ADB

एडीबी ने बेंगलुरु में बिजली आपूर्ति को बढ़ावा देने के लिए 100 मिलियन डालर के ऋण पर हस्ताक्षर किए

एशियाई विकास बैंक (ADB) ने बेंगलुरु शहर में बिजली वितरण को अपग्रेड करने के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किए।

मुख्य बिंदु

बेंगलुरु शहर में बिजली आपूर्ति की गुणवत्ता और विश्वसनीयता बढ़ाने के लिए 100 मिलियन डालर के ऋण का उपयोग बेंगलुरु स्मार्ट एनर्जी एफिशिएंट पावर डिस्ट्रीब्यूशन प्रोजेक्ट के तहत किया जायेगा। साथ ही, इस ऋण राशि का उपयोग 2,800 किलोमीटर की फाइबर ऑप्टिकल केबल को स्थापित करने के लिए किया जाएगा। इन फाइबर ऑप्टिकल केबल को भूमिगत वितरण केबलों के समानांतर रखा जायेगा।

डिस्ट्रीब्यूशन ग्रिड में स्मार्ट ऑप्टिकल सिस्टम और डिस्ट्रीब्यूशन ऑटोमेशन सिस्टम के लिए फाइबर ऑप्टिकल केबल का उपयोग किया जायेगा। साथ ही, वितरण लाइन स्विच गियर को नियंत्रित करने के लिए परियोजना 1,700 ऑटोमेटेड रिंग मेन यूनिट्स को स्थापित करेगी।

बेंगलुरु स्मार्ट एनर्जी एफिशिएंट पावर डिस्ट्रीब्यूशन प्रोजेक्ट

  • इस परियोजना का उद्देश्य ओवरहेड डिस्ट्रीब्यूशन लाइनों को भूमिगत केबलों में बदलना है।
  • यह भूमिगत केबल के समानांतर ऑप्टिकल फाइबर केबल भी स्थापित करेगा।
  • बेंगलुरु शहर के छह डिवीजनों में स्वचालित रिंग इकाइयां स्थापित की जाएँगी।
  • इससे BESCOM (बैंगलोर बिजली आपूर्ति कंपनी) की संस्थागत परिचालन क्षमता में वृद्धि होगी।

एडीबी की ऋण स्वीकृतियां

  • 1 दिसंबर, 2020 को एडीबी ने मेघालय विद्युत वितरण क्षेत्र को मजबूत करने के लिए 8 मिलियन अमरीकी डालर के ऋण पर हस्ताक्षर किए।
  • 8 दिसंबर, 2020 को एशियाई विकास बैंक ने दो ऋणों को मंजूरी दी।बेंगलुरु में 500 मिलियन अमरीकी डालर का ऋण और शहरी क्षेत्रों में प्राथमिक स्वास्थ्य देखभाल को मजबूत करने के लिए 300 मिलियन अमरीकी डालर मंज़ूर किये गये।
  • 18 दिसंबर, 2020 को उत्तर प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में विश्वसनीय बिजली की आपूर्ति प्रदान करने के लिए एशियाई विकास बैंक ने ग्रामीण बिजली वितरण को उन्नत करने के लिए 300 मिलियन अमरीकी डालर के ऋण पर हस्ताक्षर किए।
  • जनवरी 2021 में, भारत और एडीबी ने असम में बिजली उत्पादन बढ़ाने के लिए 231 मिलियन अमरीकी डालर के ऋण पर हस्ताक्षर किए।

 

 

Month:

हिमाचल प्रदेश में बागवानी के लिए एशियाई विकास बैंक 10 मिलियन डॉलर का ऋण प्रदान करेगा  

हाल ही में, एशियाई विकास बैंक (ADB) ने हिमाचल प्रदेश में परियोजनाओं के लिए भारत के साथ ऋण समझौतों पर हस्ताक्षर किए हैं।हिमाचल प्रदेश में बागवानी के विस्तार के लिए एक ऋण समझौते पर हस्ताक्षर किए गए हैं।

मुख्य बिंदु

एशियाई विकास ने हिमाचल प्रदेश में बागवानी को बढ़ावा देने के लिए 10 मिलियन डॉलर के ऋण समझौते पर हस्ताक्षर किये हैं। यह ऋण परियोजना के लिए डिजाइनिंग, क्षमता निर्माण और पायलटिंग गतिविधियों में मदद करेगा, जिसका उद्देश्य हिमाचल प्रदेश में बागवानी उत्पादन और कृषि घरेलू आय का विस्तार करना है।

इसके साथ ही भारत और एशियाई विकास बैंक (ADB) ने असम में 120 मेगा वाट जलविद्युत संयंत्र के निर्माण के लिए 231 मिलियन डालर के ऋण पर हस्ताक्षर किए हैं, इस प्लांट से घरों में बिजली की उपलब्धता में वृद्धि होगी।

एशियाई विकास बैंक (ADB)

एडीबी एक क्षेत्रीय विकास बैंक है जिसका उद्देश्य एशिया में सामाजिक और आर्थिक विकास को बढ़ावा देना है। इसकी स्थापना दिसंबर 1966 में की गयी थी। इसका मुख्यालय मनीला (फिलीपींस) में स्थित है। इसके कुल 68 सदस्य हैं, जिनमें से 48 एशिया और प्रशांत क्षेत्र जबकि बाकी 19 अन्य क्षेत्र के हैं। एडीबी का मुख्य उद्देश्य सामाजिक और आर्थिक विकास को बढ़ावा देने के लिए ऋण, तकनीकी सहायता, अनुदान और इक्विटी निवेश प्रदान करके अपने सदस्यों और भागीदारों की सहायता करना है।

Month:

भारत और एडीबी ने असम में बिजली उत्पादन क्षमता बढ़ाने के लिए 231 मिलियन डालर के ऋण पर हस्ताक्षर किए

भारत और एशियाई विकास बैंक (ADB) ने असम में 120 मेगा वाट जलविद्युत संयंत्र के निर्माण के लिए 231 मिलियन डालर के ऋण पर हस्ताक्षर किए हैं, इस प्लांट से घरों में बिजली की उपलब्धता में वृद्धि होगी।

मुख्य बिंदु

इस ऋण समझौते पर वित्त मंत्रालय में अतिरिक्त सचिव डॉ. सीएस महापात्रा और एडीबी के इंडिया रेजिडेंट मिशन के प्रभारी अधिकारी हो यूं जोंग ने हस्ताक्षर किये।

इस ऋण समझौते पर हस्ताक्षर करने के बाद डॉ. महापात्र ने कहा कि यह परियोजना स्वच्छ जल विद्युत स्रोतों से असम की बिजली उत्पादन क्षमता को बढ़ाएगी और असम में बिजली की उपलब्धता में सुधार होगी। यह प्रस्तावित पनबिजली परियोजना कोपिली नदी पर निर्मित की जाएगी है। यह परियोजना 2025 तक 469 गीगावाट ऑवर की स्वच्छ ऊर्जा से आपूर्ति करेगी और इससे हर साल 3,60,000 टन कार्बन डाइऑक्साइड उत्सर्जन में कमी आएगी।

एशियाई विकास बैंक (ADB)

एडीबी एक क्षेत्रीय विकास बैंक है जिसका उद्देश्य एशिया में सामाजिक और आर्थिक विकास को बढ़ावा देना है। इसकी स्थापना दिसंबर 1966 में की गयी थी। इसका मुख्यालय मनीला (फिलीपींस) में स्थित है। इसके कुल 68 सदस्य हैं, जिनमें से 48 एशिया और प्रशांत क्षेत्र जबकि बाकी 19 अन्य क्षेत्र के हैं। एडीबी का मुख्य उद्देश्य सामाजिक और आर्थिक विकास को बढ़ावा देने के लिए ऋण, तकनीकी सहायता, अनुदान और इक्विटी निवेश प्रदान करके अपने सदस्यों और भागीदारों की सहायता करना है।

Month:

पावर डिस्ट्रीब्यूशन नेटवर्क को अपग्रेड करने के लिए $300 मिलियन ऋण प्रदान करेगा एशियाई विकास बैंक

एशियाई विकास बैंक (ADB) पावर डिस्ट्रीब्यूशन नेटवर्क को अपग्रेड करने के लिए $300 मिलियन ऋण प्रदान करेगा। इसके लिए हाल ही में एशियाई विकास बैंक और भारत सरकार ने 300 मिलियन डॉलर के ऋण पर हस्ताक्षर किए हैं। इस ऋण राशि से ग्रामीण बिजली वितरण नेटवर्क को अपग्रेड किया जाएगा। इसका सबसे ज्याद लाभ उत्तर प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों को होगा, इससे उत्तर प्रदेश में उपभोक्ताओं को विश्वसनीय बिजली आपूर्ति मिल सकेगी।

मुख्य बिंदु

इस समझौते के तहत कुल 430 मिलियन डॉलर की वित्त सुविधा को मंजूरी दी गई है। इस परियोजना के तहत 65,000 किलोमीटर की डिस्ट्रीब्यूशन लाइन को अपग्रेड किया जायेगा। इससे यह वितरण नेटवर्क मजबूत बनेगा। इससे 46,000 गांवों के लगभग 70 मिलियन लोगों को लाभ मिलेगा। इस परियोजना के तहत, कृषि और घरेलू उपभोक्ताओं के लिए 17,000 किलोमीटर से अधिक फीडर सेपरेशन नेटवर्क भी स्थापित किया जाएगा।

समझौते का महत्व

यह समझौता उत्तर प्रदेश में डिस्ट्रीब्यूशन नेटवर्क को अपग्रेड करने में मदद करेगा। इससे बिजली की आपूर्ति की गुणवत्ता में सुधार होगा। इस ऋण राशि का उपयोग उत्तर प्रदेश में ग्रामीण बिजली आपूर्ति की वित्तीय स्थिरता को बहाल करने के लिए किया जाएगा।

एशियाई विकास बैंक (ADB)

एडीबी एक क्षेत्रीय विकास बैंक है जिसका उद्देश्य एशिया में सामाजिक और आर्थिक विकास को बढ़ावा देना है। इसकी स्थापना दिसंबर 1966 में की गयी थी। इसका मुख्यालय मनीला (फिलीपींस) में स्थित है। इसके कुल 68 सदस्य हैं, जिनमें से 48 एशिया और प्रशांत क्षेत्र जबकि बाकी 19 अन्य क्षेत्र के हैं। एडीबी का मुख्य उद्देश्य सामाजिक और आर्थिक विकास को बढ़ावा देने के लिए ऋण, तकनीकी सहायता, अनुदान और इक्विटी निवेश प्रदान करके अपने सदस्यों और भागीदारों की सहायता करना है।

Month:

एशियाई विकास आउटलुक जारी किया गया, जानिए भारतीय अर्थव्यवस्था में बारे में क्या अनुमान लगाये गये हैं?

एशियाई विकास बैंक ने हाल ही में एशियन डेवलपमेंट आउटलुक जारी किया है। इस आउटलुक में एशियाई विकास बैंक ने अनुमान लगाया कि भारतीय अर्थव्यवस्था वित्त वर्ष 2020-21 में 8% तक संकुचित होगी। इससे पहले बैंक द्वारा अनुमान लगाया गया था कि भारतीय अर्थव्यवस्था 9% संकुचित होगी। यह बैंक द्वारा भारत का जीडीपी पूर्वानुमान है। वृद्धि का अनुमान 8% रखा गया है।

इस आउटलुक के अनुसार, विकासशील एशिया में 2020 में 0.4% संकुचन और 2021 में 6.8% की वृद्धि होगी। एशियाई विकास बैंक ने यह भी घोषणा की कि वित्त वर्ष 2020-21 में दक्षिण एशिया की वृद्धि 7.2% होगी।

मुख्य बिंदु

एशियाई विकास बैंक द्वारा जारी एशियन डेवलपमेंट आउटलुक के अनुसार, आने वाले महीनों में मुद्रास्फीति कम होने की उम्मीद है। इस रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि भारत में आपूर्ति श्रृंखला व्यवधान के कारण 2020 के पहले सात महीनों में खाद्य मुद्रास्फीति 9.1% तक बढ़ गयी थी।

इस रिपोर्ट अनुसार, भारत में कृषि और विनिर्माण में वृद्धि हो रही है और निश्चित निवेश घट रहा है। दूसरी तिमाही में शुद्ध निर्यात में 3.4% की वृद्धि हुई। भारतीय रिजर्व बैंक ने अपनी हालिया मौद्रिक नीति समीक्षा के दौरान यह भी घोषणा की है कि भारत प्रत्याशित रूप से तेजी से रिकवर कर रहा है।

एशियाई विकास बैंक (ADB)

एडीबी एक क्षेत्रीय विकास बैंक है जिसका उद्देश्य एशिया में सामाजिक और आर्थिक विकास को बढ़ावा देना है। इसकी स्थापना दिसंबर 1966 में की गयी थी। इसका मुख्यालय मनीला (फिलीपींस) में स्थित है। इसके कुल 68 सदस्य हैं, जिनमें से 48 एशिया और प्रशांत क्षेत्र जबकि बाकी 19 अन्य क्षेत्र के हैं। एडीबी का मुख्य उद्देश्य सामाजिक और आर्थिक विकास को बढ़ावा देने के लिए ऋण, तकनीकी सहायता, अनुदान और इक्विटी निवेश प्रदान करके अपने सदस्यों और भागीदारों की सहायता करना है।

Month:

भारत ने एशियाई विकास बैंक के साथ 50 मिलियन डॉलर के ऋण समझौते पर हस्ताक्षर किये

हाल ही में एशियाई विकास बैंक (ADB) और भारत  सरकार ने 50 मिलियन डॉलर के नीति-आधारित ऋण समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। इन ऋण राशि का उपयोग वित्तीय प्रबंधन प्रक्रियाओं को बेहतर बनाने के लिए किया जाएगा।

मुख्य बिंदु

  • इस ऋण राशि का उपयोग परिचालन क्षमता में किया जाएगा, जिसका उद्देश्य पश्चिम बंगाल में राजकोषीय बचत करना, उचित निर्णय निर्माण और सेवा वितरण में सुधार करना है।
  • पश्चिम बंगाल सार्वजनिक वित्त प्रबंधन निवेश कार्यक्रम के हस्ताक्षरकर्ताओं में वित्त मंत्रालय में आर्थिक मामले विभाग के अतिरिक्त सचिव सी.एस. मोहपात्रा और एडीबी के इंडिया रेजिडेंट मिशन के ताकाओ कोनीशीशामिल हैं।

महत्व

  • इससे राजकोषीय बचत होगी।
  • अंतर-सरकारी ई-सरकारी प्लेटफार्मों के समर्थन के साथ, यह कार्यक्रम पेंशन और भविष्य निधि सहित सामाजिक सुरक्षा लाभों को सुव्यवस्थित करेगा।
  • नया मॉड्यूलएकीकृत वित्तीय प्रबंधन प्रणाली के भीतर एकीकृत वित्तीय प्रबधन प्रणाली को ट्रैक और मॉनिटर करने में भी मदद करेगा।

सार्वजनिक वित्त में सुधार

इस ऋण की मदद से, राजकोषीय नीति और सार्वजनिक वित्त के लिए एक केंद्र स्थापित किया जाएगा। यह सार्वजनिक वित्त प्रबंधन पर राज्य सरकार के अधिकारियों की क्षमता में वृद्धि करेगा। यह एक वेब-आधारित शिकायत निवारण प्रणाली भी विकसित करेगा।

एशियाई विकास बैंक (ADB)

एडीबी एक क्षेत्रीय विकास बैंक है जिसका उद्देश्य एशिया में सामाजिक और आर्थिक विकास को बढ़ावा देना है। इसकी स्थापना दिसंबर 1966 में की गयी थी। इसका मुख्यालय मनीला (फिलीपींस) में स्थित है। इसके कुल 68 सदस्य हैं, जिनमें से 48 एशिया और प्रशांत क्षेत्र जबकि बाकी 19 अन्य क्षेत्र के हैं। एडीबी का मुख्य उद्देश्य सामाजिक और आर्थिक विकास को बढ़ावा देने के लिए ऋण, तकनीकी सहायता, अनुदान और इक्विटी निवेश प्रदान करके अपने सदस्यों और भागीदारों की सहायता करना है।

Month:

1 / 212

Advertisement