India's GDP Growth

विश्व बैंक ने भारत के GDP पूर्वानुमान को कम किया

वित्त वर्ष 2022-23 के लिए विश्व बैंक ने भारत के सकल घरेलू उत्पाद का अनुमान 8.7% से घटाकर 8% कर दिया है। पूर्वानुमान में बदलाव का कारण बढ़ती मुद्रास्फीति और रूस-यूक्रेन युद्ध के कारण वैश्विक आपूर्ति का प्रभावित होना बताया जा रहा है। मुख्य बिंदु  अफगानिस्तान को छोड़कर दक्षिण एशिया का विकास दृष्टिकोण भी 6.6%

Month:

क्रिसिल (CRISIL) ने भारत के सकल घरेलू उत्पाद (GDP) का अनुमान 11% से घटाकर 9.5% किया

रेटिंग एजेंसी क्रिसिल (CRISIL) ने वित्त वर्ष 2021-2022 के लिए भारत के सकल घरेलू उत्पाद (GDP) के विकास के अनुमान को 11% से घटाकर 9.5% कर दिया है। मुख्य बिंदु इससे स्पष्ट होता है कि दूसरी कोविड -19 लहर ने निजी खपत और निवेश को प्रभावित किया है। इसने स्वतंत्रता के बाद से भारतीय अर्थव्यवस्था

Month:

मई 2021 में GST राजस्व संग्रह 1.02 लाख करोड़ रुपये रहा

मई, 2021 के महीने में कुल मिलाकर जीएसटी राजस्व संग्रह 1.02 लाख करोड़ रुपये रहा, जबकि अप्रैल, 2021 में रिकॉर्ड  1,41,384 करोड़ रुपये का जीएसटी एकत्रित किया गया था। गौरतलब है कि यह लगातार 8वीं बार है जब GST संग्रह का आंकड़ा एक लाख करोड़ रुपये से ऊपर रहा है। पिछले साल मई के मुकाबले

Month:

भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 5.271 अरब डॉलर की वृद्धि के साथ 598.165 अरब डॉलर के सर्वोच्च स्तर पर पहुंचा

28 मई, 2021 को समाप्त हुए सप्ताह के दौरान भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 5.271 अरब डॉलर की वृद्धि के साथ 598.165 अरब डॉलर के सर्वोच्च स्तर पर पहुँच गया है। विश्व में सर्वाधिक विदेशी मुद्रा भंडार वाले देशों की सूची में भारत पांचवे स्थान पर है, इस सूची में चीन पहले स्थान पर है। विदेशी

Month:

SBI ने वित्त 22 के सकल घरेलू उत्पाद के अनुमान को संशोधित कर 7.9% किया

भारतीय स्टेट बैंक के आर्थिक अनुसंधान विभाग ने “इकॉरैप 2021” (Ecowrap 2021) रिपोर्ट प्रकाशित की है और वित्तीय वर्ष 2022 के लिए वास्तविक सकल घरेलू उत्पाद के अनुमान को पहले के 10.4 प्रतिशत से संशोधित कर 7.9 प्रतिशत कर दिया है। इस रिपोर्ट में अर्थव्यवस्था पर कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के बड़े प्रभाव पर प्रकाश

Month:

केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय (CSO) ने भारत का Q4 जीडीपी डेटा जारी किया

केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय (Central Statistics Office – CSO) ने वित्त वर्ष 2020-21 की जनवरी-मार्च तिमाही के लिए भारत के सकल घरेलू उत्पाद (GDP) के आंकड़े जारी किए। इसके अनुसार, दिसंबर तिमाही से भारतीय अर्थव्यवस्था के सकारात्मक क्षेत्र में विस्तार होने की संभावना है। मुख्य बिंदु कोविड -19 की दूसरी लहर से पहले, भारत की जीडीपी 2020-21

Month:

Advertisement