सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया

सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया को मिली भारत में Sputnik V वैक्सीन के निर्माण की अनुमति

DGCI (Drugs Controller General of India) ने हाल ही में सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया को भारत में स्पुतनिक-वी वैक्सीन के निर्माण की अनुमति दे दी है। अब इस रूसी वैक्सीन का निर्माण पुणे में किया जायेगा। इस कार्य के लिए सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया ने रूस के Gamaleya Research Institute of Epidemiology and Microbiology के

Month:

केंद्र सरकार Biological-E  से खरीदेगी 30 करोड़ COVID-19 वैक्सीन

केंद्र सरकार हैदराबाद बेस्ड कंपनी बायोलॉजिकल-ई (Biological-E) से कोरोनावायरस वैक्सीन की 30 करोड़ डोज़ खरीदने जा रही है। इसके लिए  स्वास्थ्य मंत्रालय ने वैक्सीन निर्माता बायोलॉजिकल-ई के साथ 30 करोड़ COVID-19 वैक्सीन खुराक आरक्षित करने की व्यवस्था को अंतिम रूप दिया है। ये वैक्सीन खुराक इस साल अगस्त से दिसंबर तक बायोलॉजिकल-ई द्वारा निर्मित और

Month:

 भारत में कोविड-19 टीकाकरण का आंकड़ा 18 करोड़ के पार पहुँचा

भारत में अब तक 18   करोड़ से अधिक लोगों को कोविड-19 वैक्सीन की खुराक दी जा चुकी है। गौरतलब है कि पिछले 24 घंटों में देश में 20 लाख से अधिक लोगों को कोरोना का टीका लगाया गया है। कोविड-19 टीकाकरण का पहला चरण कोविड-19 टीकाकरण अभियान का पहला चरण 16 जनवरी, 2021 को शुरू

Month:

भारत बायोटेक ने COVAXIN की कीमत राज्यों के लिए 600 से घटाकर 400 रुपये की

हाल ही में भारत बायोटेक ने COVAXIN की कीमत प्रति डोज़ राज्यों के लिए 600 से घटाकर 400 रुपये कर दी है। जबकि निजी अस्पतालों में COVAXIN 1200 रुपये प्रति डोज़ की दर से मिलेगा। इससे पहले कोविशील्ड की कीमत राज्यों के लिए 400 से घटाकर 300 रुपये कर दी गयी थी। COVAXIN COVAXIN भारत

Month:

वैश्विक राहत सामग्री की तुरंत क्लीयरेंस के लिए अंतर-मंत्रालयी समूह स्थापित किया गया

भारत सरकार ने विदेशों से राहत सामग्री की तत्काल निकासी के लिए प्रक्रियाओं की स्थापना के लिए एक उच्च स्तरीय अंतर-मंत्रालयी समूह का गठन किया है। समूह के बारे में चूंकि भारत में COVID-19 मामलों की संख्या काफी हद तक बढ़ने लगी है, कई देश जैसे यूके, अमेरिका, फ्रांस जर्मनी, आयरलैंड, कुवैत वेंटिलेटर, ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स,

Month:

COVISHIELD वैक्सीन डबल म्यूटेंट से रक्षा करता है : अध्ययन

सेंटर फॉर सेल्युलर एंड मॉलिक्यूलर बायोलॉजी (Centre for Cellular and Molecular Biology) ने हाल ही में घोषणा की है कि COVISHILED वैक्सीन B.1.1.617 वेरिएंट से बचाता है। इसे डबल म्यूटेंट स्ट्रेन भी कहा जाता है। इस वैक्सीन को विट्रो न्यूट्रलाइज़ेशन ऐसे (Vitro Neutralisation Assay) का उपयोग करके डबल म्युटेंट वैरिएंट के खिलाफ परीक्षण किया गया था।

Month:

1 / 212

Advertisement