भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन

इसरो ने PSLV-C54 से नौ उपग्रह लांच किए

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने ध्रुवीय उपग्रह प्रक्षेपण यान (PSLV-C54) का उपयोग करके नौ उपग्रहों को कई कक्षाओं में स्थापित करने में सफलता प्राप्त की है। मुख्य बिंदु  इस मिशन के दौरान अर्थ ऑब्जर्वेशन सैटेलाइट (EOS-06) और 8 नैनोसैटेलाइट लॉन्च किए गए। अर्थ ऑब्जर्वेशन सैटेलाइट-6 (EOS-6) क्या है? अर्थ ऑब्जर्वेशन सैटेलाइट-6 (EOS-6) महासागरों की

Month:

ISRO ने Inflatable Aerodynamic Decelerator का परीक्षण किया

हाल ही में, भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने Inflatable Aerodynamic Decelerator (IAD) टेक्नोलॉजी का सफलतापूर्वक परीक्षण किया है जो इस्तेमाल किए गए रॉकेट चरणों और भूमि पेलोड की लागत प्रभावी रिकवरी में सहायता कर सकती है। Inflatable Aerodynamic Decelerator (IAD) Inflatable Aerodynamic Decelerator को विक्रम साराभाई स्पेस सेंटर (VSSC) द्वारा डिजाइन और विकसित किया

Month:

आज़ादी सैट (AzaadiSAT) : अंतरिक्ष में इसरो का सबसे छोटा रॉकेट

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) 7 अगस्त, 2022 को ‘आज़ादी सैट’ ले जाने वाले अपने सबसे छोटे वाणिज्यिक रॉकेट ‘स्मॉल सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल (SSLV)’ को लॉन्च करेगा। इसे अंतरिक्ष में तिरंगा फहराने के लिए लॉन्च किया जाएगा। इसे सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र, श्रीहरिकोटा से लॉन्च किया जाएगा। मुख्य बिंदु भारत के ‘आज़ादी का अमृत महोत्सव’

Month:

इसरो लांच करेगा PSLV-C52 मिशन

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) 2022 के अपने पहले मिशन को 14 फरवरी, 2022 को लॉन्च करने जा रहा है। मुख्य बिंदु  ध्रुवीय उपग्रह प्रक्षेपण यान (PSLV-C52) 14 फरवरी को सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र, श्रीहरिकोटा के पहले लॉन्च पैड से लॉन्च किया जायेगा। यह एक पृथ्वी अवलोकन उपग्रह (EOS-04) को ले जायेगा। PSLV-C52 PSLV-C52 का

Month:

2022 के लिए इसरो के मिशन : मुख्य बिंदु

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन के अध्यक्ष के. सिवन ने हाल ही में 2022 की योजनाओं के बारे में घोषणा की। उन्होंने 2021 में किए गए मिशनों के बारे में भी जानकारी प्रदान की। मिशन 2022 के लिए योजना PSLV पर पृथ्वी अवलोकन उपग्रह 4 और 6 लॉन्च किए जाने हैं। इसरो 2022 में आदित्य L1,

Month:

इसरो (ISRO) निजी भागीदारी के साथ एक SSLV विकसित कर रहा है

केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह के अनुसार, भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) निजी भागीदारी के साथ एक Small Satellite Launch Vehicle (SSLV) विकसित करने की प्रक्रिया में है। इस उपग्रह को 2022 की पहली तिमाही में लॉन्च किया जाएगा। मुख्य बिंदु यह SSLV 500 किलोमीटर की कक्षा में 500 किलोग्राम की पेलोड क्षमता प्रदान करेगा। इस

Month:

Advertisement