Current Affairs

डेकाकॉर्न (Decacorn) क्या है?

डेकाकॉर्न एक निजी फर्म हैं जिनका मूल्य 10 अरब डालर से अधिक है। हाल ही में स्विगी यह टैग हासिल करने वाली चौथी भारतीय कंपनी बन गई है। अन्य तीन कंपनियां जो पहले से ही यह टैग हासिल कर चुकी हैं, वे हैं पेटीएम, ओयो (एक होटल एग्रीगेटर) और बायजूज (एक एडटेक)। फेसबुक पहला डेकाकॉर्न

Month:

2021 भ्रष्टाचार धारणा सूचकांक (Corruption Perceptions Index) जारी किया गया

ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल (Transparency International) ने हाल ही में भ्रष्टाचार धारणा सूचकांक (Corruption Perceptions Index) जारी किया है। इस सूचकांक के अनुसार विश्व के देशों में भारत 85वें स्थान पर है। इस रिपोर्ट में कहा गया है कि एक दशक से भारत के लिए भ्रष्टाचार का स्कोर स्थिर रहा है।  मुख्य बिंदु  ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल (Transparency International)

Month:

क्या भारत सरकार शुरू करेगी भारतीय पर्यावरण सेवा (Indian Environment Service)?

21 जनवरी, 2021 को सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से पूछा कि क्या वह भारत के नौकरशाही ढांचे में एक समर्पित भारतीय पर्यावरण सेवा (Indian Environment Service) की योजना बना रही है। मुख्य बिंदु  2014 में, पूर्व कैबिनेट सचिव टी.एस.आर. सुब्रमण्यम की अध्यक्षता वाली एक समिति ने भारतीय पर्यावरण सेवा स्थापित करने की सिफारिश की

Month:

ई-गवर्नेंस के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार प्रदान किया गया

ई-गवर्नेंस 2020-21 के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार (रजत) हाल ही में नागालैंड के मोन जिला प्रशासन (Mon District Administration) को प्रदान किया गया। मुख्य बिंदु  हैदराबाद में ई-गवर्नेंस पर 24वें राष्ट्रीय सम्मेलन में पुरस्कार प्रदान किया गया। केंद्रीय राज्य मंत्री (MoS) डॉ. जितेंद्र सिंह द्वारा मोन जिले के उपायुक्त थावसेलन के. (Thavasselan K) को यह  पुरस्कार

Month:

कुंबलंगी : भारत की पहली सैनिटरी-नैपकिन-फ्री पंचायत

कोचीन का कुंबलंगी गाँव भारत की पहली सैनिटरी-नैपकिन-मुक्त पंचायत बनने जा रहा है। मुख्य बिंदु इस गांव ने पहले भारत के पहले मॉडल पर्यटन गांव के रूप में प्रशंसा प्राप्त की है। यह कदम ‘अवलकायी’ (Avalkayi) पहल का एक हिस्सा है, जिसे HLL प्रबंधन अकादमी और इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन की “थिंगल योजना” के सहयोग से

Month:

ब्रह्मोस के उन्नत संस्करण का परीक्षण किया गया

11 जनवरी, 2022 को रक्षा अनुसंधान विकास संगठन ने ब्रह्मोस के उन्नत संस्करण का परीक्षण किया। यह ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का समुद्र-से-समुद्र संस्करण है। इसका परीक्षण आईएनएस विशाखापत्तनम से किया गया। मुख्य बिंदु  यह भारत के आत्मनिर्भर बनने का एक कदम है। साथ ही, इस परीक्षण ने भारतीय नौसेना की तैयारी की पुष्टि की। ब्रह्मोस

Month:

1 / 13123>>>

Advertisement