संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन सम्मेलन

मिस्र में किया जाएगा 2022 संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन सम्मेलन (COP 27) का आयोजन

2022 का संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन सम्मेलन (COP27) इस साल 6 से 18 नवंबर तक आयोजित किया जाएगा । COP क्या है? Conference of Parties (COP) शीर्ष निर्णय लेने वाला निकाय है जो जलवायु परिवर्तन पर संयुक्त राष्ट्र फ्रेमवर्क कन्वेंशन (United Nations Framework Convention on Climate Change – UNFCCC) के कार्यान्वयन की निगरानी और समीक्षा

Month:

मिस्र अगले साल COP27 जलवायु शिखर सम्मेलन की मेजबानी करेगा

ग्लासगो में COP26 सम्मेलन के दौरान, यह निर्णय लिया गया कि मिस्र 2022 में COP27 संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन सम्मेलन की मेजबानी करेगा। मुख्य बिंदु  मिस्र के राष्ट्रपति अब्देल फतह अल-सीसी ने सितंबर में अफ्रीकी महाद्वीप की ओर से COP27 की मेजबानी करने में मिस्र की रुचि दिखाने के बाद यह निर्णय लिया था। इसके

Month:

Like Minded Developing Countries (LMDCs) क्या हैं?

हाल ही में चीन, भारत और अफ्रीकी देशों जैसे अधिकांश विकासशील देशों ने जलवायु वित्त में धनी देशों से प्रति वर्ष लगभग 1.3 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर मांगे हैं। मुख्य बिंदु 24 देशों के समूह, खुद को Like Minded Developing Countries (LMDCs) कहते हैं, और अफ्रीका के देशों ने वित्त प्रवाह को बढ़ाने के प्रस्ताव में

Month:

भारत की ‘पंचामृत रणनीति’ क्या है?

ग्लासगो में ग्लोबल क्लाइमेट मीट (COP26) के पहले दिन, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुनिया को 1.5 डिग्री सेल्सियस के लक्ष्य को हासिल करने में मदद के लिए पंचामृत रणनीति का प्रस्ताव रखा है। मुख्य बिंदु  प्रधानमंत्री मोदी ने अपनी योजना को ‘पंचामृत’ कहा, जिसका अर्थ है ‘पांच अमृत’। परंपरागत रूप से, ‘पंचामृत’ पांच प्राकृतिक खाद्य

Month:

ऑस्ट्रेलिया: 2050 तक नेट जीरो के लिए सैद्धांतिक समर्थन

ऑस्ट्रेलियाई कैबिनेट उन शर्तों पर विचार करने के लिए तैयार है, जिन्हें सरकार के कनिष्ठ गठबंधन सहयोगी ने 2050 तक शून्य शुद्ध कार्बन उत्सर्जन के लक्ष्य के लिए प्रस्तुत किया है। मुख्य बिंदु  लक्ष्य के लिए नेशनल्स पार्टी के सैद्धांतिक समर्थन पर 24 अक्टूबर, 2021 को एक बैठक में सहमति प्रकट की गयी। यह समर्थन

Month:

भारत और ब्रिटेन ने उर्जा पर फॉरवर्ड एक्शन प्लान (Forward Action Plan) पर हस्ताक्षर किए

भारत और यूनाइटेड किंगडम ने अपने 2030 रोडमैप के तहत ‘बिजली और स्वच्छ परिवहन, नवीकरणीय ऊर्जा, हरित वित्त और हरित ऊर्जा अनुसंधान पर फॉरवर्ड एक्शन प्लान’ पर समझौता किया है। मुख्य बिंदु “फॉरवर्ड एक्शन प्लान” पर तीसरी “India-UK Energy for Growth Partnership – Ministerial Energy Dialogue”, “संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन सम्मेलन (COP-26)” की पृष्ठभूमि में

Month:

Advertisement