DRDO

ISRO-JAXA ने चन्द्र ध्रुवीय अन्वेषण (Lunar Polar Exploration) पर सहयोग की समीक्षा की

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) और जापान एयरोस्पेस एक्सप्लोरेशन एजेंसी (JAXA) ने 11 मार्च, 2021 को पृथ्वी अवलोकन, चंद्र सहयोग और उपग्रह नेविगेशन सहित सहयोग की समीक्षा की। मुख्य बिंदु दोनों देशों की अंतरिक्ष एजेंसियों ने “अंतरिक्ष स्थिति संबंधी जागरूकता और पेशेवर विनिमय कार्यक्रम” (Space Situational Awareness and Professional Exchange Programme) में सहयोग के बारे

Month:

DRDO ने AIP (Air Independent Propulsion) टेक्नोलॉजी विकसित की

रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) ने 8 मार्च, 2021 को “एयर इंडिपेंडेंट प्रोपल्शन (AIP)”  का अंतिम विकास परीक्षण किया। आईएनएस करंज पनडुब्बी को भारतीय नौसेना में शामिल किए जाने से एक दिन पहले यह परीक्षण किया गया था। यह एक प्रमुख कदम है जो भारतीय पनडुब्बियों को और अधिक घातक बना देगा। आईएनएस करंज

Month:

DRDO ने सॉलिड फ्यूल डक्टेड रैमजेट का परीक्षण किया

रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) ने 5 मार्च, 2021 को सॉलिड फ्यूल डक्टेड रैमजेट (SFDR) तकनीक का सफल परीक्षण किया। यह परीक्षण ओडिशा के चांदीपुर में एकीकृत परीक्षण रेंज से किया गया। बूस्टर मोटर का उपयोग करके उड़ान परीक्षण के दौरान वायु प्रक्षेपण परिदृश्य को सिमुलेट किया गया था। उसके बाद, नोजल-लेस बूस्टर ने रैमजेट के

Month:

DAC ने तीन सशस्त्र बलों के अधिग्रहण प्रस्तावों को मंजूरी दी

रक्षा अधिग्रहण परिषद (DAC) ने 23 फरवरी, 2021 को 118 अर्जुन मार्क 1A टैंकों के अधिग्रहण को मंजूरी दे दी है। मुख्य बिंदु 6,000 करोड़ की लागत से भारतीय सेना के लिए यह मंजूरी दी गई है। यह कदम रक्षा क्षेत्र में स्वदेशीकरण को बढ़ावा देगा। डीआरडीओ द्वारा विकसित 58 टन वजनी टैंकों के लिए

Month:

VL-SRSAM मिसाइल सिस्टम को सफलतापूर्वक लॉन्च किया गया

रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) ने 22 फरवरी, 2021 को सफलतापूर्वक दो स्वदेशी रूप से डिजाइन और विकसित वर्टिकल लॉन्च शॉर्ट रेंज सरफेस टू एयर मिसाइलों (VL-SRSAM) को लॉन्च किया। मुख्य बिंदु इस मिसाइलों को स्टैटिक वर्टिकल लॉन्चर की मदद से लॉन्च किया गया था। इन्हें ओडिशा तट से दूर इंटीग्रेटेड टेस्ट रेंज, चांदीपुर

Month:

DRDO ने आकाश-एनजी मिसाइल का सफलतापूर्वक परीक्षण किया

रक्षा अनुसंधान व विकास संगठन (DRDO) ने सतह से हवा में मार करने वाली आकाश-एनजी (न्यू जनरेशन) मिसाइल का ओडिशा तट से सफलतापूर्वक परीक्षण किया है। यह मिसाइल हवाई खतरों को रोक सकती है। इस मिसाइल को भारतीय वायु सेना (IAF) रक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने के लिए लॉन्च किया गया है। आकाश-एनजी आकाश-एनजी मध्यम दूरी की

Month:

Advertisement