प्रवासी भारतीय

प्रवासी भारतीय दिवस क्यों मनाया जाता है?

हाल ही में विदेश राज्य मंत्री वी. मुरलीधरन ने 16वें प्रवासी भारतीय दिवस 2021 की वेबसाइट लांच की। इस दौरान उन्होंने यह भी घोषणा की कि प्रधानमंत्री मोदी 9 जनवरी को प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन का उद्घाटन करेंगे।

प्रवासी दिवस सम्मेलन

प्रवासी दिवस कन्वेंशन के दौरान चार सम्मेलन आयोजित किए जायेंगे। वे सम्मेलन निम्नलिखित विषयों पर आधारित हैं :
• भारतीय संस्कृति को बढ़ावा देने में प्रवासी भारतीयों की भूमिका
• भारतीय डायस्पोरा बिजनेस लीडर्स और सीईओ के साथ 5 ट्रिलियन डॉलर के लक्ष्य पर वार्ता
• क्षेत्रीय पीबीडी-जीसीसी: प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन
• मीडिया और मनोरंजन साझेदारी

प्रवासी भारतीय दिवस

हर साल प्रवासी भारतीय दिवस 9 जनवरी को मनाया जाता है। यह दिवस देश के विकास के लिए अनिवासी भारतीयों द्वारा किए गए योगदान को चिह्नित करने के लिए मनाया जाता है। इसे 9 जनवरी को इसलिए मनाया जाता है क्योंकि महात्मा गांधी 9 जनवरी, 1915 को दक्षिण अफ्रीका से लौटे थे।
प्रवासी भारतीय दिवस का उत्सव विदेश मंत्रालय, पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास मंत्रालय, भारतीय उद्योग परिसंघ, भारतीय वाणिज्य मंडलों और उद्योग संघ (फिक्की) द्वारा प्रायोजित किया जाता है। इस दिन प्रवासी भारतीय सम्मान पुरस्कार प्रदान किए जाते हैं।

वर्तमान परिदृश्य

वर्तमान में 31 मिलियन भारतीय विदेशों में रहते हैं। इनमें से 13 मिलियन पीआईओ (भारतीय मूल के व्यक्ति) और 17 मिलियन एनआरआई (अनिवासी भारतीय) हैं। भारत के प्रवासी नागरिकों की अवधारणा को 2006 में हैदराबाद में आयोजित प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन के दौरान लॉन्च किया गया था।

Month:

Advertisement