Indian Economy

आर्थिक सर्वेक्षण 2021 : मुख्य बिंदु

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 29 जनवरी, 2021 को लोकसभा में आर्थिक सर्वेक्षण 2020-21 को पेश किया। मुख्य बिंदु आर्थिक सर्वेक्षण 2021 में पिछले 12 महीनों में भारतीय अर्थव्यवस्था की प्रगति का एक अनुमान प्रस्तुत किया गया। इस सर्वेक्षण में कहा गया है कि वित्तीय वर्ष 2021 की वास्तविक विकास दर -7% थी, जबकि

Month:

आर्थिक सर्वेक्षण 2020-21 को 29 जनवरी को पेश किया जाएगा

29 जनवरी, 2021 को भारत का आर्थिक सर्वेक्षण 2020-21 प्रस्तुत किया जाएगा। इस सर्वेक्षण में यह आकलन किया जाएगा कि भारतीय अर्थव्यवस्था को COVID-19 महामारी ने कैसे प्रभावित किया गया है और इसमें किस प्रकार सुधार हो रहा है। मुख्य बिंदु आर्थिक सर्वेक्षण 2020-21 को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा पेश किया जाएगा। इस वर्ष

Month:

वित्त वर्ष 2021 में जीडीपी में 7.7% की कमी आ सकती है  : NSO

हाल ही में राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (NSO) ने देश के लिए GDP का पहला अग्रिम अनुमान जारी किया है। एनएसओ के अनुमानों के अनुसार, वर्ष 2020-21 में भारत के सकल घरेलू उत्पाद में 7.7% की कमी आएगी। मुख्य बिंदु ब्लूमबर्ग के अनुसार, यह वर्ष 1952 के बाद से जीडीपी में सबसे बड़ा वार्षिक संकुचन होगा। राष्ट्रीय

Month:

विश्व बैंक ने जारी की वैश्विक आर्थिक संभावना रिपोर्ट

हाल ही में विश्व बैंक ने वैश्विक आर्थिक संभावना रिपोर्ट जारी की। रिपोर्ट के मुख्य बिंदु इस रिपोर्ट के अनुसार भारतीय अर्थव्यवस्था 2020-21 में 6% तक संकुचित होगी।भारतीय अर्थव्यवस्था 2021-22 में 5.4 प्रतिशत की रिकवरी करेगी। भारतीय अर्थव्यवस्था में संकुचन मुख्य रूप से घरेलू खर्च और निजी निवेश में तेज गिरावट के कारण होगा। दूसरी ओर,

Month:

भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 581.131 अरब डॉलर के उच्चतम स्तर पर पहुंचा

18 दिसम्बर, 2020 को समाप्त हुए सप्ताह के दौरान भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 2.56 बिलियन  डॉलर की बढ़ोत्तरी के साथ 581.131 अरब डॉलर तक पहुँच गया है, यह भारत के विदेशी मुद्रा भंडार का उच्चतम स्तर है। विश्व में सर्वाधिक विदेशी मुद्रा भंडार वाले देशों की सूची में भारत 5वें स्थान पर है, इस

Month:

मार्च के बाद अब औद्योगिक उत्पादन सूचकांक में सबसे अधिक वृद्धि दर्ज की गयी

इस साल अक्टूबर महीने के लिए देश का औद्योगिक उत्पादन 3.6 प्रतिशत रहा, जो पिछले महीने में 0.5 प्रतिशत था। सांख्यिकी और कार्यक्रम क्रियान्वयन मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार लॉकडाउन के लागू होने के बाद औद्योगिक उत्पादन सूचकांक (IIP) ने अब सबसे अधिक वृद्धि दर्ज की है। आंकड़ों के अनुसार, अक्टूबर में विनिर्माण क्षेत्र के

Month:

4 / 512345

Advertisement