सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया

भारत ने ‘वैक्सीन मैत्री पहल’ के तहत श्रीलंका को कोविशील्ड वैक्सीन भेजी

भारत ने अपनी “वैक्सीन मैत्री पहल” का विस्तार अब श्रीलंका तक कर दिया है। इस समझौते के अनुसार, भारत ने कोविशील्ड की 5,00,000 खुराक श्रीलंका को अनुदान सहायता के रूप में भेजीं है। ‘वैक्सीन मैत्री’ पहल ने अब तक भारत ने पड़ोस के सात देशों में लगभग पांच मिलियन खुराक वितरित की है। पृष्ठभूमि सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ

Month:

निमोनिया के खिलाफ भारत का पहला स्वदेशी टीका लांच किया गया

हाल ही में केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने निमोनिया के खिलाफ भारत का पहला स्वदेशी टीका लांच किया। इस टीके का निर्माण सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन के साथ मिलकर किया है। इस टीके का नाम न्यूमोसिल है। मुख्य बिंदु भारत के पास निमोनिया के टीकों की पहुंच है। लेकिन

Month:

भारत ने निमोनिया के खिलाफ पहला स्वदेशी टीका विकसित किया

निमोनिया के खिलाफ पहला भारतीय टीका सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा विकसित किया गया है। यह टीका जल्द ही घरेलू निर्माताओं को उपलब्ध कराया जाएगा। मुख्य बिंदु भारत के पास निमोनिया के टीकों की पहुंच है। लेकिन  नया स्थानीय रूप से विकसित नया वैक्सीन अन्य निमोनिया टीके जैसे Pfizer के NYSE: PFE, GlaxoSmithKline के LSE: GSK टीकों

Month:

कनाडा ने 16 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों के लिए फाइजर कोरोना वैक्सीन को मंजूरी दी

हाल ही में कनाडा ने 16 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों के लिए फाइजर के कोरोना वैक्सीन को मंजूरी दे दी है। संभवतः कनाडा के लोगों को अगले सप्ताह वैक्सीन प्राप्त हो सकता है। कनाडा के स्वास्थ्य नियामक, हेल्थ कनाडा ने कहा है कि इसने वैक्सीन की सुरक्षा और प्रभावशीलता पर डाटा की पूरी

Month:

भारत बायोटेक ने इमरजेंसी यूज़ अथॉराईजेशन के लिए आवेदन किया

हाल ही में भारत बायोटेक ने केंद्रीय दवा नियामक, DCGI को आपातकालीन उपयोग प्राधिकरण के लिए आवेदन दिया है। भारत बायोटेक द्वारा कोवाक्सिन नामक टीके का विकास किया गया है। इसके साथ भारत बायोटेक सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और फाइजर के बाद देश में COVID-19 वैक्सीन के आपातकालीन उपयोग की मंजूरी के लिए आवेदन करने वाला

Month:

इमरजेंसी यूज ऑथराइजेशन क्या है?

हाल ही में, कई दवा निर्माता COVID-19 वैक्सीन के लिए आपातकालीन उपयोग प्राधिकरण (Emergency Use Authorization) की मांग कर रहे हैं। फाइजर ने यू.के. में आपातकालीन उपयोग प्राधिकरण के लिए आवेदन किया था और यू.के. की मेडिसिन्स एंड हेल्थकेयर प्रोडक्ट्स रेगुलेटरी एजेंसी द्वारा इसे मंज़ूरी भी दी गयी है। इसके अलावा सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और मॉडर्ना

Month:

2 / 3123

Advertisement