भारतीय अर्थव्यवस्था

भारत का विदेशी मुद्रा भंडार (India’s Forex Reserve) 616.894 अरब डॉलर पर पहुंचा

20 अगस्त, 2021 को समाप्त हुए सप्ताह के दौरान भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 2.47 अरब डॉलर की गिरावट के साथ 616.894 अरब डॉलर पर पहुँच गया है। विश्व में सर्वाधिक विदेशी मुद्रा भंडार वाले देशों की सूची में भारत चौथे स्थान पर है, इस सूची में चीन पहले स्थान पर है। विदेशी मुद्रा भंडार                                     

Month:

दूसरी कोविड लहर ने बैंकों की संपत्ति के जोखिम को बढ़ाया : मूडीज:

मूडीज इन्वेस्टर्स सर्विस के अनुसार, कोविड संक्रमण की दूसरी लहर ने भारतीय बैंकों के लिए परिसंपत्ति जोखिम बढ़ा दिया है। मुख्य बिंदु  इसके अनुसार, भारत में कोरोनावायरस संक्रमण की दूसरी लहर ने व्यक्तियों और छोटे व्यवसायों पर तनाव बढ़ा दिया है। शुरुआती कोविड -19 के प्रकोप से वे सबसे ज्यादा प्रभावित हुए। इस प्रकार, समस्याग्रस्त ऋणों

Month:

IMF World Economic Outlook – Update जारी की गयी

27 जुलाई को अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (International Monetary Fund – IMF) ने वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए  भारत की जीडीपी विकास दर के पूर्वानुमान को घटाकर 9.5% हैकिया। इससे पहले, IMF  ने 12.5% ​​​​जीडीपी वृद्धि का अनुमान लगाया था। भारत से संबंधित मुख्य बिंदु  COVID-19 महामारी की दूसरी लहर के कारण आर्थिक गतिविधियों पर असर

Month:

भारत का विदेशी मुद्रा भंडार (India’s Forex Reserve) 610.012 अरब डॉलर के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा

2 जुलाई, 2021 को समाप्त हुए सप्ताह के दौरान भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 1.013 अरब डॉलर की वृद्धि के साथ 610.012 अरब डॉलर के उच्चतम स्तर पर पहुँच गया है। विश्व में सर्वाधिक विदेशी मुद्रा भंडार वाले देशों की सूची में भारत चौथे स्थान पर है, इस सूची में चीन पहले स्थान पर है।

Month:

भारत का विदेशी मुद्रा भंडार (India’s Forex Reserve) 608.999 अरब डॉलर के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा

25  जून, 2021 को समाप्त हुए सप्ताह के दौरान भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 5.066 अरब डॉलर की कमी के साथ 608.999 अरब डॉलर के उच्चतम स्तर पर पहुँच गया है। विश्व में सर्वाधिक विदेशी मुद्रा भंडार वाले देशों की सूची में भारत चौथे स्थान पर है, इस सूची में चीन पहले स्थान पर है। विदेशी

Month:

S&P ने भारत की वृद्धि दर का अनुमान घटाकर 9.5% किया

वैश्विक रेटिंग एजेंसी  S&P ने वित्त वर्ष 2021-2022 के लिए भारत के विकास के अनुमान को घटाकर 9.5% कर दिया है। पहले इसे 11% पर रखा गया था। मुख्य बिंदु रेटिंग एजेंसी ने COVID-19 महामारी की आगामी लहरों से विकास दर के जोखिम की चेतावनी दी है। S&P ने विकास अनुमान को कम कर दिया क्योंकि

Month:

1 / 41234

Advertisement