भारतीय अर्थव्यवस्था

भारत 2030 तक दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनेगा

हाल ही में, भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने एक शोध रिपोर्ट जारी की जिसमें कहा गया है कि भारत के 2030 तक दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की संभावना है। वर्तमान में भारत अर्थव्यवस्था के मामले में अमेरिका, चीन, जापान और जर्मनी से पीछे है। एक दशक पहले, भारत दुनिया की सबसे बड़ी

Month:

भारत बना दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था

हाल ही में, भारत ब्रिटेन को पछाड़कर दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया है। भारत अब अर्थव्यवस्था के मामले में अमेरिका, चीन, जापान और जर्मनी से पीछे है। एक दशक पहले, भारत दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में 11वें स्थान पर था, जबकि ब्रिटेन पांचवें नंबर पर था। मुख्य बिंदु आर्थिक संकट के बीच भारत

Month:

IMF ने World Economic Outlook जारी किया

भारत की आर्थिक वृद्धि का अनुमान 8.2% से घटाकर 7.4% कर दिया गया है। अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) ने 26 जुलाई, 2022 को अपने विश्व आर्थिक आउटलुक में भारत की विकास भविष्यवाणी जारी की। मुख्य निष्कर्ष अप्रैल में भारत की आर्थिक वृद्धि का अनुमान 8.2% रहने का अनुमान लगाया गया था। IMF ने बाहरी झटके और

Month:

विश्व बैंक ने भारत के GDP पूर्वानुमान को कम किया

वित्त वर्ष 2022-23 के लिए विश्व बैंक ने भारत के सकल घरेलू उत्पाद का अनुमान 8.7% से घटाकर 8% कर दिया है। पूर्वानुमान में बदलाव का कारण बढ़ती मुद्रास्फीति और रूस-यूक्रेन युद्ध के कारण वैश्विक आपूर्ति का प्रभावित होना बताया जा रहा है। मुख्य बिंदु  अफगानिस्तान को छोड़कर दक्षिण एशिया का विकास दृष्टिकोण भी 6.6%

Month:

2021-22 में भारत का कृषि निर्यात रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा

वित्त वर्ष 2021-22 के लिए, भारत के रोपण (plantation) और समुद्री उत्पादों सहित कृषि उत्पादों के निर्यात ने रिकॉर्ड 50 बिलियन  डालर को छू लिया है। यह पिछले साल की तुलना में 20% अधिक है। मुख्य बिंदु  निर्यात में यह वृद्धि समुद्री उत्पादों, चावल, चीनी, गेहूं और कच्चे कपास के शिपमेंट में वृद्धि के कारण

Month:

मूडीज ने भारत की विकास दर के अनुमान को बढ़ाकर 9.5% किया

मूडीज इन्वेस्टर्स सर्विस ने भारत की GDP वृद्धि के अनुमान में बदलाव किया है। चालू वित्त वर्ष के लिए पूर्वानुमान 7% से बढ़ाकर 9.5% कर दिया गया है। मुख्य बिंदु सकल घरेलू उत्पाद (GDP) का पूर्वानुमान आर्थिक सुधार का हवाला देते हुए बढ़ाया गया है। वित्त वर्ष 23 के GDP पूर्वानुमान को 5.5% पर बरकरार

Month:

Advertisement