्लैंड के बीच श्रृंखला के दौरान उन पर स्पॉट फिक्सिंग के आरोप लगे थे, जिसके बाद उन्हें ICC द्वारा निलंबित किया गया था। उन पर पांच साल का प्रतिबंध लगाया गया था।

मोहम्मद आमिर ने अपने करियर में कुल 36 टेस्ट मैच खेले, इन मैचों में उन्होंने 119 विकेट लिए। इसके अलावा उन्होंने 61 एकदविसीय मैच खेले, जिनमे आमिर ने 81 विकेट लिए। मोहम्मद आमिर ने 49 अंतर्राष्ट्रीय टी-20 मैचों में 59 विकेट लिए।

इसके अलावा उन्होंने विभिन्न टी-20 लीग्स में चिट्टागोंग वाइकिंग्स, कराचा किंग्स, ढाका डायनामाइट्स, गाले ग्लैडिएटर्स के लिए भी अपनी सेवाएं दी।

 

Month:

2 / 212

Advertisement